Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजशादीशुदा इमरान अंसारी ने जैन लड़की का किया अपहरण, कई बार रेप: अजमेर दरगाह...

शादीशुदा इमरान अंसारी ने जैन लड़की का किया अपहरण, कई बार रेप: अजमेर दरगाह ले जा कर पहनाई ताबीज, पुलिस ने दबोचा

पीड़िता ने बताया कि आरोपित को धमकाया कि अगर उसने शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाए तो वो उसके भाई को मार डालेगा।

गुजरात में हाल ही में संशोधित हुए ‘धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021’ के तहत दूसरा मामला सामने आया है। एक शादीशुदा व्यक्ति को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है, जिस पर अपहरण और बलात्कार के अलावा जबरन इस्लामी धर्मांतरण के भी आरोप हैं। दक्षिणी गुजरात के वलसाड पुलिस ने ये कार्रवाई की है। आरोप है कि उसने 19 साल की एक युवती का अपहरण और बलात्कार किया। आरोपित का नाम इमरान अंसारी है।

इमरान मूल रूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। एक जैन लड़की के साथ उसने दोस्ती शुरू की, जो बाद में प्यार में बदल गई। फिर उसने धोखा देकर उस लड़की का अपहरण किया। वो पहले उसे राजस्थान के अजमेर लेकर गया और फिर मध्य प्रदेश का इंदौर लेकर चला गया। अजमेर में वो उसे लेकर दरगाह पर भी गया, जहाँ उसने पीड़िता को एक ताबीज़ पहनने के लिए दिया। फिर उसे पीड़िता को इंदौर चॉल में रखा हुआ था।

‘न्यूज़ 18 गुजराती’ की खबर के अनुसार, उसने इस दौरान पीड़िता को बार-बार अपने साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए मजबूर किया। कई बार जबरन शारीरिक सम्बन्ध बनाने के बाद उसने पीड़िता का जबरन इस्लामी धर्मांतरण भी कराने की कोशिश की, ताकि निकाह के लिए मजबूर कर सके। बाद में पता चला कि वो शादीशुदा है और उसने शादी की गली रात को ही अपनी बीवी को बताया था कि वो एक जैन लड़की के साथ रिलेशनशिप में है।

पुलिस को आशंका है कि इमरान अंसारी जो कुछ कर रहा था, उस बारे में उसकी पत्नी को सब पता था और उसने इसकी मौन सहमति भी दे रखी थी। पीड़िता जून 10, 2021 को अपने घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने इसके बाद गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। दोनों का मेडिकल टेस्ट कराया गया है। आरोपित की शादी जनवरी में ही हुई है। पीड़िता ने बताया कि आरोपित ने उसे धमकाया कि अगर उसने शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाए तो वो उसके भाई को मार डालेगा।

पुलिस ने बताया कि वो इस बात का पता लगा रहे हैं कि उसने पीड़िता के साथ निकाह किया है या नहीं। वो ताबीज के लिए उसे एक मौलवी के पास लेकर भी गया था। उस ताबीज को जबरन पीड़िता के गले बाँध दिया गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe