मुहर्रम जुलूस: भिड़े दो गुट, जमकर काटा बवाल, 18 घरों में लगाई आग, पुलिस की जीप, 4 बाइक फूँका

शरारती तत्वों ने जिनके घर जलाए हैं, उनका कहना है कि इस घटना को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया है। उपद्रवी ट्रक में लुकार भरकर लाए थे।

मंगलवार (सितंबर 10, 2019) को मुहर्रम के दौरान तजिया जुलूस निकालने को दो गुट आपस में ही भिड़ गए और जमकर बवाल किया। घटना बिहार के बेतिया की है। दरअसल, बेतिया के मनुआपुल थाना के कर्बला मैदान में मंगलवार की शाम एक ही समय में दो समूहों द्वारा ताजिया जुलूस निकाला जा रहा था। इस दौरान दोनों समूहों के बीच आपसी विवाद उत्पन्न हो गया। 

इनके बीच का विवाद इतना अधिक बढ़ गया कि मारपीट के बाद शरारती तत्वों ने 18 घरों में आग लगा दी और कई वाहन फूँक दिए। इस दौरान उपद्रवी तत्वों ने मनुआपुल थाने की पुलिस जीप और 4 बाइक को भी फूँक डाला।

घटना की सूचना मिलते ही डीआईजी ललन मोहन प्रसाद, डीएम डॉ निलेश रामचंद्र देवरे और एसपी जयंतकांत सहित कई थानों की पुलिस घटनास्थल पर पहुँच गई। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर स्थिति को नियंत्रण में लिया। शरारती तत्वों ने जिनके घर जलाए हैं, उनका कहना है कि इस घटना को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया है। उपद्रवी ट्रक में लुकार भरकर लाए थे। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके अलावा, बिहार के नरकटियागंज और झंझारपुर में भी मुहर्रम के जुलुस के दौरान मारपीट और विवाद की खबर है। हालाँकि, पुलिस ने समय पर पहुँच कर स्थिति पर काबू पा लिया। वहीं, दरभंगा के सिंहवारा में भी मुहर्रम जुलूस के दौरान झड़प हो गई, जिसमें 6 लोग जख्मी हो गए।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, हेमंत सोरेन
"दंगाइयों ने मेरे पति को दौड़ा कर उनके सिर पर रॉड से वार किया। इसके बाद वो किसी तरह भागते हुए घर पहुँचे। वहाँ पहुँच कर उन्होंने मुझे सारी बातें बताईं। इसके बाद वो अचानक से बेहोश हो गए।" - क्या मुख्यमंत्री सोरेन सुन रहे हैं मृतक की पत्नी की दर्द भरी आवाज़?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,329फैंसलाइक करें
36,957फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: