Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाज57 साल का रशीद और 35 साल का अनीस; 17 साल की लड़की को...

57 साल का रशीद और 35 साल का अनीस; 17 साल की लड़की को बनाकर रखा बंधक… छपरा वाली आंटी छोड़ गई थीं आगरा में

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हिन्दू संगठनों ने इस मामले को लव जिहाद बताते हुए आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। बताया जा रहा है कि बिहार के छपरा की रहने वाली एक महिला पीड़िता को स्टेशन पर छोड़ कर गई थी।

उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra, Uttar Pradesh) में पुलिस ने बंधक बनाकर रखी गई एक नाबालिग लड़की को मुक्त करवाया है। इस मामले में पुलिस ने रशीद और अनीस नाम के 2 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपित पीड़िता को आगरा जंक्शन रेलवे स्टेशन से बहला-फुसला कर साथ लाए थे। हिन्दू संगठनों ने इस मामले को लव जिहाद बताते हुए आरोपितों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की माँग की है।

मामला आगरा के थाना क्षेत्र नाई की मंडी का है। इस मामले में वादी खुद पुलिस बनी है। शिकायत दर्ज कराने वाली महिला सब-इंस्पेक्टर किरण रावत ने बताया कि गुरुवार (27 जुलाई 2023) को अपने साथी सिपाहियों के साथ ड्यूटी पर थीं। इस दौरान एक मुखबिर ने उन्हें नाला चूनपचान इलाके में एक नाबालिग लड़की के बंधक होने की सूचना दी।

जिस घर में लड़की के बंधक होने की सूचना मिली वह रशीद नाम के व्यक्ति का था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस जब रशीद के घर पहुँची तो वहाँ गैलरी में 2 लोग बैठे दिखे। पुलिस को देखते ही दोनों भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने दौड़ा कर दोनों को पकड़ लिया। इसमें से एक आरोपित रशीद था जिसकी उम्र लगभग 57 साल है। गिरफ्तार किए गए दूसरे आरोपित अनीस की उम्र लगभग 35 साल है।

जब दोनों से भागने की वजह पूछी गई तो उन्होंने नाबालिग लड़की को बंधक बनाने की बात कबूली। दोनों ने बताया कि वो पीड़िता को आगरा कैंट स्टेशन से अपने साथ लाए थे। पुलिस दोनों आरोपितों को लेकर उनके घर पहुँची तो बाहर से कुण्डी लगी मिली। दरवाजे को खोला गया तो अंदर लगभग 17 वर्षीय एक लड़की मिली। लड़की ने दोनों आरोपितों द्वारा खुद को आगरा कैंट जंक्शन से बहला-फुसला कर लाने की जानकारी दी।

पुलिस ने बताया है कि लड़की अपने नाम के अलावा बाकी कुछ नहीं बता पा रही थी। लड़की को हिम्मत दी गई और उसे मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया। पकड़े जाने पर रशीद और अनीस माफ़ी माँगने लगे। दोनों पर IPC की धारा 342, 363 और 366 के तहत FIR दर्ज कर ली गई है और जेल भेज दिया गया है। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हिन्दू संगठनों ने इस मामले को लव जिहाद बताते हुए आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। बताया जा रहा है कि बिहार के छपरा की रहने वाली एक महिला पीड़िता को स्टेशन पर छोड़ कर गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -