Wednesday, August 10, 2022
Homeदेश-समाजजुम्मा दे रहा था ऑर्डर, कटने वाला था पुजारी का गला... 'सिख' होने की...

जुम्मा दे रहा था ऑर्डर, कटने वाला था पुजारी का गला… ‘सिख’ होने की बात पता चली तो केश काट बख्श दी जान: राजस्थान के अलवर की घटना

"वे लोग मेरी गर्दन काटने की बात कर रहे थे। मैंने घबराकर कहा कि मुझे क्यों मार रहे हो? मैं तो गुरुद्वारे का पुजारी हूँ। तब उन्होंने किसी जुम्मा नाम के व्यक्ति को फोन किया। उसे बताया कि ये तो गुरुद्वारा का पुजारी है।"

राजस्थान के अलवर में गुरुवार (21 जुलाई 2022) की रात एक व्यक्ति को कुछ लोगों ने घेर लिया। इरादा हत्या करने की थी। लेकिन जब हमलावरों को पता चला कि उन्होंने जिसे घेरा है वह ‘सिख’ है तो जान बख्श दी। फरार होने से पहले हमलावरों ने पीड़ित सिख के केश काट दिए और आँखों में मिर्ची डाल दी।

पीड़ित सिख की पहचान गुरुबख्श सिंह के तौर पर हुई है। वे एक गुरुद्वारे में ग्रंथी हैं। कहा जा रहा है कि उन्हें पुजारी समझकर घेरा गया था। कथित तौर पर हमलावरों को फोन पर कोई जुम्मा ऑर्डर दे रहा था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना अलवर के रामगढ़ इलाके की है। मिलकपुर गाँव के ग्रंथी गुरुबख्श सिंह दवा लेने बाइक से बाजार जा रहे थे। रास्ते में कुछ अज्ञात लोगों ने उन्हें रोक लिया। बाइक रोकते ही हमलारों ने गुरबख्श को एक तरफ खींच लिया और उन्हें पीटने लगे। आँखों में मिर्ची झोंक हमलावर उनकी गर्दन काटने की बात करने लगे।

गुरबख्श सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया, “वे लोग मेरी गर्दन काटने की बात कर रहे थे। मैंने घबराकर कहा कि मुझे क्यों मार रहे हो? मैं तो गुरुद्वारे का पुजारी हूँ। तब उन्होंने किसी जुम्मा नाम के व्यक्ति को फोन किया। उसे बताया कि ये तो गुरुद्वारा का पुजारी है।” सिंह के अनुसार जुम्मा से बात होने के बाद हमलावरों ने आपस में बात करते हुए कहा कि गुरुद्वारे का आदमी है तो इसके केश ही काट दो। वही बहुत है। इसके बाद हमलावर उन्हें धमकाते हुए फरार हो गए। पीड़ित के मुताबिक हमलावरों की संख्या 5 थी।

इस घटना की जानकारी होने के बाद सिख समाज के लोग आक्रोशित हो गए। उन्होंने रात में ही थाने पर पहुँच कर कार्रवाई की माँग की। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अलवर के DM और SP रात में ही थाने पहुँच गए। उन्होंने नाराज लोगों को समझाया और हमलावरों की जल्द गिरफ्तारी कर कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया। गौरतलब है कि 28 जून 2022 को राजस्थान के ही उदयपुर में मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने कन्हैया लाल का गला काट डाला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जजों से जुड़ी सूचनाओं पर न्यायपालिका का पहराः हाई कोर्ट ने खुद याचिका दायर करवाई, फिर सुनवाई कर खुद को ही दे दी राहत

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने केंद्रीय सूचना आयोग के उस आदेश पर रोक लगा दी है, जिसमें जजों के खिलाफ आई शिकायतों के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा गया था।

जिस पालघर में पीट-पीटकर हुई थी साधुओं की हत्या, वहाँ अब ST महिला के घर में घुसे ईसाई मिशनरी के एजेंट: धर्मांतरण का बना...

महाराष्ट्र के पालघर में ईसाई मिशनरी के एजेंटों ने एक वनवासी महिला के घर में घुस कर उसके ऊपर धर्मांतरण का दबाव बनाया। जब वो नहीं मानी तो इन लोगों ने उसे धमकियाँ दीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,697FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe