Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजतमिलनाडु: सब इंस्पेक्टर एंथनी माइकल की पिटाई से आहत साधु ने की आत्महत्या, आरोपित...

तमिलनाडु: सब इंस्पेक्टर एंथनी माइकल की पिटाई से आहत साधु ने की आत्महत्या, आरोपित के खिलाफ अभी तक FIR नहीं

“सब-इंस्पेक्टर एंथनी माइकल ने मुझे यह सोचकर पीटा कि उसे जो पावर मिली, उससे वह कुछ भी कर सकता है।” सरवनन का शव शुक्रवार (अगस्त 21, 2020) को विघटित अवस्था में उनके आवास के पास एक वन क्षेत्र में चट्टानों के बीच पाया गया था। पुलिस को शव के पास एक मोबाइल मिला। जिसकी जाँच करने पर यह वीडियो मिला।

तमिलनाडु में पुलिस सब इंस्पेक्टर एंथनी माइकल के हाथों यातना और अपमान सहन करने के बाद 42 वर्षीय साधु सरवनन ने आत्महत्या कर ली। साधु ने अपने दोस्तों को भेजे वीडियो में कहा है कि उप-निरीक्षक एंथनी माइकल उनके ‘डिप्रेशन’ के लिए जिम्मेदार थे, उन्होंने उन्हें अपमानित किया था। उन्होंने यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किया था।

सरवनन के परिवार में उनकी पत्नी, एक बेटी और बेटा है। उन्होंने वीडियो में कहा कि वह गंभीर अवसाद में थे क्योंकि माइकल ने उन्हें बुरी तरह पीटा था। उन्होंने आगे कहा कि उनकी मौत का जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ एंथनी माइकल है। साधु ने यह भी कहा कि उनके मरने के बाद उनकी आत्मा पुलिस सब इंस्पेक्टर एंथनी माइकल से बदला लेगी।

यह दिल दहला देने वाली घटना तमिलनाडु के सलेम जिले के संकागिरी तालुक के कुंदंगल कादु में हुई। साधु सरवनन अपने भक्तों को उनकी चिंताओं और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से मुक्त करने के लिए अमावस्या की रात में विशेष पूजा करते थे। इस दौरान भक्त उनके पास भूतों की शिकायत लेकर आया करते थे, जिनका वह निदान करते थे।

इसके लिए वह अपने घर के पास ही पानी की टंकी के निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे के पास बैठ गए थे। 14 अगस्त को दो महिलाएँ उनके पास आई थी। वह उनकी शिकायत सुन ही रहे थे कि थेवुर पुलिस स्टेशन के पुलिसकर्मियों का एक समूह उस स्थान पर उतरा और उनके साथ मारपीट की।

अगली सुबह सरवनन लापता हो गए। जब उनकी तलाश शुरू की गई, तो उनके दोस्तों ने व्हाट्सएप पर उनका वीडियो प्राप्त किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि पुलिस की पिटाई से वो अत्यधिक डिप्रेशन में थे। 

साधु ने आरोप लगाया, “सब-इंस्पेक्टर एंथनी माइकल ने मुझे यह सोचकर पीटा कि उसे जो पावर मिली, उससे वह कुछ भी कर सकता है।” सरवनन का शव शुक्रवार (अगस्त 21, 2020) को विघटित अवस्था में उनके आवास के पास एक वन क्षेत्र में चट्टानों के बीच पाया गया था। पुलिस को शव के पास एक मोबाइल मिला। जिसकी जाँच करने पर यह वीडियो मिला।

जानकारी के मुताबिक सरवनन के बच्चों ने पुलिस द्वारा उनके पिता की पिटाई देखी थी, जबकि उनकी पत्नी ने कहा है कि उन्होंने सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ शिकायत नहीं की क्योंकि पुलिस ने उन्हें धमकी दी थी। 

NewsJ की एक रिपोर्ट के अनुसार, पीड़ित सरवनन के बेटे और बेटी ने मीडिया को बताया कि उन्होंने पुलिस सब इंस्पेक्टर को अपने पिता पर बेरहमी से हमला करते हुए देखा था। उन्होंने बताया, “पिताजी अपने परिवार के सामने हमला किए जाने से परेशान थे और हमसे बात नहीं की और शनिवार (अगस्त 15, 2020) सुबह घर से निकल गए। उनका शव एक वन क्षेत्र में पाया गया।”

उन्होंने अधिकारियों से एसआई एंथनी के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। बता दें कि पुलिस ने अभी तक एंथनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की है। इधर हिंदू मक्कल काची ने कहा है कि सरवनन को न्याय दिलाने के लिए तमिलनाडु भर में विरोध प्रदर्शन की योजना बनाई जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

ओलंपिक में मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतने पर एक दुःखी वामपंथी की व्यथा…

भारत की एक महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता है। ये विज्ञान व लोकतंत्र के खिलाफ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe