Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज4 साल के बेटे की हत्या करने से पहले सूचना सेठ ने सुनाई थी...

4 साल के बेटे की हत्या करने से पहले सूचना सेठ ने सुनाई थी लोरी, खिलौनों के बीच छिपा रखी थी लाश: खुद की भी लेना चाहती थी जान

अपने बेटे की हत्या करने वाली एक स्टार्टअप की CEO सूचना सेठ को लेकर गोवा पुलिस क्राइम स्पॉट पर पहुँची और सीन को री-क्रिएट किया। सूचना सेठ ने बेटे की हत्या के बाद खुद की भी जान देने की कोशिश की थी। हालाँकि, बाद में वो बेटे के शव को खिलानों से भरे बैग में लेकर टैक्सी के सहारे भाग निकली।

अपने बेटे की हत्या करने वाली एक स्टार्टअप की CEO सूचना सेठ ने हत्या से पहले अपने बेटे को लोरी सुनाई थी। हत्या के बाद सूचना सेठ ने खुद की जान लेने की भी कोशिश की। हालाँकि, बाद में वो बेटे के शव को खिलानों से भरे बैग में लेकर टैक्सी के सहारे भाग निकली। टैक्सी ड्राइवर की चतुराई से उसे कर्नाटक के चित्रदुर्ग में गिरफ्तार किया गया था। गोवा पुलिस शुक्रवार (15 जनवरी 2024) को सूचना को लेकर क्राइम स्पॉट पर पहुँची और सीन को री-क्रिएट किया।

इतना ही नहीं, पुलिस को टिशू पेपर पर आई लाइनर से लिखा हुआ एक नोट भी मिला है। उसे फाड़ने की कोशिश की गई थी। यह सूचना सेठ के सामान से मिला है। सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि उस नोट पर सूचना सेठ ने लिखा था कि वह किसी भी कीमत पर अपने बेटे की कस्टडी अपने पति को नहीं देगी। कोर्ट कहेगा तब भी नहीं। बेटे से पति को मिलने की कोर्ट द्वारा दी गई इजाजत से भी वह नाराज थी।

गोवा पुलिस ने क्राइम सीन किया री-क्रिएट

गोवा पुलिस शुक्रवार (12 जनवरी 2024) को सूचना सेठ को लेकर उस होटल के कमरे में पहुँची, जहाँ उसने अपने बेटे की हत्या की थी। वारदात वाली जगह पर पुलिस ने क्राइम सीन को री-क्रिएट किया और हत्या के मामले की गहराई से जाँच की। इस बीच, सूचना सेठ का मेडिकल कराया गया है। उसकी जाँच मनोचिकित्सक से भी कराई गई है।

सूत्रों के मुताबिक, सूचना सेठ ने बच्चे का तकिए से नाक-मुँह दबाकर या किसी कपड़े के सहारे गला घोंट दिया था। सूचना सेठ के होटल वाले कमरे से कफ सीरप की दो खाली शीशियाँ मिली हैं। पुलिस को आशंका है कि बेटे की हत्या से पहले सूचना सेठ ने उसे नशे की भारी डोज दी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्चे का स्ट्रगल करने का निशान नहीं मिला है। संभवत: वह भारी नशे में था।

बच्चे की हत्या के बाद जब उसे चित्रदुर्ग में गिरफ्तार किया गया, उस समय पुलिस ने उसका बैग खुलवाया। उसमें कुछ नहीं मिला था। जब बैग खुलवाया गया था तो उसमें भी कुछ नहीं दिखा। हालाँकि, पुलिस ने जब उसमें कपड़े निकाले तो खिलौनों के नीचे उसके बेटे का शव बरामद हुआ था। पुलिस के पूछने पर सूचना सेठ ने आराम से जवाब दिया था कि ये उसके बेटे का शव है।

इसके बाद उसने जाँच को भटकाने की तमाम कोशिशें कीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सूचना सेठ को अपने बच्चे से तो लगाव था, लेकिन उसे अपने बच्चे में अपने पति का अक्स भी दिखता था, जो उसके पति के साथ बिगड़े रिश्ते की याद दिलाता था। वह अपने बेटे को पति से किसी भी कीमत पर मिलने देना नहीं चाहती थी। जिस दिन उसने बेटे की हत्या की थी, उस दिन उसके पति ने बेटे से मिलने का आग्रह किया था।

सूचना सेठ ने काटी थी हाथ की नस

जानकारी के मुताबिक, सूचना सेठ ने अपने बाएँ हाथ की कलाई को भी काटा था। उसी का खून होटल में पड़ा मिला था। बाद में होटल के कर्मचारियों ने कमरे में खून के धब्बे देखे थे। कर्मचारियों ने यह भी कहा था कि सूचना सेठ के साथ उसका बेटा जाते समय नहीं था। वो प्राइवेट टैक्सी लेकर बेंगलुरू के लिए रवाना हुई थी, जबकि होटल के कर्मचारियों ने उसे एयरपोर्ट जाने का सुझाव दिया था।

कैब के ड्राइवर रेजोन डिसूजा ने मीडिया से बातचीत में कहा, “मुझे सोमवार की सुबह 10.30 के आसपास गोवा के कैलंगुट पुलिस स्टेशन से फोन आया था। उस समय मैं सूचना को लेकर बेंगलुरू के रास्ते में था। मुझे आसपास के किसी पुलिस स्टेशन तक पहुँचने को कहा गया था। ऐसे में मैं शौचालय जाने के बहाने एक रेस्टोरेंट पर रुका और उसके चौकीदार से नजदीकी पुलिस स्टेशन की जानकारी माँगी। फिर मैं पुलिस स्टेशन पहुँचा और वहीं पर बैग में बच्चे का शव बरामद हुआ। शव के ऊपर कपड़ा था और उसमें सबसे ऊपर खिलौने रखे थे।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -