Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजथाने के बाहर मुस्लिम भीड़, धमकी सिर तन से जुदा, हाथ-पैर काटने की… SHO...

थाने के बाहर मुस्लिम भीड़, धमकी सिर तन से जुदा, हाथ-पैर काटने की… SHO आनंद सिंह ठाकुर अकेले भिड़े, सोशल मीडिया पर कहा जा रहा- रियल सिंघम

जब उन्मादी भीड़ दमोह थाने पर पहुँचकर चिल्लाती है और हाथ-पैर काटने की धमकी देती है तो SHO आनंद सिंह ठाकुर अकेले ही उन्मादी भीड़ में घुस जाते हैं। वे कहते हैं, "मैं अकेले आ गया हूँ। मैं अकेला खड़ा होता हूँ, हाथ लगाओ कोई। ये कौन सी बात होती है कि हाथ काट देंगे, जब मैं बोल रहा हूँ कि हम कार्रवाई करेंगे।"

मध्य प्रदेश के दमोह में कट्टरपंथी मुस्लिमों की एक भीड़ ने चार हिन्दू युवकों के हाथ-पैर और सिर काटने की धमकी दी गई। यह धमकी पुलिस के सामने मुस्लिमों की भीड़ इकट्ठा कर के दी गई। यहाँ मौजूद पुलिसकर्मियों से भी अभद्रता की गई और काफी बवाल काटा गया। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। इसका एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में जुटे कट्टरपंथियों के बीच इंस्पेक्टर आनंद सिंह ठाकुर पूरी निर्भयता के साथ भीड़ को चेतावनी देते नजर आ रहे हैं।

यह पूरा मामला मध्य प्रदेश के दमोह का है, जहाँ रविवार (3 फरवरी 2024) को चार हिन्दू युवकों का अंसार खान नाम के एक मुस्लिम दर्जी से कुछ विवाद हो गया। इस विवाद को देखकर एक इमाम हाफिज रिजवान खान यहाँ पहुँचा। बताया गया कि युवकों के कपड़े समय पर सिलकर नहीं दिए गए, जिसके कारण उनका आपस में विवाद हो गया।

यह विवाद इतना बढ़ गया कि मारपीट तक की नौबत आ गई। दावा यह भी किया गया है कि इस दौरान दर्जी अंसार खान के साथ-साथ इमाम हाफिज रिजवान खान की भी पिटाई कर दी गई। यहाँ तक कि मुस्लिम पक्ष इमाम की बाइक तोड़ने का भी आरोप उन युवकों पर लगा रही है। आखिरकार दर्जी और इमाम ने मामले की शिकायत नजदीकी पुलिस थाने में कर दी।

शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने FIR दर्ज करके आगे की जाँच शुरू कर दी। पुलिस जब तक इन युवकों पर एक्शन लेती, तब तक इमाम की पिटाई की अफवाह शहर भर में फैला दी गई। इसके बाद सैकड़ों मुस्लिमों की भीड़ कोतवाली थाने के बाहर इकट्ठा हो गई। वे पुलिस पर 24 घंटे में उन्हें गिरफ्तार करने का दबाव बनाने लगे। इस दौरान यह भीड़ पुलिस और हिन्दुओं को धमकियाँ देने लगी।

इसी बीच एक मुस्लिम व्यक्ति अकरम राईन ने यहाँ पर लाउडस्पीकर लगाकर मुस्लिमों को भड़काना शुरू कर दिया। उसने कहा कि यदि पुलिस हिन्दू युवकों पर कार्रवाई नहीं करती तो मुस्लिम खुद ही उनके हाथ-पैर काट देंगे। उसने इन हिंदू युवकों का ‘सर तन से जुदा’ करने की भी धमकी दी। इस दौरान भीड़ अल्लाह-हू-अकबर और नारा-ए-तकबीर जैसे आपत्तिजनक नारे लगाने लगी।

जब पुलिस थाने SHO आनंद सिंह ठाकुर ने भीड़ में अकेले घुसकर भड़काने वाले युवक से माइक लिया और उद्दंडता पर उतरे मुस्लिमों को कानून प्रक्रिया में बाधा डालने की चेतावनी देने लगे। इसके बाद राईन की जहरीले बयानबाजी से भड़के मुस्लिम उनके धक्का-मुक्की करने की कोशिश करने लगे। हालाँकि, SHO आनंद सिंह ठाकुर के सख्त रूप को देखकर भीड़ उन्हें अपने दबाव में नहीं ले सकी।

जब उन्मादी भीड़ थाने पर पहुँचकर चिल्लाती है और हाथ-पैर काटने की धमकी देती है तो SHO आनंद सिंह ठाकुर अकेले ही उन्मादी भीड़ में घुस जाते हैं। वे कहते हैं, “मैं अकेले आ गया हूँ। मैं अकेला खड़ा होता हूँ, हाथ लगाओ कोई। ये कौन सी बात होती है कि हाथ काट देंगे, जब मैं बोल रहा हूँ कि हम कार्रवाई करेंगे।”

SHO आनंद सिंह ठाकुर ने भीड़ को समझाया और साथ ही हंगामा कर रहे मुस्लिम युवकों को शांत रहने और हाथ-पैर काटने की धमकी देने वाले को चेतावनी दी। इस पूरे घटनाक्रम के कई वीडियो सामने आए हैं। SHO आनंद सिंह ठाकुर की बहादुरी की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ की जा रही है। उन्हें रियल सिंघम कहा जा रहा है।

दमोह कोतवाली SHO आनंद सिंह ठाकुर ने बताया कि अकरम राइन के खिलाफ आर्म्स एक्ट समेत कई मामले दर्ज हैं। माइक से भड़काऊ भाषण देने के बाद पुलिस ने उसके खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 153ए, 141, 147 के तहत केस दर्ज किया है। SHO ने बताया कि जब पुलिस ने अकरम को गिरफ्तार किया तो उसके पास से एक पिस्टल भी जब्त की गई।  

पुलिस ने इस पूरे विवाद में 4 FIR दर्ज की है। जिन हिन्दू युवकों पर दर्जी और इमाम की पिटाई का आरोप है, उन पर भी मामला दर्ज किया गया है। वहीं, हंगामा मचाने वाली मुस्लिम भीड़ के 40 अज्ञात लोगों के विरुद्ध भी पुलिस ने मामला दर्ज किया है। हाथ-पैर काटने की धमकी देने वाले अकरम राईन को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है।

अकरम पर रासुका लगाई गई है। इसके अलावा पुलिस ने आरिफ, राशिद, समीर और मोहम्मद इंतशार को भी गिरफ्तार किया है। फुटेज के आधार पर दमोह में दंगा भड़काने और हंगामा काटने वालों की पहचान की जा रही है। इस मामले का मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने भी संज्ञान लिया है और इस घटना के मैजिस्ट्रेट जाँच के आदेश दिए हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -