Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजजोधपुर में फिर चले पत्थर, 2 मई को भी हुई थी CM गहलोत के...

जोधपुर में फिर चले पत्थर, 2 मई को भी हुई थी CM गहलोत के गृह जिले में अल्लाह-हू-अकबर के नारों के साथ हिंसा: भारी पुलिस बल तैनात

दो मई को हुई हिंसा के बाद सीसीटीवी फुटेज की पड़तान से पता चला था कि यह पूरी प्लानिंग के साथ किया गया था। हिंसा से पहले दंगाइयों ने मोहल्ले में की रेकी की थी। उसके बाद तलवार, सरिया, लाठी और तेजाब की बोतलें लेकर आए और हमला किया।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर (Jodhpur) में फिर से सांप्रदायिक हिंसा की घटना हुई है। तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। साथ ही दो मई से लागू धारा 144 को जारी रखने का फैसला किया गया है। हालाँकि पुलिस का कहना है कि यह सांप्रदायिक घटना नहीं।

रिपोर्ट के अनुसार झगड़ा झुड़ाने आए दो युवकों की पिटाई के बाद मंगलवार (7 जून 2022) शाम को तनाव पैदा हो गया है। इस दौरान जमकर पथराव हुआ। यह घटना अतिसंवेदनशील माने जाने वाली सूरसागर के रॉयल्टी के पास हुई। तनाव इतना बढ़ा गया कि पाँच थानों की पुलिस को मोर्चा सँभालना पड़ा। इस मामले में अभी तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दो युवकों के घायल होने की खबर है। फिलहाल स्थिति को नियंत्रित करने के लिए मौके पर 300 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। इलाके में धारा 144 लगा दी गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दो युवकों के बीच विवाद बाइक पार्किंग को लेकर शुरू हुआ था। मामला धीरे-धीरे इतना बढ़ गया कि वहाँ पर ईंट-पत्थर चलने लगे। इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। इसमें मौके पर पहुँचे एक पुलिस वाले को आपस में झगड़ते युवकों को छुड़ाते हुए देखा जा सकता है, जिसके बाद दोनों ही समुदाय के लोग बाहर आए। पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों से शांति कायम करने की अपील की है।

गौरतलब है कि इससे पहले 2 मई को (ईद के मौके पर) भी जोधपुर में अल्लाह-हू-अकबर के नारों के साथ हिंसा हुई थी। स्वतंत्रता सेनानी बिस्सा जी की प्रतिमा पर कट्टरपंथी मुस्लिम इस्लामी झंडे लगा रहे थे। इसका विरोध किए जाने के बाद हिंसा भड़क उठी थी। जोधपुर के जिन पाँच इलाकों में दंगाइयों ने उत्पात मचाया था, जब वहाँ लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया तो पता चला कि ये सब पहले से योजनाबद्ध था। सोनारो का बास मोहल्ले में एक घर के बाहर लगे सीसीटीवी से पता चला था कि पहले दंगाइयों ने मोहल्ले में आकर वहाँ के हालात की रेकी की थी। उसके बाद दंगाइयों की भीड़ तलवार, सरिया, लाठी और तेजाब की बोतलें लेकर वहाँ आए और हमला किया। इस दौरान लोगों के घरों पर तेजाब भी फेंका गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -