Sunday, June 26, 2022
Homeदेश-समाजरजनू खान ने हमला कर 2 पुलिस वालों को घायल किया, लहराए धारदार हथियार...

रजनू खान ने हमला कर 2 पुलिस वालों को घायल किया, लहराए धारदार हथियार और बरसाए पत्थर: अब बताया जा रहा ‘मानसिक बीमार’

हमलावर को स्थानीय लोगों और पुलिस ने मिल कर काबू किया। स्थानीय लोगों ने रजनू खान की पिटाई भी की। पकड़े जाने पर वो खुद को किसी के द्वारा मृत्युदंड दिए जाने की बात कह रहा था।

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में 2 पुलिसकर्मियों पर धारदार हथियार से हमला किया गया है। इस हमले में एक पुलिसकर्मी की गर्दन को निशाना बनाया गया। घायल पुलिसकर्मी को बचाने दौड़े दूसरे सिपाही को भी हमलावर ने बाँका (धारदार हथियार) मार कर घायल कर दिया। हमलावर का नाम रजनू खान है। घटना 28 मई, 2022 (शनिवार) की है।

कुशीनगर पुलिस के एडिशनल एस पी के मुताबिक, “पुलिस लाइन कुशीनगर में तैनात कॉन्स्टेबल मासूम अली एक बयान देने CO ऑफिस गए थे। वापस लौटते समय खड्डा बाजार के सुभाष चौक पर एक व्यक्ति द्वारा उन पर धारदार हथियार से हमला किया गया। घायल सिपाही को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया। आरोपित को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में उसने अपना नाम रजनू खान (S/o जैसू खान) बताया है।” बताया जा रहा है कि हालत गंभीर होने के चलते घायल पुलिसकर्मी मासूम अली को गोरखपुर रेफर कर दिया गया है।

ASP कुशीनगर रितेश कुमार सिंह के मुताबिक, “हमलावर ने अपना पता सुल्तानपुर जिले के थाना कूरेभार में आने वाले गाँव धर्मदासपुर बताया है। आरोपित पिछले डेढ़ महीने से खड्डा में बन रही कचहरी परिसर में मजदूर के तौर पर काम कर रहा था। आरोपित प्रथम दृष्टया मानसिक रूप से अस्वस्थ लग रहा है। आरोपित को कस्टडी में लेने के दौरान कॉन्स्टेबल प्रेम नारायण को भी हल्की चोटें आईं हैं। उन्हें भी इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। मामले में जरूरी कानूनी कार्रवाई की जा रही है।’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमलावर को स्थानीय लोगों और पुलिस ने मिल कर काबू किया। स्थानीय लोगों ने रजनू खान की पिटाई भी की। मौके पर पहुँचे DSP संदीप वर्मा ने बताया, “प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, हमलावर अकेला था। पकड़े जाने पर वो खुद को किसी के द्वारा मृत्युदंड दिए जाने की बात कह रहा था। फ़िलहाल आरोपित विक्षिप्त लग रहा है लेकिन बाकी तथ्य जाँच में सामने आएँगे।” वीडियो में रजनू खान को पकड़ने के लिए कई पुलिस वालों को मशक्कत करते देखा जा सकता है।

एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, “मेरी दुकान बगल में ही है। मेरी दुकान के बगल से ही हमलावर निकल कर गया। पुलिसकर्मी बस की प्रतीक्षा करते हुए खीरा खरीद कर खा रहे थे। उन्होंने किसी को कुछ नहीं कहा। तभी हमलावर ने आ कर पुलिसकर्मियों को अपशब्द कहे। बाद में धारदार हथियार से पुलिसकर्मी के गले पर वार कर दिया। जब पुलिसकर्मी गिर पड़ा तब वो हथियार लहराने लगा। लोगों में भगदड़ मच गई। बाद में बाकी पुलिस बल आया। तब हमलावर पत्थरबाजी करने लगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत जल्द बनेगा $30 ट्रिलियन की इकोनॉमी’ : देश का मजाक उड़वाने के लिए NDTV ने पीयूष गोयल के बयान से की छेड़छाड़, पोल...

एनडीटीवी ने झूठ बोलकर पाठकों को भ्रमित करने का काम अभी बंद नहीं किया है। हाल में इस चैनल ने भाजपा नेता पीयूष गोयल के बयान को तोड़-मरोड़ के पेश किया।

’47 साल पहले हुआ था लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास’: जर्मनी में PM मोदी ने याद दिलाया आपातकाल, कहा – ये इतिहास पर काला...

"आज भारत हर महीनें औसतन 500 से अधिक आधुनिक रेलवे कोच बना रहा है। आज भारत हर महीने औसतन 18 लाख घरों को पाइप वॉटर सप्लाई से जोड़ रहा है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe