Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजकंगना को थप्पड़ मारा, बदले में कुलविंदर के परिवार को सम्मान दे रहे सिख...

कंगना को थप्पड़ मारा, बदले में कुलविंदर के परिवार को सम्मान दे रहे सिख संगठन: SGPC ने भी बीजेपी MP को ही बताया कसूरवार, कहा- उनका बयान माहौल खराब कर रहा

कुछ सिख संगठनों ने चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर कंगना रनौत पर हमला करने वाली निलंबित CISF अधिकारी कुलविंदर कौर के परिवार के लोगों को सम्मानित किया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें सिख संगठन के सदस्यों को कुलविंदर कौर के परिवार के सदस्यों को सम्मानित करते देखा जा सकता है।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने भाजपा सांसद कंगना रनौत पर चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर हुए हमले को सही ठहराते हुए एक बयान जारी किया है। धामी ने CISF महिला सुरक्षाकर्मी कुलविंदर कौर के हमले को लेकर कहा है कि कंगना का वह पंजाब और पंजाबियों को लगातार निशाना बना रही थीं जो कि काफी पीड़ादायक है।

SGPC मुखिया कंगना के इस दावे को नकार दिया कि पंजाब में आतंकवाद बढ़ रहा है। उन्होंने दावा किया कि कंगना के बयान से देश का माहौल खराब हो रहा है। उन्होंने कंगना रनौत को पंजाबियों के देश के लिए किए बलिदान भी याद दिलाने की बात कही। धामी का कहना था कि लोकप्रियता हासिल करने के लिए देश के नागरिकों की आपसी शान्ति और उनके सामाजिक मेलजोल को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए, लेकिन कंगना इसी रास्ते पर चल रही हैं।

एडवोकेट धामी ने भाजपा नेताओं से आग्रह किया कि वे कंगना रनौत को संयम और नैतिकता की शिक्षा दें। उन्होंने लिखा, “चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर हुई घटना के कारणों की गहन जाँच होनी चाहिए कि कहीं कंगना रनौत ने पंजाब के खिलाफ नफरत का माहौल बनाने के लिए कोई शरारती बात तो नहीं की। केंद्रीय सुरक्षा बल द्वारा की गई जाँच बिना किसी राजनीतिक या व्यक्तिगत प्रभाव के होनी चाहिए ताकि किसी के साथ गलत व्यवहार ना हो।”

सिख संगठनों ने किया कुलविंदर के परिवार को किया सम्मानित

इस बीच, यह बात भी सामने आई कि एक सिख संगठन ने चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर कंगना रनौत पर हमला करने वाली निलंबित CISF अधिकारी कुलविंदर कौर के परिवार के लोगों को सम्मानित किया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें सिख संगठन के सदस्यों को कुलविंदर कौर के परिवार के सदस्यों को सम्मानित करते देखा जा सकता है।

वीडियों में कुछ सिख सत श्री अकाल और अन्य नारे लगाते हुए देखे जा सकते हैं, वह एक बुजुर्ग पुरुष और महिला को शाल ओढ़ाते हैं और बधाई भी देते हैं। वह महिला के गले भी मिलते हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। इससे पहले शिवसेना UBT की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कंगना रनौत पर हुए हमले को सही ठहराने की कोशिश की थी।

गौरतलब है कि CISF सुरक्षाकर्मी कुलविंदर कौर ने गुरुवार (6 जून, 2024) को चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर दिल्ली जा रहीं सांसद कंगना रनौत को सुरक्षा जाँच के दौरान थप्पड़ मार दिया था। उसने इसके बाद एयरपोर्ट पर हंगामा भी मचाया था, इसकी कुछ वीडियो भी सामने आईं थी। इसमें वह कहते सुनी जा सकती है, ‘इसने ₹100-₹100 में महिलाओं बैठने को कहा था, ये बैठेगी वहाँ पर, मेरी माँ बैठी थी।”

कुलविंदर कौर का कहना था कि उसने कंगना रनौत को इसलिए थप्पड़ मारा क्योंकि उन्होंने किसान आंदोलन में बैठी महिलाओं को लेकर बयान दिया था। उसने बताया था कि इस किसान आंदोलन में उसकी माँ भी शामिल थी और उसे कंगना का बयान अखर रहा था।

कंगना रनौत ने इस मुद्दे के बाद एक वीडियो जारी किया था। उन्होंने बताया, “मैं बताना चाहती हूँ कि मैं पूरी तरीके से ठीक हूँ, सुरक्षित हूँ। आज जो चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर जो हादसा सुरक्षा जाँच के दौरान हुआ। मैं सुरक्षा जाँच के बाद जैसे ही निकली, इसके बाद दूसरे केबिन में बैठी एक सुरक्षाकर्मी ने आकर मेरे मुँह पर मारा। वह गालियाँ देने लगी, उन्होंने पूछने पर बताया कि वह किसान आंदोलन का समर्थन करती हैं। मैं सुरक्षित हूँ लेकिन मैं पंजाब में उग्रवाद और आतंकवाद के बढ़ने को लेकर चिंतित हूँ।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -