Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजCM गहलोत से मिलना था… राजस्थान पुलिस ने लाठियाँ भांजी: पुलवामा के बलिदानियों की...

CM गहलोत से मिलना था… राजस्थान पुलिस ने लाठियाँ भांजी: पुलवामा के बलिदानियों की विधवाओं से बदसलूकी पर NCW ने लिया संज्ञान, जाँच के आदेश

भाजपा नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने मंजू लाम्बा का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “मुख्यमंत्री से मिलने जा रही पुलवामा के बलिदानी रोहिताश लांबा जी की पत्नी को कॉन्ग्रेस की राजस्थान सरकार की पुलिस ने लाठियाँ से पीटा। इस बिलखती वीरांगना के आँसू आपको सोने देंगे अशोक गहलोत जी?”

पुलवामा आतंकी हमले के बलिदानियों की विधवाएँ पिछले कई दिनों से जयपुर में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं। बलिदानियों के परिजनों ने राजस्थान पुलिस पर उनके साथ बदसलूकी करने और उन्हें प्रताड़ित करने का आरोप भी लगाया है। राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने अब इस पर संज्ञान लिया है। उन्होंने गुरुवार (9 मार्च 2023) को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने राजस्थान के डीजीपी को पत्र लिखकर उन्हें व्यक्तिगत रूप से इस मामले को देखने को कहा है। इसके साथ ही पुलिस अधिकारियों के खिलाफ महिलाओं द्वारा लगाए गए दुर्व्यवहार और मारपीट के आरोपों की जाँच करने का आदेश भी दिया है। आयोग ने इस मामले में विस्तृत एटीआर से एनसीडब्ल्यू को अवगत कराने को भी कहा है।

दरअसल, पुलवामा के बलिदानियों की विधवाओं का कहना है कि गाँधी परिवार से कोई व्यक्ति उनसे आकर मिले और उनकी बात सुने। तभी राजस्थान सरकार उनकी माँगों पर ध्यान देगी। जयपुर में राजस्थान कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट के घर के बाहर ये धरना प्रदर्शन चल रहा है। उनका कहना है कि सचिन पायलट ने उन्हें गाँधी परिवार के किसी नेता से मिलाने का वादा किया था, लेकिन फिर वो दिल्ली चले गए। होली के दिन भी महिलाएँ वहाँ डटी रहीं।

भाजपा नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने मंजू लाम्बा का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “मुख्यमंत्री से मिलने जा रही पुलवामा के बलिदानी रोहिताश लांबा जी की पत्नी को कॉन्ग्रेस की राजस्थान सरकार की पुलिस ने लाठियाँ से पीटा। इस बिलखती वीरांगना के आँसू आपको सोने देंगे अशोक गहलोत जी?”

इन ‘वीरांगनाओं’ के साथ-साथ भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा भी धरना स्थल पर डटे रहे। किरोड़ी लाल मीणा ने 4 मार्च को अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें पुलिसककर्मियों को पुलवामा हमले में जान गँवाने वाले तीन बलिदानियों की विधवाओं को घसीटते हुए और उसके साथ मारपीट करते हुए देखा गया था।

बता दें कि राजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस धरने पर बोलते हुए कहा था कि जो माँग बलिदानियों की पत्नियों द्वारा की जा रही है, उसका प्रावधान ही नहीं है। जमीन और नौकरी के वादे राज्य सरकार द्वारा पहले ही पूरे किए जा चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

‘हरियाणा से समझौता करो’: दिल्ली में जल संकट पर लड़ रहे I.N.D.I. गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस और AAP, सुप्रीम कोर्ट में अपने कहे से...

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा है कि हिमाचल के पास जितना 'एक्स्ट्रा' पानी है, वो दिल्ली ही नहीं किसी भी अन्य राज्य को देने को तैयार हैं, लेकिन पहले दिल्ली सरकार हरियाणा के साथ सहमति बनाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -