Friday, January 22, 2021
Home देश-समाज भारतीय थलसेना का पुनर्गठन: कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रिन और इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप

भारतीय थलसेना का पुनर्गठन: कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रिन और इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप

थलसेना के पुनर्गठन की योजना में सबसे महत्वपूर्ण घटक है इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप जो कि पाकिस्तान के विरुद्ध भारत की ‘कोल्ड स्टार्ट’ कही जाने वाली युद्धनीति का एक अंग है।

गत वर्ष (अक्टूबर 9-15, 2018) में हुई आर्मी कमांडर्स कॉन्फरेंस में भारतीय थलसेना के पुनर्गठन संबंधी चार अध्ययन रिपोर्ट प्रस्तुत की गईं जिन पर पर गहन विमर्श हुआ। थलसेना के पुनर्गठन और बदलते सामरिक परिवेश के अनुसार अत्याधुनिक ढाँचे में ढालने के लिए जनरल बिपिन रावत ने एक-एक लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारी की अध्यक्षता में 25-25 सदस्यों वाली चार अध्ययन समितियाँ बनाई थीं जिन्हें अपनी रिपोर्ट सौंपनी थी।

पहली रिपोर्ट भारतीय थलसेना को पुर्नसंगठित कर उसके आकार को छोटा किंतु अधिक मारक बनाने पर केंद्रित है। दूसरी अध्ययन रिपोर्ट सेना मुख्यालय के पुनर्गठन पर केंद्रित है। तीसरी रिपोर्ट अधिकारियों के कैडर रिव्यु और चौथी रिपोर्ट सेना को जवान और स्वस्थ रखने तथा मनोबल बढ़ाने के उपायों पर केंद्रित है। यह चारों रिपोर्ट जनरल रावत और रक्षा मंत्रालय को सौंप दी गई हैं। यदि इनपर अमल किया जाता है तो विगत 35 वर्षों में किया गया यह सबसे महत्वपूर्ण सैन्य सुधार होगा।

थलसेना के पुनर्गठन की योजना में सबसे महत्वपूर्ण घटक है इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप जो कि पाकिस्तान के विरुद्ध भारत की ‘कोल्ड स्टार्ट’ कही जाने वाली युद्धनीति का एक अंग है। कोल्ड स्टार्ट की अवधारणा तब बलवती हुई थी जब सन 2001 में पाकिस्तानी आतंकियों ने संसद पर हमला किया था। तब भारत ने प्रतिक्रियात्मक कार्यवाही में ऑपरेशन पराक्रम आरंभ किया था। ऑपरेशन पराक्रम के दौरान हमें अपनी स्ट्राइक कोर की कमियाँ दिखाई पड़ी थीं।

दरअसल 1971 के पश्चात भारत ने पाकिस्तान और चीन के विरुद्ध दो मोर्चों पर एक साथ युद्ध छिड़ने पर ‘strike-hold-strike’ की रणनीति अपनाई थी। इस नीति के अंतर्गत हम पहले पाकिस्तान पर हमला करते किंतु उस दौरान चीन के प्रति रक्षात्मक रहते। पाकिस्तान पर तीव्रता से हमला करने के साथ ही हम उत्तर-पूर्वी मोर्चे पर चीन को रोककर रखते। पाकिस्तान को नियंत्रण में लेने के बाद हम चीन पर हमलावर होते।

इस रणनीति के लिए भारतीय सेना ने दो प्रकार की कोर बनाई थी: स्ट्राइक और होल्डिंग कोर। स्ट्राइक कोर तुरंत हमला करने के लिए और होल्डिंग कोर रक्षात्मक प्रतिक्रिया के लिए थी। एक कोर में लगभग 50-60,000 सैनिक होते हैं। एक कोर में प्रायः तीन डिवीज़न, एक डिवीज़न में तीन ब्रिगेड तथा प्रत्येक ब्रिगेड में 3 बटालियनें होती हैं। सैनिकों की संख्या न्यूनाधिक हो सकती है लेकिन भारतीय थलसेना में बल की संरचना मोटे तौर पर इसी प्रकार की होती है।

कारगिल की लड़ाई और सन 2001-02 के बीच हुए ऑपरेशन पराक्रम में जब हमने सेना को सीमा पर मोबिलाइज़ करना प्रारंभ किया तो उस प्रक्रिया में आवश्यकता से अधिक समय लगा। तब हमें अपनी मिलिट्री डॉक्ट्रिन में कमियाँ पता चलीं और सेना ने अपनी सभी होल्डिंग कोर को ‘पिवट’ (pivot) कोर बनाने का निर्णय लिया। पिवट कोर का अर्थ था कि स्ट्राइक कोर तो अपना काम करेंगी ही लेकिन आदेश मिलते ही होल्डिंग कोर भी हमला करने को तैयार रहे उन्हें इस लायक बनाया गया।  

ऑपरेशन पराक्रम से पहले भारत होल्डिंग कोर और कम से कम तीन स्ट्राइक कोर (मथुरा स्थित 1 Corps, अम्बाला स्थित 2 Corps और भोपाल स्थित 21 Corps) के साथ पाकिस्तान के क्षेत्र में भीतर तक हमला करने की रणनीति में विश्वास करता था। यह डॉक्ट्रिन इस प्रकार बनाई गई थी कि तुरंत आदेश मिलते ही भारतीय सेना की तीनों स्ट्राइक कोर पाकिस्तान की उत्तरी 1 कोर और दक्षिणी 2 कोर पर हमला कर रणनीतिक दृष्टि से पाकिस्तान के लिए अति महत्वपूर्ण संसाधनों पर कब्जा कर लेती। यह सिद्धांत 1981-82 में जनरल के वी के राव के समय अपनाया गया था और 1987 में ब्रासटैक्स सैन्य अभ्यास के समय इसका परीक्षण भी किया गया था।

लेकिन ऑपरेशन पराक्रम के दौरान कोर स्तर की सैन्य टुकड़ी को सीमा पर पहुँचाने में हुए विलंब ने आर्मी कमांडरों के कान खड़े कर दिए। तब ‘कोल्ड स्टार्ट’ डॉक्ट्रिन अपनाई गई जिसके दो महत्वपूर्ण घटक हैं: पहला तो यह कि पिवट कोर की क्षमता बढ़ाई जाए और उन्हें अधिक मारक (offensive) बनाया जाए।

दूसरा यह कि डिवीज़न से छोटी लेकिन ब्रिगेड से बड़ी तथा अत्याधुनिक युद्धक तकनीक से युक्त एक ऐसी मारक सैन्य टुकड़ी बनाई जाए जो आदेश मिलते ही अत्यंत तीव्र गति से पाकिस्तान के भीतर घुसकर उसे घुटने टेकने पर विवश कर दे। इसे ‘इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप’ (IBG) का नाम दिया गया है।

युद्ध के दौरान IBG का प्रयोग पाकिस्तान को परमाणु अस्त्र के बारे में सोचने से पहले ही उसके सैन्य संसाधनों को नष्ट करने की योजना पर आधारित है। एक IBG में इन्फैंट्री, एयर डिफेन्स, आर्टिलरी, आर्मर, सिगनल, मैकेनाइज़्ड इन्फैंट्री सहित सेना के सभी अंगों को समाविष्ट किया जाएगा। यह अपने आप में पूर्ण, सर्व संसाधन युक्त, तीव्र और स्वतंत्र युद्धक इकाई होगी। चीन और पाकिस्तान दोनों ही विरोधियों को एक साथ परास्त करने की रणनीति के अंतर्गत IBG बनाई जाएँगी।

थलसेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कई साक्षात्कारों में यह स्वीकार किया है कि IBG का निर्माण युद्धस्थल की भौगोलिकता को ध्यान में रखकर किया जाएगा। ऐसी IBG बनाई जाएँगी जो राजस्थान के मरुस्थल से लेकर उत्तर भारत के मैदान और हिमालय के पहाड़ों पर भी उतनी ही दक्षता से लड़ सकें। एक IBG को मेजर जनरल रैंक का अधिकारी कमांड करेगा।

कुछ सामरिक चिंतकों का मानना है कि कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रिन के अंतर्गत करीब 8-10 IBG बनाई जा सकती हैं। कुछ विचारकों का यह मानना है कि 14,000 सैनिकों वाली प्रत्येक इन्फैंट्री डिवीज़न को समाप्त कर 140 IBG बनाई जानी चाहिए। बहरहाल, जनरल रावत के बयान के अनुसार विभिन्न युद्धक परिस्थितियों में पहले सभी IBG का परीक्षण किया जाएगा और सब कुछ ठीक रहा तो यह प्रक्रिया वर्ष 2019 के अंत तक पूर्ण कर ली जाएगी।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भाजपा दाढ़ी, टोपी, बुर्का बैन कर देगी: ‘सांप्रदायिक BJP’ को हराने के लिए कॉन्ग्रेस-लेफ्ट से हाथ मिलाने वाली AIDUF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल का जहरीला...

बदरुद्दीन अजमल ने कहा, "भाजपा दुश्मन है, देश की दुश्मन.. मस्जिदों की दुश्मन, दाढ़ी की दुश्मन, तलाक की दुश्मन, बाबरी मस्जिद की दुश्मन।"

शाहजहाँ: जिसने अपनी हवस के लिए बेटी का नहीं होने दिया निकाह, वामपंथियों ने बना दिया ‘महान’

असलियत में मुगल इस देश में धर्मान्तरण, लूट-खसोट और अय्याशी ही करते रहे परन्तु नेहरू के आदेश पर हमारे इतिहासकारों नें इन्हें जबरदस्ती महान बनाया और ये सब हुआ झूठी धर्मनिरपेक्षता के नाम पर।

चीनी माल जैसा चीन की कोरोना वैक्सीन का असर? मीडिया के सहारे साख बचाने का खतरनाक खेल

चीन की कोरोना वैक्सीन के असर पर सवाल खड़े हो रहे हैं। लेकिन वह इससे जुड़े डाटा साझा करने की बजाए बरगलाने की कोशिश कर कर रहा है।

मोदी सरकार का 1.5 साल वाला प्रस्ताव भी किसान संगठनों को मंजूर नहीं, कृषि कानूनों को रद्द करने पर अड़े

किसान नेताओं ने अपने निर्णय में कहा है कि नए कृषि कानूनों के डेढ़ साल तक स्‍थगित करने के केंद्र सरकार के प्रस्‍ताव को किसान संगठनों ने खारिज कर दिया है। संयुक्‍त किसान मोर्चा ने बयान जारी कर बताया कि तीनों कृषि कानून पूरी तरह रद्द हों।
00:31:45

तांडव: घृणा बेचो, माफी माँगो, सरकार के लिए सब चंगा सी!

यह डर आवश्यक है, क्रिएटिव फ्रीडम कभी भी ऑफेंसिव नहीं होता, क्योंकि वो सस्ता तरीका है। अभी तक चल रहा था, तो क्या आजीवन चलने देते रहें?

कहाँ गए दिल्ली जल बोर्ड के ₹26,000 करोड़: केजरीवाल सरकार पर करप्शन का बड़ा आरोप

दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर BJP ने जल बोर्ड के 26 हजार करोड़ रुपए डकारने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

‘उसने पैंट से लिंग निकाला और मुझे फील करने को कहा’: साजिद खान पर शर्लिन चोपड़ा ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

अभिनेत्री-मॉडल शर्लिन चोपड़ा ने फिल्म मेकर फराह खान के भाई साजिद खान पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

‘अल्लाह का मजाक उड़ाने की है हिम्मत’ – तांडव के डायरेक्टर अली से कंगना रनौत ने पूछा, राजू श्रीवास्तव ने बनाया वीडियो

कंगना रनौत ने सीरीज के मेकर्स से पूछा कि क्या उनमें 'अल्लाह' का मजाक बनाने की हिम्मत है? उन्होंने और राजू श्रीवास्तव ने अली अब्बास जफर को...

Pak ने शाहीन-3 मिसाइल टेस्ट फायर किया, हुए कई घर बर्बाद और सैकड़ों घायल: बलूच नेता का ट्वीट, गिरना था कहीं… गिरा कहीं और!

"पाकिस्तान आर्मी ने शाहीन-3 मिसाइल को डेरा गाजी खान के राखी क्षेत्र से फायर किया और उसे नागरिक आबादी वाले डेरा बुगती में गिराया गया।"

‘कोहली के बिना इनका क्या होगा… ऑस्ट्रेलिया 4-0 से जीतेगा’: 5 बड़बोले, जिनकी आश्विन ने लगाई क्लास

अब जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में जाकर ही ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दिया है, आइए हम 5 बड़बोलों की बात करते हैं। आश्विन ने इन सबकी क्लास ली है।

ढाई साल की बच्ची का रेप-मर्डर, 29 दिन में फाँसी की सजा: UP पुलिस और कोर्ट की त्वरित कार्रवाई

अदालत ने एक ढाई साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी को मौत की सजा सुनाई है। UP पुलिस की कार्रवाई के बाद यह फैसला 29 दिन के अंदर सुनाया गया है।

मटन-चिकेन-मछली वाली थाली 1 घंटे में खाइए, FREE में ₹1.65 लाख की बुलेट ले जाइए: पुणे के होटल का शानदार ऑफर

पुणे के शिवराज होटल ने 'विन अ बुलेट बाइक' नामक प्रतियोगिता के जरिए निकाला ऑफर। 4 Kg की थाली को ख़त्म कीजिए और बुलेट बाइक घर लेकर जाइए।
- विज्ञापन -

 

भाजपा दाढ़ी, टोपी, बुर्का बैन कर देगी: ‘सांप्रदायिक BJP’ को हराने के लिए कॉन्ग्रेस-लेफ्ट से हाथ मिलाने वाली AIDUF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल का जहरीला...

बदरुद्दीन अजमल ने कहा, "भाजपा दुश्मन है, देश की दुश्मन.. मस्जिदों की दुश्मन, दाढ़ी की दुश्मन, तलाक की दुश्मन, बाबरी मस्जिद की दुश्मन।"

शाहजहाँ: जिसने अपनी हवस के लिए बेटी का नहीं होने दिया निकाह, वामपंथियों ने बना दिया ‘महान’

असलियत में मुगल इस देश में धर्मान्तरण, लूट-खसोट और अय्याशी ही करते रहे परन्तु नेहरू के आदेश पर हमारे इतिहासकारों नें इन्हें जबरदस्ती महान बनाया और ये सब हुआ झूठी धर्मनिरपेक्षता के नाम पर।

कर्नाटक: शिवमोगा में विस्फोटक ले जा रही लॉरी में धमाका, 8 लोगों की मौत

कर्नाटक के शिवमोगा में बृहस्पतिवार रात एक रेलवे क्रशर साइट पर हुए डायनामाइट विस्फोट में कम से कम आठ लोगों के मारे जाने की खबर सामने आई है।

चीनी माल जैसा चीन की कोरोना वैक्सीन का असर? मीडिया के सहारे साख बचाने का खतरनाक खेल

चीन की कोरोना वैक्सीन के असर पर सवाल खड़े हो रहे हैं। लेकिन वह इससे जुड़े डाटा साझा करने की बजाए बरगलाने की कोशिश कर कर रहा है।

मोदी सरकार का 1.5 साल वाला प्रस्ताव भी किसान संगठनों को मंजूर नहीं, कृषि कानूनों को रद्द करने पर अड़े

किसान नेताओं ने अपने निर्णय में कहा है कि नए कृषि कानूनों के डेढ़ साल तक स्‍थगित करने के केंद्र सरकार के प्रस्‍ताव को किसान संगठनों ने खारिज कर दिया है। संयुक्‍त किसान मोर्चा ने बयान जारी कर बताया कि तीनों कृषि कानून पूरी तरह रद्द हों।
00:31:45

तांडव: घृणा बेचो, माफी माँगो, सरकार के लिए सब चंगा सी!

यह डर आवश्यक है, क्रिएटिव फ्रीडम कभी भी ऑफेंसिव नहीं होता, क्योंकि वो सस्ता तरीका है। अभी तक चल रहा था, तो क्या आजीवन चलने देते रहें?

ट्रक ड्राइवर से माफिया बने बदन सिंह बद्दो की कोठी पर चला योगी सरकार का बुलडोजर, दो साल से है फरार

मोस्ट वांटेड अपराधी ढाई लाख के इनामी बदन सिंह बद्दो की अलीशान कोठी पर योगी सरकार ने बुल्डोजर चलवा दिया। पुलिस ने बद्दो की संपत्ति कुर्क करने के बाद कोठी को जमींदोज करने की बड़ी कार्रवाई की है।

‘कोवीशील्ड’ बनाने वाली कंपनी के दूसरे हिस्से में भी आग, जलकर मरे लोगों को सीरम देगी ₹25 लाख

कोवीशील्ड बनाने वाली सीरम के पुणे प्लांट में दोबारा आग लगने की खबर है। दोपहर में हुई दुर्घटना में 5 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।

तांडव के डायरेक्टर-राइटर के घर पर ताला, प्रोड्यूसर ने ऑफिस छोड़ा: UP पुलिस ने चिपकाया नोटिस

लखनऊ में दर्ज शिकायत को लेकर यूपी पुलिस की टीम मुंबई में तांडव के डायरेक्टर और लेखक के घर तथा प्रोड्यूसर के दफ्तर पहुॅंची।

कहाँ गए दिल्ली जल बोर्ड के ₹26,000 करोड़: केजरीवाल सरकार पर करप्शन का बड़ा आरोप

दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर BJP ने जल बोर्ड के 26 हजार करोड़ रुपए डकारने का आरोप लगाया है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
384,000SubscribersSubscribe