Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाजशिल्पा शेट्टी के घर पहुँची मुंबई पुलिस, कुंद्रा की रिमांड 27 जुलाई तक बढ़ी:...

शिल्पा शेट्टी के घर पहुँची मुंबई पुलिस, कुंद्रा की रिमांड 27 जुलाई तक बढ़ी: पूनम पांडे- शर्लिन चोपड़ा ने भी खोले कई राज

बॉम्बे हाईकोर्ट ने राज कुंद्रा की पुलिस हिरासत की अवधि 27 जुलाई तक बढ़ा दी है और दूसरी ओर गोल्ड स्कीम धोखाधड़ी मामले में एक्टर-प्रोड्यूसर सचिन जोशी ने केस जीत लिया है।

पोर्न वीडियो बनाने के मामले में फँसे शिल्पा शेट्टी के पति व कारोबारी राज कुंद्रा को बड़ा झटका लगा है। एक ओर उनकी पुलिस हिरासत की अवधि 27 जुलाई 2021 तक बढ़ा दी गई है और दूसरी ओर गोल्ड स्कीम धोखाधड़ी मामले में वह हाईकोर्ट में केस हार गए हैं। उधर, मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच पोर्न वीडियो केस के संबंध में उन्हें लेकर शिल्पा शेट्टी के घर छापा मारने पहुँची है। इसके अलावा पूनम पांडे और शर्लिन चोपड़ा ने भी कुंद्रा से जुड़े हालिया केस पर कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

गोल्ड धोखाधड़ी मामले में कुंद्रा को मिली हार

गोल्ड स्कीम धोखाधड़ी का मामला लंबे समय से बॉम्बे हाईकोर्ट में लंबित था। इस केस में एक्टर-प्रोड्यूसर सचिन जोशी ने शिल्पा शेट्टी, राज कुंद्रा और सतयुग गोल्ड के ख़िलाफ़ शिकायत की थी। उनका आरोप था कि शिल्पा और राज के नेतृत्व वाली सोने की ट्रेडिंग कंपनी सतयुग गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड द्वारा धोखाधड़ी की गई थी। आज इसी केस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने निर्देश दिया कि सतयुग गोल्ड सचिन को एक किलो सोना सौंपने के साथ-साथ एक लाख रुपए का भुगतान करे। इसके साथ कानूनी कार्रवाई में लगे 3,00,000 रुपयों का भी भुगतान करे। सचिन ने इसे सच की जीत बताया है। केस जीतने के बाद सचिन ने कहा, “मेरी लड़ाई उन सभी के लिए थी जिन्होंने सतयुग गोल्ड की इस स्कीम में इनवेस्ट किया था और उन्हें सोना कभी नहीं मिला।”

पूनम पांडे को दी थी कुंद्रा ने धमकी

राज कुंद्रा के ख़िलाफ़ खुलकर बोलने वाली पूनम पांडे ने बॉम्बे टाइम्स से बातचीत में बताया कि कैसे उनसे वो काम करवाया गया जिसे करने के लिए वो तैयार नहीं थीं। उन्होंने बताया कि जब उनका कॉन्ट्रैक्ट Armsprime के साथ खत्म हुआ तो उनके कुछ कंटेंट का गलत इस्तेमाल किया गया। इसे लेकर उन्होंने अलग से कहा भी कि जो वो लोग कर रहे हैं वो फ्रॉड और चोरी है। लेकिन इसके बदले उन्हें जवाब आया, “हम आपके लीगल एक्शन का स्वागत करते हैं।” पूनम पांडे का दावा है कि ये रिप्लाई उन्हें राज कुंद्रा ने ही भेजा था।

पूनम कहती हैं कि कॉन्ट्रैक्ट साइन करते वक्त ये साफ हो गया था कि वह लोग धोखेबाज हैं और बेहद अनप्रोफेशनल हैं। इसलिए पूनम ने अपने कॉन्ट्रैक्ट को उनके साथ तत्काल प्रभाव से खत्म कर दिया। पूनम के अनुसार, “इन लोगों के साथ प्रोफेशनल तौर पर जुड़ना मेरी सबसे बड़ी गलतियों में से एक थी। ये फ्रॉड हैं। मेरा जीवन खुली किताब जैसा है। लेकिन मुझे बहुत ट्रॉमा से गुजरना पड़ा। मैंने इनके साथ अपने पासवर्ड और जरूरी जानकारी शेयर की, इसके लिए मैं खुद को कोसती हूँ। जब हम राज की टीम के पास पहुँचे, हमें कहा गया कि पैसे तब तक नहीं मिलेंगे जब तक कि कॉन्ट्रैक्ट साइन नहीं किया जाता और उनके साथ काम करना दोबारा शुरू नहीं करती। मैंने इसके लिए साफ मना किया।”

पूनम बताती हैं कि राज कुंद्रा ने उन्हें धमकी भी दी थी। वह बताती हैं, “मैं आर्म्सप्राइम के साथ किसी भी तरह के कॉन्ट्रैक्ट को समाप्त करना चाहती थी। मैं चाहती थी कि उन्होंने मेरे नाम से जो ऐप बनाया है, उसे इंटरनेट से हटा दिया जाए। मगर कुछ ही समय बाद, राज कुंद्रा ने मुझसे व्यक्तिगत रूप से एक अन्य ऐप (हॉटशॉट्स) का हिस्सा बनने के लिए संपर्क किया। यह 100% शुद्ध ब्लैकमेल था। यह ऐसा था – ऐसा करो या परिणाम भुगतो। मेरे मना करने पर भी मेरा निजी मोबाइल नंबर उस ऐप पर, इंटरनेट पर लीक हुआ।”

शर्लिन चोपड़ा ने किया था साइबर सेल के सामने खुलासा

पोर्न मामले में कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद यह सवाल उठ रहा था कि आखिर किसने मुंबई पुलिस के सामने राज कुंद्रा का नाम लिया। अब इसी राज से पर्दा उठाते हुए शर्लिन चोपड़ा ने बताया है कि वही वह पहली शख्स थीं जिन्होंने महाराष्ट्र साइबर सेल की जाँच टीम को बयान दिया था। अपने ट्विटर पर वीडियो अपलोड करते हुए उन्होंने कहा, 

“पिछले काफी समय से मुझे पत्रकार राज कुंद्रा के मामले में कुछ कहने के लिए बोल रहे हैं। आप सबको मैं बता दूँ कि महाराष्ट्र साइबर सेल की जाँच टीम को जिसने सबसे पहले इस मामले में अपना बयान दिया वो कोई और नहीं वो मैं हूँ। महाराष्ट्र साइबर सेल की टीम को जिस व्यक्ति ने सबसे पहले आर्म्सप्राइम के बारे में बताया वो कोई और व्यक्ति नहीं मैं हूँ। कहने का मतलब यह है कि जब मुझे साइबर सेल द्वारा नोटिस भेजा गया था। मैं अंडर ग्राउंड नहीं हुई, लापता नहीं हुई, ये देश छोड़कर जाने की कोशिश नहीं की। मार्च 2021 में मैंने साइबर सेल के ऑफिस पर जाकर अपना निष्पक्ष बयान दिया। दोस्तों इस विषय पर कहने को बहुत कुछ है लेकिन फिलहाल इस पर कुछ कहना ठीक नहीं है। इसलिए मैं अनुरोध करती हूँ कि आप महाराष्ट्र साइबर सेल से संपर्क करें और अपने प्रश्न उनके सामने रखें। उनसे मेरे बयान के कुछ अंश शेयर कर देने की विनती करें।”

उल्लेखनीय है कि पोर्न केस में 19 जुलाई को गिरफ्तार हुए राज कुंद्रा की पुलिस हिरासत 23 जुलाई तक थी। लेकिन आज कोर्ट ने पुलिस रिमांड को 27 जुलाई तक कर दिया। कुंद्रा के साथ रायन की भी पुलिस कस्टडी बढ़ाई गई है। मुंबई पुलिस को शक है कि राज ने पोर्नोग्राफी से कमाए गए पैसों का इस्तेमाल ऑनलाइन सट्टेबाजी के लिए किया था। इसलिए राज कुंद्रा के यस बैंक के खाते और यूनाइटेड बैंक ऑफ अफ्रीका के खाते के बीच की लेनदेन की जाँच की जानी चाहिए। अब क्राइम ब्रांच की टीम कुंद्रा को दोबारा भायकला जेल ले जाएगी। हिरासत मिलने के बाद आमतौर पर मुंबई पुलिस आरोपितों को यही रखती है और वहीं अपनी पूछताछ करती है। लेकिन उससे पहले वह शिल्पा शेट्टी के घर छापा मारने पहुँचे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब मोपला में हुआ हिंदुओं का नरसंहार, तब गाँधी पढ़ा रहे थे खिलाफत का पाठ; बिना प्रतिकार मरने की दे रहे थे सीख

नरसंहार के बावजूद, भारतीय नेतृत्व जिसमें प्रमुख रूप से गाँधी शामिल थे, उसने हिंदुओं को उनके चेहरे पर मुस्कान के साथ मरते रहने के लिए कहा।

‘20000 हिंदुओं को बना दिया ईसाई, मेरी माँ का भी धर्म परिवर्तन’: कर्नाटक के MLA ने विधानसभा में खोला मिशनरियों का काला चिट्ठा

कर्नाटक विधानसभा में हिंदुओं के ईसाई धर्मांतरण का मसला उठा। बीजेपी विधायक ने बताया कि कैसे मिशनरी विरोध करने पर झूठे मुकदमों में फँसा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,683FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe