Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाज'श्री राम' लिखे भगवा ध्वज को भीड़ के सामने राजस्थान के विधायक रामकेश मीणा...

‘श्री राम’ लिखे भगवा ध्वज को भीड़ के सामने राजस्थान के विधायक रामकेश मीणा ने फाड़ डाला: वीडियो वायरल

राजस्थान में जिस आमागढ़ किले में 'श्री राम' लिखे भगवा ध्वज को विधायक ने फाड़ डाला, इसी किले में कुछ दिन पहले ही भगवान शिव की मूर्तियों को भी तोड़ दिया गया था।

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कॉन्ग्रेस सरकार में हिंदू भावनाओं को कुचलने की कोशिश करने का एक औऱ मामला सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के आमागढ़ किले में निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा ने ‘श्री राम’ लिखे हुए भगवा ध्वज को फाड़ कर फेंक दिया।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में स्पष्ट तौर पर देखा जा सकता है कि लोगों की भारी भीड़ आमागढ़ किले पर लहरा रहे भगवा ध्वज को पहले उतारती है और उसके बाद उसे फाड़ दिया जाता है। इसको लेकर हिंदू संगठनों में आक्रोश है।

यह कोई पहली बार नहीं है जब कॉन्ग्रेस शासित राजस्थान में हिंदुओं की भावनाओं को पैरों तले रौंदने की कोशिश की गई। इससे पहले आमागढ़ के किले में ही कुछ दिन पहले भगवान शिव की मूर्तियों को भी तोड़ दिया गया था। हालाँकि, उस मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपितों को गिरफ्तार भी किया गया था।

इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राहुल और प्रियंका गाँधी की अगुवाई में उनके पार्टी के गुंडे पूरे राजस्थान में हिंदुओं को अपमानित कर रहे हैं। त्रिपाठी ने ट्वीट किया, “राहुल और प्रियंका जी आपके गुंडों की अगुवाई में समूचे राजस्थान में हो रहा हिंदुओं का ये महाअपमान ही कॉन्ग्रेस के ताबूत में आखिरी कील बनेगा, तुष्टीकरण में अंधी कॉन्ग्रेस की तरफ से भगवा ध्वज पर चली हर ईंट का जवाब पत्थर से मिलेगा इंतजार करिए, जय जय श्रीराम !!”

वहीं यूट्यूब चैनल ‘द अर्बन हिंदू’ ने भी इस वीडियो को अपलोड किया है।

वीडियो के बैकग्राउंड में लोगों को यह कहते देखा जा सकता है किभाई साहब ये तो गलत है, ये हिन्दुत्व के खिलाफ है। भीड़ में से एक कहता सुनाई दे रहा कि वो कितनी मेहनत करके इस भगवा ध्वज को यहाँ पर लगाया था और लोग इसे उखाड़ रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe