Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'पगड़ी-वर्दी में पंजाब के पुलिसकर्मी ने करवाया धर्मांतरण': BJP नेता ने शेयर किया Video,...

‘पगड़ी-वर्दी में पंजाब के पुलिसकर्मी ने करवाया धर्मांतरण’: BJP नेता ने शेयर किया Video, सफाई- लड़खड़ा रहा था बुजुर्ग, इसलिए प्रार्थना की

रिपोर्ट के मुताबिक, वीडियो सामने आने के बाद पुलिसकर्मी ने माफी माँगते हुए एक वीडियो जारी किया है। उसने कहा है कि बुजुर्ग की तबियत ठीक नहीं थी। इसलिए उसने उसके लिए प्रार्थना की थी। उसने किसी भी तरह से धर्मांतरण की कोशिश नहीं की।

पंजाब के एक पुलिसकर्मी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। भाजपा नेता आरपी सिंह ने यह वीडियो शेयर कर पुलिसकर्मी पर गुरुद्वारे में ईसाई मजहब का प्रचार करने का आरोप लगाया है। साथ ही धर्मांतरण की गतिविधियों पर चुप्पी साधने को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी और प्रकाश सिंह बादल पर भी निशाना साधा है।

भाजपा नेता आरपी सिंह ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर यह वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “ऐसा लगता है कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (SGPC) के अध्यक्ष किसी स्वप्न में खोए रहते हैं। पंजाब पुलिस का एक अधिकारी वर्दी और पगड़ी पहनकर श्री दरबार साहिब अमृतसर के परिसर में ईसाई धर्म का प्रचार कर रहा है। यह व्यक्ति अमृतसर के माहल गाँव में एक चर्च का पादरी बताया जा रहा है।”

उन्होंने आगे लिखा, “मेरा सवाल यह है कि SGOC ईसाई धर्मांतरण के खिलाफ बोलने से क्यों डरता है। क्या यह सुखबीर सिंह बादल के दबाव के चलते हो रहा है। चूँकि, ईसाई पंजाब की आबादी के 20% हैं और वे चुनावी गणित में मायने रखते हैं। इसलिए क्या हम यह मानें कि सब कुछ पहले से तय हो रखा है और ईसाइयों द्वारा हमारे गुरुद्वारों पर कब्जा करने तक का इंतजार करें?”

वायरल वीडियो में पुलिसकर्मी को एक बुजुर्ग के पेट को पकड़े और फिर कुछ बोलकर उसे खींचता हुआ दिखाई दे रहा है। फिर वह बुजुर्ग के सिर पर भी हाथ मार कुछ कहता है। इसके बाद बुजुर्ग पुलिसकर्मी के पैर छूकर आगे बढ़ जाता है। वहीं, वीडियो में आगे बढ़ने पर पुलिसकर्मी दो लड़कों को अपने बगल में खड़ा कर सिर हिलाता हुआ कुछ कहता नजर आ रहा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, वीडियो सामने आने के बाद पुलिसकर्मी ने माफी माँगते हुए एक वीडियो जारी किया है। उसने कहा है कि उक्त वीडियो धर्म सिंह मार्केट का है। बुजुर्ग की तबियत ठीक नहीं थी। इसलिए उसने उसके लिए प्रार्थना की थी। उसने किसी भी तरह से धर्मांतरण की कोशिश नहीं की। सिखों को अपना भाई बताते हुए उसने कहा है कि यदि उसकी प्रार्थना से किसी की भावना को ठेस पहुँची है तो वह माफी माँगता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

2018, 2019, 2023, 2024… साल दर साल ‘ये मोदी सरकार का अंतिम बजट’ कह-कह कर थके संजय झा: जिस कॉन्ग्रेस ने अनुशासनहीन कह कर...

संजय झा ने 2023 के वार्षिक बजट को उबाऊ बताया था और कहा था कि ये 'विनाशकारी' भाजपा को बाय-बाय कहने का समय है, इसे इनका अंतिम बजट रहने दीजिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -