Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजकन्हैया लाल के हत्यारों को 5 km खदेड़ कर गिरफ्तार कराया, धमकी के बावजूद...

कन्हैया लाल के हत्यारों को 5 km खदेड़ कर गिरफ्तार कराया, धमकी के बावजूद डटे रहे शक्ति सिंह और प्रह्लाद सिंह: राजस्थान पुलिस ने भी माना लोहा

"हमें सोशल मीडिया से कन्हैयालाल की हत्या की सूचना मिली थी। हमें हमारे ही क्षेत्र के एक पुलिसकर्मी की कॉल आई थी जिसमें आरोपितों के बाइक के नंबर बता कर भीलवाड़ा-देवगढ़ मार्ग से भागने की जानकारी दी गई।"

राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल के कातिलों को गिरफ्तार करवाने में पुलिस के मददगार राजसमंद के 2 युवकों की बहादुरी की तारीफ हो रही है। इनके नाम शक्ति सिंह और प्रह्लाद सिंह हैं। बताया जा रहा है कि इन दोनों ने आरोपित रियाज और मोहम्मद गौस का लगातार बाइक से पीछा किया और पुलिस को उनकी लोकेशन बताई। राजस्थान के भीम विधानसभा से कॉन्ग्रेस विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने भी 28 जू,न 2022 को शक्ति और प्रह्लाद की प्रशंसा की है।

कॉन्ग्रेस विधायक ने लिखा, “उदयपुर की घटना जघन्य और बर्बर है। क्रूरता के साथ हत्या करना और उसे खुद ही प्रसारित करना किसी भी मानव सभ्यता में अस्वीकार्य है। इसे क़तई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। भीम देवगढ़ निवासी प्रह्लाद सिंह व शक्ति सिंह ने आरोपियों का लगातार पीछा किया व यहाँ की जागरूक जनता की मदद से भीम देवगढ़ पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रशासन से अनुरोध है कि बर्बरता करने वाले आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करे व इन्हें फाँसी की सजा दिलाए।”

दैनिक भास्कर के मुताबिक विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चिट्ठी लिख कर शक्ति और प्रह्लाद को सम्मानित करने की माँग की है। साथ ही राजसमंद पुलिस के SP शिवलाल बैरवा ने कहा, “आरोपितों की गिरफ्तारी में 2 युवकों का सहयोग रहा जिन्होंने आरोपितों का पीछा करते हुए पुलिस को सूचना दी।”

दैनिक भास्कर से बात करते हुए शक्ति सिंह ने कहा, “हमें सोशल मीडिया से कन्हैयालाल की हत्या की सूचना मिली थी। हमें हमारे ही क्षेत्र के एक पुलिसकर्मी की कॉल आई थी जिसमें आरोपितों के बाइक के नंबर बता कर भीलवाड़ा-देवगढ़ मार्ग से भागने की जानकारी दी गई। इस जानकारी पर हम बाइक से निकले तभी आरोपितों की शक्ल से मिलते-जुलते 2 लोग निकले। उस बाइक का नंबर भी 2611 था। हमने पुलिस बुलाई तो वो दूर थी। हम आरोपितों का पीछा करते रहे। इस दौरान हमें धमकाया भी गया लेकिन हम उनके पीछे लगे रहे। आख़िरकार 5 किलोमीटर बाद दोनों आरोपितों को पुलिस ने पकड़ लिया।”

राजपूत करणी सेना के महिपाल सिंह ने शक्ति और प्रह्लाद सिंह की तारीफ करते हुए उनके लिए राष्ट्रपति पुरस्कार की माँग की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -