Monday, May 16, 2022
Homeदेश-समाजराज ठाकरे के अल्टीमेटम के बाद महाराष्ट्र में भी हटेंगे लाउडस्पीकर, मुंबई की शिवसेना...

राज ठाकरे के अल्टीमेटम के बाद महाराष्ट्र में भी हटेंगे लाउडस्पीकर, मुंबई की शिवसेना मेयर बोलीं- अब कानून हाथ में मत लेना

महाराष्ट्र सरकार धार्मिक जगहों से लाउडस्पीकर हटवाने को मान गई है। लेकिन, साथ में ये भी कहा है कि अगर राज ठाकरे ने आगे कोई भी आपत्तिजनक बात कही तो फिर उनके विरुद्ध कार्रवाई होगी।

महाराष्ट्र में राज ठाकरे द्वारा उद्धव सरकार को लाउडस्पीकर विवाद पर 3 मई तक का अल्टीमेटम दोबारा दिए जाने के बाद ऐलान हुआ है कि राज्य सरकार धार्मिक जगहों से लाउडस्पीकर को हटवा लेगी। लेकिन इसके बाद अगर राज ठाकरे ने कोई भी आपत्तिजनक बात कही तो फिर उनके विरुद्ध कार्रवाई होगी।

शिवसेना की महिला नेता व मुंबई मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा, “मुस्लिम समेत किसी ने कभी हनुमान चालीसा का विरोध नहीं किया। लाउडस्पीकर मंदिर और मस्जिद से हटा लिए जाएँगे। सबसे अपील है कि शांति बना कर रखें। कानून सबके लिए समान है। राज ठाकरे ने अगर अपने भाषणों में कुछ भी आपत्तिजनक किया तो उनके ऊपर कार्रवाई की जाएगी।”

किशोरी पेडनेकर ने मनसे कार्यकर्ताओं से कहा, “अगर मनसे कार्यकर्ताओं ने कानून अपने हाथ में लिया तो उनकी सारी जिंदगी कोर्ट के चक्कर काटने में जाएगी। राज ठाकरे के कारण मंदिरों से भी लाउडस्पीकर हटाए जा रहे हैं। गाँव के कई लोग मंदिरों से दूर होते हैं इसलिए वहाँ लाउडस्पीकर लगते थे मगर अब उन्हें भी हटाएँगे। राज ठाकरे की यह हरकत हिंदू विरोधी है। लाउडस्पीकर का प्रयोग ध्वनि प्रदूषण नियम के मुताबिक किया जाएगा”

राज ठाकरे ने दिया था अल्टीमेटम

गौरतलब है कि इससे पहले राज ठाकरे ने एक बार फिर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटवाने के लिए उद्धव सरकार को अल्टीमेटम दिया था। उन्होंने कहा था, “ईद 3 मई की है। मैं किसी का त्योहार नहीं खराब करना चाहता हूँ। लेकिन हम ये सब बातें 4 मई के बाद नहीं सुनेंगे। अगर हमारी माँग नहीं पूरी होती तो हम हनुमान चालीसा बजाएँगे वो भी दुगनी क्षमता के साथ। अगर आपको हमारे अनुरोध करने का ढंग नहीं पसंद आ रहा है तो हम आपसे अपने ढंग से निपटेंगे। मैं 4 मई के बाद चुप नहीं बैठूँगा। अगर लाउडस्पीकर नहीं हटा न, तब मैं तुमको महाराष्ट्र की ताकत दिखाऊँगा।”

राज ठाकरे ने औरंगाबाद में रैली के दौरान उद्धव सरकार को चेतावनी दी थी, “अगर तुम माँग को नहीं सुनते तो हम जिम्मेदार नहीं होंगे उन चीजों के लिए जो महाराष्ट्र में होंगी। मैं दोहराता हूँ ये मजहबी नहीं सामाजिक मुद्दा है। लेकिन तुम इसे मजहबी बना रहे हो। हम इसी भाषा में जवाब देंगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe