Thursday, July 7, 2022
Homeदेश-समाजहिंदूवादी नेता भरत वैष्णव हत्याकांड मामले में रशीद खान और अमजद सैयद गिरफ्तार, गोली...

हिंदूवादी नेता भरत वैष्णव हत्याकांड मामले में रशीद खान और अमजद सैयद गिरफ्तार, गोली और तलवार से की थी हत्या

रशीद लँगड़ा और इराक खान को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस की पूछताछ में हत्याकांड की साजिश और कारण के बारे में खुलासा हुआ। थाना अधिकारी ने बताया कि आरोपितों ने धोखे से मृतक भरत वैष्णव को देवली के जंगल में बुलाया और फिर वहाँ पर बाकी साथियों के साथ मिलकर गोलियों से भून डाला। इतना ही नहीं, उनके ऊपर तलवार से भी वार किया गया।

राजस्थान के हिंदूवादी नेता भरत वैष्णव की हत्याकांड मामले में दो और आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। छोटी सादड़ी थाना अधिकारी रविंद्र प्रताप सिंह ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि आरोपित रशीद खान और अमजद सैयद को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों के पास से पिस्टल, टोपीदार बंदूक और बाइक बरामद की गई। इससे पहले पुलिस ने हत्याकांड मामले में आरोपित रशीद लँगड़ा और इराक खान को गिरफ्तार किया था। शुरुआती पूछताछ में हत्या का कारण पैसों का लेनदेन सामने आया है।

रशीद लँगड़ा और इराक खान को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस की पूछताछ में हत्याकांड की साजिश और कारण के बारे में खुलासा हुआ। थाना अधिकारी रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि आरोपितों ने धोखे से मृतक भरत वैष्णव को देवली के जंगल में बुलाया और फिर वहाँ पर बाकी साथियों के साथ मिलकर गोलियों से भून डाला। इतना ही नहीं, उनके ऊपर तलवार से भी वार किया गया।

इस दौरान उनके एक अन्य साथी किशनदास को भी आरोपितों ने मारने की कोशिश की, लेकिन वो वहाँ से भागने में सफल रहे। किशनदास ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि भरत, उनके साढू का लड़का है। जब वो भरत के साथ जंगल में गए थे, तो आरोपित ने उन दोनों के ऊपर फायरिंग कर दी। भरत वहीं पर गिर गए और किशनदास के बाएँ हाथ पर बंदूक के छर्रे लगे। किशनदास ने वहाँ से भागने की कोशिश की तो रशीद तलवार लेकर उनके पीछे दौड़ा।

घटना 27 मई 2020 की है। आरोपित रशीद लँगड़ा ने बताया कि उसके पास शंकर जाट के 6-7 लाख रुपए बकाया थे। वो उसे देने में आना-कानी कर रहा था। इसके बाद शंकरन ने रशीद लँगड़ा से पैसे निकलवाने के लिए भरत वैष्णव को कहा। रशीद के मुताबिक इसके बाद भरत ने उसे धमकी दी कि वो शंकर के पैसे लौटा दे, वरना अंजाम बुरा होगा। रशीद का कहना था कि भरत ने शंकर से 2 लाख की सुपारी ली थी, तो उसने भी उसे 2 लाख रुपए लेकर मामला रफा-दफा करने के लिए कहा। भरत इसके लिए तैयार हो गए। मगर रशीद के पास पैसे नहीं थे देने के लिए।

इसके बाद उसने अपने साले अमजद को इस परेशानी के बारे में बताया। अमजद ने उसकी बात रशीद खान से करवाई। रशीद खान ने उससे कहा कि वो भरत को जंगल में अकेले बुला ले, वहीं पर उसे निपटा देंगे। रशीद लँगड़ा ने भरत से गीता की कसम खिलवाई और खुद कुरान की कसम खाकर अकेले मिलने का तय किया। उसने भरत को साटोला में आने को कहा। वहाँ से उसने साले अमजद को भरत को लाने भेजा। 

रशीद लँगड़ा, रशीद खान, सत्तार, इराक और गफूर खाँ वहीं पर खड़े रहे। अमजद ने भरत और उनके साथी को जंगल में लाकर बैठा दिया। इसके बाद रशीद लँगड़ा ने भरत को बातों मेंं लगाया और रशीद खान ने उस पर गोली चला दी। इतना ही नहीं, जब भरत तड़प रहे थे, तो रशीद लँगड़ा ने उनके गर्दन में यह कहते हुए तलवार घोंप दी कि उन्होंने उसे बहुत परेशान किया। इसके बाद सभी आरोपित वहाँ से फरार हो गए। आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 307, 34 के साथ ही आर्म्स एक्ट 3/25, 25 के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। पुलिस शेष आरोपितों की तलाश कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उड़न परी’ PT उषा, कलम के जादूगर राजामौली के पिता, संगीत के मास्टर इलैयाराजा, जैन विद्वान हेगड़े: राज्यसभा के लिए 4 नाम, PM मोदी...

पीटी उषा, विजयेंद्र गारू, इलैयाराजा और वीरेंद्र हेगड़े को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर पीएम मोदी ने इन सभी को प्रेरणास्त्रोत बताया है।

‘आर्यभट्ट पर कोई फिल्म नहीं, उन्होंने मुगलों पर बनाई मूवी’: बोले फिल्म ‘रॉकेट्री’ के डायरेक्टर आर माधवन – नंबी का योगदान किसी को नहीं...

"आर्यभट्ट पर कोई फिल्म नहीं बनाना चाहता था। इसके बजाय, उन्होंने मुगल-ए-आज़म बनाया... रॉकेट्री: नांबी इफेक्ट अभी शुरुआत है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,216FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe