Sunday, May 22, 2022
Homeदेश-समाजमायावती के पति लगाते रहे गुहार, शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने एंबुलेंस को नहीं...

मायावती के पति लगाते रहे गुहार, शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने एंबुलेंस को नहीं दिया रास्ता

मायावती के पति ने बताया कि प्रदर्शनकारियों के कारण एंबुलेंस समय पर नहीं पहुँची। इसकी वजह से उनकी बीवी की तबीयत ज्यादा खराब हो गई।जब काफी समय तक एंबुलेंस नहीं आ पाई, तो उन्होंने एक खुद ऑटो किया और अपनी पत्नी को अस्पताल ले गए।

शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के कारण रविवार (जनवरी 26, 2020) को एक महिला की जान पर बन आई। महिला का पति अपनी बीवी की जान बचाने के खातिर गिड़गिड़ाता रहा। लेकिन शाहीन बाग में बैठी प्रदर्शनकारियों ने एंबुलेंस जाने का रास्ता नहीं दिया। नतीतजन महिला की हालत गंभीर होती गई। अंत में महिला को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। जहाँ उसकी हालत देखकर उसे वेंटिलेटर पर रखा गया।

पंजाब केसरी की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार की रात से ही 44 वर्षीय मायावती को साँस लेने में तकलीफ हो रही थी। लेकिन रविवार को उनकी तबीयत अचानक ज्यादा बिगड़ गई। साँस लेने में तकलीफ और दर्द देखकर मायावती के पति देवता प्रसाद मौर्य ने तुरंत एंबुलेंस को फोन किया और ड्राइवर से जल्द से जल्द आने को कहा। लेकिन एंबुलेंस शाहीन बाग में प्रदर्शकारियों के कारण काफी देर अटकी रही।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, मायावती के पति ने बताया कि अगर उनकी बीवी को कुछ भी हुआ, तो इसके लिए सिर्फ़ शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी जिम्मेदार होंगे। इनके कारण दिल्ली-नोएडा का रोड पूरा ब्लॉक हो रहा है। उनके अनुसार सिर्फ प्रदर्शनकारियों के कारण एंबुलेंस सही समय पर नहीं पहुँची। इसकी वजह से उनकी बीवी की तबीयत ज्यादा खराब हो गई। वो अपनी पत्नी को फौरन सफदरजंग अस्पताल लेकर जाना चाहते थे। लेकिन जब काफी समय तक एंबुलेंस नहीं आ पाई, तो उन्होंने एक खुद ऑटो किया और अपनी पत्नी को न्यू फ्रेंड कॉलोनी इलाके के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में मायावती की गंभीर हालत देखकर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया।

गौरतलब है कि शाहीन बाग पर चल रहे प्रदर्शन के कारण ये पहला मामला नहीं है, जहाँ किसी को इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा हो। रोजाना वहाँ से गुजरने वाले लोगों के लिए ये दिक्कत पिछले एक महीने से आम हो गई हैं। सीएए विरोध के नाम पर कालिंदी कुंज रोड को ब्लॉक कर रखा है जो फरीदाबाद, नई दिल्ली और नोएडा को जोड़ती हैं।

शाहीन बाग में ₹120 करोड़ का खेल: इस्लामी कट्टरपंथी PFI का पैसा, सिब्बल और इंदिरा जयसिंह का योगदान – ED

जिससे थी उम्मीदें, वो बेवफा निकला: ‘सरजी’ के गले का फाँस बना शाहीन बाग़, बिगड़ा चुनावी गणित

गाय काटना हमारा फर्ज; हम जहाँ खड़े वही मस्जिद, वहीं पढ़ेंगे नमाज: शाहीन बाग का मास्टरमाइंड शरजील

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ज्ञानवापी में सिर्फ शिवलिंग ही नहीं, हनुमान जी की भी मूर्ति: अमेरिका के म्यूजियम में 154 साल पुरानी तस्वीर, नंदी भी विराजमान

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे को लेकर जारी विवाद के बीच सामने आई तस्वीर में हनुमान जी के मिलने से हिन्दू पक्ष का दावा और मजबूत हो गया है।

नौगाँव थाने में आग लगाने वाले 5 आरोपितों के घरों पर चला असम सरकार का बुलडोजर: शराबी शफीकुल की मौत पर 2000 कट्टरपंथियों ने...

असम में एक व्यक्ति की मौत के शक में थाने को जलाने के 5 आरोपितों के घरों को प्रशासन ने बुलडोजर से ढहा दिया है। तीन को गिरफ्तार भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,078FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe