Saturday, June 19, 2021
Home देश-समाज मिशनरी स्कूल का काला सच: बल्ले से पीट-पीट कर मासूम की हत्या, स्कूल ने...

मिशनरी स्कूल का काला सच: बल्ले से पीट-पीट कर मासूम की हत्या, स्कूल ने दफ़ना दिया शव

स्कूल प्रशासन ने मामले को छिपाने की हर संभव कोशिश की। विद्यालय प्रबंधन ने बिना पोस्टमॉर्टम कराए छात्र के शव को कैंपस में ही दफ़ना दिया। छात्र के परिजनों को भी इस बात की जानकारी नहीं दी गई कि उनके बच्चे की मौत हो चुकी है।

देहरादून से एक स्कूल द्वारा घिनौने कृत्य का मामला प्रकाश में आया है। मिशनरी स्कूल चिल्ड्रेन्स होम एकेडमी में सीनियर्स द्वारा 12 वर्षीय एक बच्चे की पीट-पीट कर बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी गई। आरोप है कि 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले सीनियर्स ने उक्त बच्चे को बिस्किट का पैकेट चोरी करने का दोषी ठहराया और फिर बल्ले व स्टंप्स से पीट-पीट कर उसकी जान ले ली। सीनियर्स ने बच्चे को पहले तो ख़ूब पीटा और फिर उसे वहीं क्लास रूम में ही छोड़कर निकल गए। घायल छात्र को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उसकी मृत्यु हो गई। लेकिन, इस घटना के बाद स्कूल प्रशासन ने जिस प्रकार का ग़ैर-ज़िम्मेदाराना रवैया अपनाया, उसकी चारो तरफ थू-थू हो रही है।

अमर उजाला के स्थानीय संस्करण में छपी ख़बर

बिस्किट के पैकेट को लेकर शुरू हुआ विवाद इतना हिंसक रूप ले लेगा, किसी ने सोचा भी नहीं था। यह मामला ऋषिकेश तहसील के रानीपोखरी स्थित होम अकादमी नामक स्कूल का है। मृत छात्र का नाम वासु यादव था। स्कूल प्रशासन और जौलीग्रांट के डॉक्टर्स तक ने इसे फ़ूड पॉइज़निंग का मामला बताया, लेकिन पुलिस को इस पर यकीन नहीं हो रहा था। रानीपोखरी थाना ने भी इसे पहले फ़ूड पॉइज़निंग का ही मामला माना था। मृत छात्र पश्चिमी उत्तर प्रदेश स्थित हापुड़ का रहने वाला था। उसके पिता कुष्ठ रोगी हैं। पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने एकेडमी में पढ़ने वाले दो छात्रों और एकेडमी के वॉर्डन, पीटी टीचर और एक अन्य व्यक्ति को इस हत्या का दोषी पाते हुए गिरफ़्तार किया है।

मिशनरी स्कूल की वेबसाइट और इसका नैतिक मूल्य

ज़ी न्यूज़ की मानें तो अकादमी संचालक स्टीफेन सरकार पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होना पुलिस की भूमिका को भी संदिग्ध बनाता है। समाचार एजेंसी ने मामले को रफ़ा-दफ़ा करने में पुलिस का सहयोग होने की भी बात कही है। 10 मार्च को मृतक सहित सभी बच्चे चर्च गए हुए थे। उसी दौरान यह घटना हुई। सीनियर छात्रों ने मृतक बच्चे को ठन्डे पानी से नहलाया और गन्दा पानी ज़बरन पिलाया।

पुलिस और स्कूल प्रशासन पर उठते सवाल के अलावा मीडिया पर भी सवाल उठना लाजिमी है, जिसने इस ख़बर को एक मामूली क्राइम की ख़बर तक ही समझा। अखबारों के स्थानीय संस्करणों को छोड़ दें तो किसी भी राष्ट्रीय स्तर की मीडिया ने इस खबर को तवज्जो नहीं दिया। जबकि गूगल पर 2 मिनट के सर्च से यह पता चल जाता कि स्कूल का नाम क्या है, वह किस संस्था से जुड़ा है। लेकिन यह बताने की जरूरत नहीं समझी गई। यह जानकारी जरूरी है ताकि स्कूल के नाम पर गोरखधंधा कर रहे ऐसे मिशनरी स्कूलों में अभिभावक अपने बच्चों का ऐडमिशन आँख मूँद कर कराने से पहले जाँच-पड़ताल कर लें।

दरअसल, नियमानुसार मृत बच्चे का पोस्टमॉर्टेम करवाया जाना चाहिए था लेकिन पुलिस की कार्रवाई के डर से स्कूल ने उनके शव को जल्दबाज़ी में दफ़ना दिया। पुलिस ने मामले में दोनों आरोपित छात्रों के ख़िलाफ़ दफ़ा 302 के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं दूसरी तरफ स्कूल प्रशासन के तीन कर्मचारियों हॉस्टल मैनेजर वॉर्डन और स्पोर्ट्स टीचर पर अपराध के सबूत मिटाने के जुर्म में सेक्शन 201 तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने भी कहा कि मृतक की विकेट और बैट से पिटाई की गई है, जिसके बाद उसकी मृत्यु हो गई। जब तक हॉस्टल वॉर्डन नज़र नहीं पड़ी, तब तक उसका शव वहीं पड़ा हुआ था।

उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग की चेयरपर्सन उषा नेगी के हस्तक्षेप के बाद स्थानीय प्रशासन ने मामले में सख़्ती दिखाई और आगे की कार्रवाई को अंजाम दिया। देहरादून की एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने कहा कि बच्चे को अस्पताल पहुँचाने में काफ़ी देर की गई। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रशासन ने इस मामले में कई चूक की हैं। स्कूल के कर्मचारियों ने मामले को छिपाने की हर संभव कोशिश की। पुलिस को सूचना दिए बिना ही बच्चे को दफ़ना दिया गया। इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए उषा नेगी ने कहा,

“स्कूल प्रशासन ने मामले को छिपाने की हर संभव कोशिश की। घटना 10 मार्च को हुई और 11 मार्च को हमें इसका पता चला। फिर भी, जब हमें पता चला और हम स्कूल पहुँचे तब पता चला कि विद्यालय प्रबंधन ने बिना पोस्टमॉर्टम कराए छात्र के शव को कैंपस में ही दफ़ना दिया है। छात्र के परिजनों को भी इस बात की जानकारी नहीं दी गई कि उनके बच्चे की मौत हो चुकी है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘खाना बनाकर रखना’ कह कर घर से निकला था मुकेश, जिंदा जलाने की खबर आई: ‘किसानों’ के टेंट या गुंडई का अड्डा?

किसानों के नाम पर सड़क पर कब्जा जमाने वाले कौन हैं? इनके टेंट नशे और गुंडई के अड्डे हैं? मुकेश की विधवा के सवालों का मिलेगा जवाब?

3 मिनट में 2 विधायकों के बेटे बने अफसर: पंजाब कॉन्ग्रेस में नाराजगी को दूर करना का ‘कैप्‍टन फॉर्मुला’ – बदली अनुकंपा पॉलिसी

सांसद प्रताप सिंह बाजवा के भतीजे और विधायक फतेहजंग बाजवा के बेटे अर्जुन प्रताप सिंह बाजवा को पंजाब पुलिस में इंस्पेक्टर (ग्रेड-2) और...

‘सांसद और केरल कॉन्ग्रेस प्रमुख सुधाकरण ने मेरे बच्चों के अपहरण की साजिश रची थी’ – केरल के CM विजयन का गंभीर आरोप

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केरल के ही पीसीसी अध्यक्ष और कॉन्ग्रेस के लोकसभा सांसद सुधाकरण पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने...

कोरोना के टीकों से बढ़ जाती है मर्दों की प्रजनन क्षमता: 26-36 से बढ़ कर 30-44 का आया रिजल्ट

शोध में पाया गया कि फाइजर, मॉडर्ना के टीके पुरुषों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करते। दोनों खुराक के बाद शुक्राणुओं का स्तर...

राजस्थान में रायमाता मंदिर की जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद: आम रास्ता की बात कह प्रशासन ने 9 को किया गिरफ्तार

मंदिर के महंत दशमगिरी ने आरोप लगाया कि मंडावा विधायक रीटा चौधरी के दबाव में प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। पुलिस ने गांगियासर के...

खीर भवानी माता मंदिर: शुभ-अशुभ से पहले बदल जाता है कुंड के जल का रंग, अनुच्छेद-370 पर दिया था खुशहाली का संकेत

हनुमान जी लंका से माता खीर भवानी की प्रतिमा को ले आए और उन्हें जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से 14 किमी दूर तुलमुल गाँव में स्थापित कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

70 साल का मौलाना, नाम: मुफ्ती अजीजुर रहमान; मदरसे के बच्चे से सेक्स: Video वायरल होने पर केस

पीड़ित छात्र का कहना है कि परीक्षा में पास करने के नाम पर तीन साल से हर जुम्मे को मुफ्ती उसके साथ सेक्स कर रहा था।

BJP विरोध पर ₹100 करोड़, सरकार बनी तो आप होंगे CM: कॉन्ग्रेस-AAP का ऑफर महंत परमहंस दास ने खोला

राम मंदिर में अड़ंगा डालने की कोशिशों के बीच तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने एक बड़ा खुलासा किया है।

‘रेप और हत्या करती है भारतीय सेना, भारत ने जबरन कब्जाया कश्मीर’: TISS की थीसिस में आतंकियों को बताया ‘स्वतंत्रता सेनानी’

राजा हरि सिंह को निरंकुश बताते हुए अनन्या कुंडू ने पाकिस्तान की मदद से जम्मू कश्मीर को भारत से अलग करने की कोशिश करने वालों को 'स्वतंत्रता सेनानी' बताया है। इस थीसिस की नजर में भारत की सेना 'Patriarchal' है।

‘…इस्तमाल नहीं करो तो जंग लग जाता है’ – रात बिताने, साथ सोने से मना करने पर फिल्ममेकर ने नीना गुप्ता को कहा था

ऑटोबायोग्राफी में नीना गुप्ता ने उस घटना का जिक्र भी किया है, जब उन्हें होटल के कमरे में बुलाया और रात बिताने के लिए पूछा।

वामपंथी नेता, अभिनेता, पुलिस… कुल 14: साउथ की हिरोइन ने खोल दिए यौन शोषण करने वालों के नाम

मलयालम फिल्मों की एक्ट्रेस रेवती संपत ने एक फेसबुक पोस्ट में 14 लोगों के नाम उजागर कर कहा है कि इन सबने उनका यौन शोषण किया है।

कम उम्र में शादी करो, एक से ज्यादा करो: अभिनेता फिरोज खान ने पैगंबर मोहम्मद का दिया उदाहरण

फिरोज खान ने कहा कि शादी सीखने का एक अनुभव है। इस्लामिक रूप से यह प्रोत्साहित भी करता है, इसलिए बहुविवाह आम प्रथा होनी चाहिए।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,871FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe