Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजराहुल-प्रियंका का करीबी अल्लू मियां लखनऊ से गिरफ्तार: बिल्डर से मुफ्त माँग रहा था...

राहुल-प्रियंका का करीबी अल्लू मियां लखनऊ से गिरफ्तार: बिल्डर से मुफ्त माँग रहा था पत्नी-बेटे के लिए फ्लैट, नहीं देने पर दी थी धमकी

अल्लू मियां ने शिकायतकर्ता वैभव श्रीवास्तव द्वारा बनवाए जा रहे आपर्टमेंट में दो फ्लैट बेटे और पत्नी के नाम करने को कहा था। जब इसके लिए वैभव और उसका पार्टनर तैयार नहीं हुए तो उन्हें धमकी दी थी। इसके बाद वैभव ने अधिकारियों से शिकायत की।

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा के करीबी कॉन्ग्रेस नेता मोहम्मद रफीक उर्फ अल्लू मियां को कई वारदातों को अंजाम देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार (23 अक्टूबर) रात को वजीरगंज पुलिस ने अल्लू मियां को जमीन कब्जा करने, जालसाजी व रंगदारी माँगने के आरोप में फन मॉल के पास से पकड़ा है। बताया जा रहा है कि अल्लू मियां शनिवार को लखनऊ में प्रियंका गाँधी वाड्रा की कॉन्ग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा में शामिल होने के लिए आया था।

दरअसल, अमेठी के जगदीशपुर के निहालगढ़ के रहने वाले अल्लू मियां, उसकी पत्नी मेहरुनिशा और बेटे आदिल के खिलाफ कैसरबाग के कसाईबाड़ा में रहने वाले वैभव श्रीवास्तव ने 8 मई 2020 को मुकदमा दर्ज कराया था। गिरफ्तारी की पुष्टि इंस्पेक्टर वजीरगंज धनंजय पांडेय ने की है। वैभव ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था, ”उन्होंने अगस्त 2019 में गोमतीनगर के विशालखंड में रहने वाली मंजू रावत से उनका खरगापुर स्थित प्लॉट खरीदा था। वैभव के साथ ही उस प्लॉट में उसका दोस्त माजिन खान भी पार्टनर था।”

वैभव ने शिकायत में आगे बताया, ”माजिन खान और वह प्लॉट पर अपार्टमेंट बनवा रहे थे। इस बीच अल्लू मियां के बेटे आदिल ने दावा किया कि यह प्लॉट उसका है। उसने फर्जी दस्तावेज के माध्यम से किसी से प्लॉट की रजिस्ट्री कराने का दावा किया। इस बात को लेकर उनमें विवाद हुआ था। प्लॉट छोड़ने के लिए उसने रुपए माँगे थे। माँग पूरी न होने पर उसने (अल्लू) धमकी दी थी। वैभव का कहना है कि प्लॉट ममता सहकारी गृह निर्माण समिति का था।”

पुलिस के बताया कि विवाद के बाद कॉन्ग्रेस नेता अल्लू ने दिसंबर 2020 में वैभव को फोन करके समझौते के लिए बुलाया था। वहाँ पर अल्लू ने उन्हें निर्माणाधीन अपार्टमेंट से दो फ्लैट बेटे और पत्नी के नाम करने को कहा था। जब इसके लिए वैभव और उसका पार्टनर तैयार नहीं हुए तो उन्हें धमकी दी थी। इसके बाद वैभव ने अधिकारियों से शिकायत की। अधिकारियों के आदेश पर पूरे मामले की जाँच एसीपी चौक आईपी सिंह को सौंपी गई। मालूम हो कि जाँच में वैभव के सभी आरोप सही पाए गए थे। इसके बाद अल्लू, उसकी पत्नी और बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

अल्लू, उसकी पत्नी और बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। (साभार: दैनिक जागरण)

वजीरगंज पुलिस ने बताया कि अल्लू मियां 5 महीने से फरार चल रहा था। वह शनिवार को प्रियंका गाँधी की प्रतिज्ञा यात्रा में शामिल होने के लिए लखनऊ आया था। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस ने उसे फन मॉल के पास से गिरफ्तार कर लिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चर्च में फायरिंग, यहूदियों के धर्मस्थल को जलाया, पादरी का काटा गला: आतंकी हमले में रूस के 15 पुलिसकर्मियों की मौत, 6 आतंकवादी भी...

रूस में हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, पादरी का सिर कलम कर दिया गया और 25 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं।

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -