Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजऑक्सीजन सिलेंडर के बदले सेक्स मामले पर NCW ने लिया संज्ञान: दिल्ली पुलिस कमिश्नर...

ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले सेक्स मामले पर NCW ने लिया संज्ञान: दिल्ली पुलिस कमिश्नर से जाँच और कार्रवाई की माँग

“मेरी सहेली की बहन जो मेरी छोटी बहन जैसी है। वह एक एलिट कॉलोनी में रहती है। उसके पड़ोसी ने बीमार पिता के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर देने के बदले उसे साथ में सोने को कहा। इस मामले में क्या एक्शन ले सकते हैं क्योंकि %$* तो इस बात से इनकार ही करेगा।”

देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर की चपेट में है। इसके साथ ही यौन उत्पीड़न की घटनाएँ भी लगातार बढ़ रही हैं। इन चुनौतीपूर्ण स्थितियों ने मानवता को शर्मसार कर दिया है। जैसा कि सबको पता है भारत में ऑक्सीजन का संकट बना हुआ है। इसी बीच कुछ लोग लाचार लोगों का फायदा उठा रहे हैं।

पिछले दिनों ऐसी ही एक चौंकाने वाली घटना दिल्ली से सामने आई थी। एक लड़की ने अपने पिता के लिए ऑक्सीजन की मदद माँगने पर उसे लड़के ने सेक्स करने के लिए कहा। दूसरी लड़की ने ट्विटर इस बारे लोगों को जानकारी दी। इसके बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।

घटना के बारे में एक ट्विटर यूजर ने बताया था कि उसकी दोस्त की बहन को अपने बीमार पिता के लिए ऑक्सीजन चाहिए था। लेकिन उसके पड़ोसी ने सिलेंडर के बदले उसे साथ सोने को कहा। भवरीन कंधारी नाम की लड़की ने ट्विटर पर लिखा, “मेरी सहेली की बहन जो मेरी छोटी बहन जैसी है। वह एक एलिट कॉलोनी में रहती है। उसके पड़ोसी ने बीमार पिता के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर देने के बदले उसे साथ में सोने को कहा। इस मामले में क्या एक्शन ले सकते हैं क्योंकि %$* तो इस बात से इनकार ही करेगा।”

अब एनसीडब्ल्यू प्रमुख रेखा शर्मा ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को मामले में हस्तक्षेप करने और समयबद्ध जाँच करने के लिए लिखा है। एनसीडब्ल्यू ने आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की भी माँग की है।

एनसीडब्ल्यू ने एसएन श्रीवास्तव को पत्र लिखा, “महामारी के बीच घटना से आयोग परेशान है। इसलिए, आपको मामले में हस्तक्षेप करने और समयबद्ध तरीके से जाँच करने की आवश्यकता है। साथ ही, आरोपित के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के संबंधित धाराओं के तहत तुरंत प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। की गई कार्रवाई को जल्द से जल्द आयोग को सूचित किया जाना चाहिए।”

इसके अलावा हाल ही में केरल में ई-पास के लिए एक रिक्वेस्ट आई जिसमें व्यक्ति ने लिखा था कि उसे सेक्स के लिए बाहर जाना है। बता दें कि कन्नूर के कन्नापुरम के इरीनेव में रहने वाले इस व्यक्ति ने वजह की जगह पर लिखा था कि वह शाम में कन्नूर की किसी जगह पर सेक्स के लिए जाना चाहता है। व्यक्ति का आवेदन चूँकि अजीब था, इसलिए असिस्टेंट कमिश्नर ने फौरन उस आदमी को पकड़कर लाने के निर्देश दिए। स्थानीय रिपोर्ट के अनुसार, वल्ला पत्तन पुलिस ने उसे पकड़ा और पूछताछ के लिए थाने लाई।

पूछताछ में व्यक्ति ने अपनी गलती के लिए माफी माँगी। उसने बताया कि उसकी एप्लीकेशन में स्पेलिंग एरर हो गया था, जिसे वह भेजने से पहले सही करना भूल गया। उसके मुताबिक वह सेक्स की जगह ‘सिक्स ओ क्लॉक’ लिखना चाहता था। पुलिस ने उसकी बात सुनकर उसकी माफी स्वीकारी और कहा कि गैर जरूरी चीजों के लिए ई-पास की डिमांड न करें।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आजादी के वक्त थे 3 मुस्लिम बहुल जिले, अब 9 हैं: बंगाल BJP प्रमुख ने कहा- असम और बंगाल में डेमोग्राफी बदलाव सोची-समझी रणनीति,...

बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने असम के सीएम हिमंता के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने डोमोग्राफी बदलाव की बात कही थी।

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -