Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजसुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिथानी का पकड़ा गया झूठ! चौकीदार ने कहा- सुशांत की...

सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिथानी का पकड़ा गया झूठ! चौकीदार ने कहा- सुशांत की बॉडी के बारे में नहीं बताया गया

सिद्धार्थ और सुशांत एक साल फ्लैटमेट रहे थे। आत्महत्या से कुछ घंटों पहले तक भी सुशांत उनके ही साथ थे। पिथानी आईटी प्रोफेशनल हैं। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा रिया चक्रवर्ती और सुशांत के 74 वर्षीय पिता केके सिंह द्वारा लगाए गए मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों पर पिथानी से मुंबई में पूछताछ की जा रही है।

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में हर दिन एक नया सबूत या फिर एक नया खुलासा सामने आ रहा है। अब सुशांत सिंह सुशांत के फ्लैटमेट रहे सिद्धार्थ पिथानी का एक झूठ सामने आया है। टाइम्स नाउ के स्टिंग ऑपरेशन में झूठ उजागर हुआ है।

जानकारी के मुताबिक सिद्धार्थ पिथानी ने पहले दावा किया था कि उन्होंने सुशांत की बॉडी देखने के बाद चौकीदार को सूचित किया था, मगर चौकीदार का कहना है कि उसे किसी ने कुछ भी नहीं बताया।

सिद्धार्थ और सुशांत एक साल फ्लैटमेट रहे थे। आत्महत्या से कुछ घंटों पहले तक भी सुशांत उनके ही साथ थे। पिथानी आईटी प्रोफेशनल हैं। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा रिया चक्रवर्ती और सुशांत के 74 वर्षीय पिता केके सिंह द्वारा लगाए गए मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों पर पिथानी से मुंबई में पूछताछ की जा रही है।

इससे पहले सिद्धार्थ पिथानी ने समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ एक इंटरव्यू में यह स्वीकार किया था कि वह सुशांत को एक डॉक्टर के कहे अनुसार दवाइयाँ देते थे। उन्होंने कहा था, “मैंने दो गोलियाँ दीं, लेकिन मुझे नहीं पता कि वे किस चीज़ की थी।”

हालॉंकि, रिया चकवर्ती से जुड़े सवाल पूछे जाने पर सिद्धार्थ बीच में ही रिपब्लिक टीवी का इंटरव्यू छोड़कर चले गए। इससे पहले उन्होंने रिया को जानने से इनकार किया था। साथ ही सुशांत के पिता केके सिंह के आरोपों को भी खारिज कर दिया था।

सुशांत सिंह राजपूत केस में पैसों के लेनदेन की जाँच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने रिया चक्रवर्ती, उनके भाई और उनके पिता ले मोबाइल फ़ोन ज़ब्त कर लिए हैं। ख़बरों के मुताबिक ED ने चक्रवर्ती परिवार के 4 मोबाइल फ़ोन 2 आई पैड और एक लैपटॉप ज़ब्त किया है।

टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट के मुताबिक ED ने रिया चक्रवर्ती के 2 मोबाइल फ़ोन के अलावा उनके पिता और भाई शोविक के फ़ोन भी ज़ब्त कर लिए हैं। ED अभी तक 2 बार रिया चक्रवर्ती से इस केस में पूछताछ कर चुकी है। प्रवर्तन निदेशालय ने पहली बार 7 अगस्त को रिया के बयान दर्ज किए थे, रिया के जवाबों से संतुष्ट नहीं होने पर ED ने 10 अगस्त को दोबारा रिया चक्रवर्ती, उनके भाई और पिता से पूछताछ की थी।

इसके साथ ही सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह की रिया चक्रवर्ती और सुशांत की एक्स मैनेजर श्रुति मोदी के बीच हुई बातचीत का व्हाट्सऐप चैट सामने आया है। इस चैट में सुशांत के पिता श्रुति मोदी से कहते हैं, “मैं जानता हूँ कि सुशांत के सारे कर्ज और उसे भी तुम देखती हो। वह अभी किस स्थिति में है, इसके लिए बात करना चाह रहे थे। सुशांत से बात हुई थी तो कह कह रहा था कि मैं बहुत परेशान हूँ। अब तुम सोचो कि एक पिता को कितनी चिंता होगी उसके लिए। इसलिए तुमसे बात करना चाह रहा था। अब तुम बात नहीं कर रही हो तो मैं मुंबई जाना चाहता हूँ। फ्लाइट का टिकट भेज दो।”

श्रुति मोदी और रिया चक्रवर्ती से सुशांत के पिता की बातचीत

वहीं, सुशांत के पिता ने व्हाट्सऐप पर रिया से बात करते हुए कहा था, “जब तुम जान गई कि मैं सुशांत का पापा हूँ, तो बात क्यों नहीं की। आखिर बात क्या है? फ़्रेंड बनकर उसका देखभाल और उसका इलाज करवा रही हो तो मेरा भी फर्ज बनता है कि सुशांत के बारे में सारी जानकारी मुझे भी रहे। इसलिए कॉल कर मुझे भी सारी जानकारी दो।”

सुशांत के पिता द्वारा भेजे गए मैसेज के चैट स्क्रीनशॉट में साफ देखा जा सकता है कि दोनों ही मैसेजेस में ब्लू टिक शो हो रहे हैं जिसका साफ अर्थ है कि मैसेज देख लिए गए हैं। फिर भी सुशांत के पिता को जवाब देना मुनासिब नहीं समझा गया। इस चैट के स्क्रीन शॉट में तारीख और समय दोनों साफ साफ देखे जा सकते हैं। रिया को सुशांत के पिता ने 29 नवंबर 2019 को ये मैसेज दिन में 12.34 पर भेजा था। वहीं श्रुति मोदी को सुशांत के पिता ने इसी दिन 12.16 मिनट पर मैसेज भेजा था।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई में स्थित अपने घर में फाँसी लगाकर जान दे दी थी, जिसके बाद से मुंबई पुलिस लगातार इस मामले की जाँच कर रही थी। वहीं, पटना में सुशांत के पिता द्वारा एफआईआर दर्ज करवाने के बाद बिहार पुलिस की एक टीम भी इस मामले की जाँच के लिए मुंबई पहुँची थी। अब यह मामला सीबीआई के पास है। वहीं, दूसरी ओर इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय भी अपनी जाँच में जुटी हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -