Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजमंदिर पर पथराव, शिवलिंग-नंदी की मूर्ति को खंडित करने की कोशिश: आनंद के उमरेठ...

मंदिर पर पथराव, शिवलिंग-नंदी की मूर्ति को खंडित करने की कोशिश: आनंद के उमरेठ की घटना, नाले में मिला भगवा झंडा; गुजरात पुलिस ने शुरू की जाँच 

"रात में मंदिर पर पथराव किया गया। वहाँ से 200 मीटर की दूरी पर जोरावर बावा की दरगाह है। तीन-चार दिन पहले ही मंदिर में भगवा झंडे लगाए गए थे। बीती रात मंदिर में पथराव किया गया।"

नवरात्रि आने वाली है लेकिन उससे पहले आनंद के उमरेठ में एक हिंदू मंदिर पर पथराव की घटना सामने आई है। मंदिर पर लगे भगवा झंडे को उतार कर नाले में फेंक दिया गया और शिवलिंग व नंदी की मूर्ति को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। हालाँकि, अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि इस कृत्य को किसने अंजाम दिया। फिलहाल गुजरात पुलिस जाँच कर रही है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना आनंद के उमरेठ स्थित ओड बाजार के पास एक झील के किनारे स्थित सिद्धनाथ महादेव मंदिर में हुई। बुधवार (11 अक्टूबर, 2023) की रात कुछ अज्ञात हमलावरों ने यहाँ मंदिर पर पथराव किया। जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिसमें मंदिर के आसपास पत्थर और ईंटें नजर आ रही हैं। 

गुरुवार सुबह जब पुजारी और अन्य श्रद्धालु मंदिर पहुँचे तो उन्हें यह पत्थर नजर आया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। खबरों के मुताबिक इस हमले में शिवलिंग को नुकसान पहुँचाने की कोशिश की गई।  साथ ही वहाँ फहराए गए भगवा ध्वज का भी अपमान किया गया। अगली सुबह जब झंडा दिखाई नहीं दिया तो भक्तों ने खोजा तो नाले में एक झंडा मिला।

स्थानीय लोगों ने ऑपइंडिया को बताया क्या हुआ?

ऑपइंडिया ने यह जानने के लिए स्थानीय स्रोतों से संपर्क किया कि जिस क्षेत्र में मंदिर स्थित है, वहाँ हिंदू-मुस्लिम दोनों समुदाय रहते हैं और कुछ साल पहले भी इसी तरह की घटना हुई थी, जिसके कारण मंदिर के चारों ओर बाड़ लगाई गई थी। साथ ही हिंदू युवक भी हर रात मंदिर के पास बैठते हैं।

जानकारी के मुताबिक घटना की रात 11 बजे तक हिंदू युवक मंदिर में बैठे थे। उनके जाने के बाद दोपहर 12 बजे के बाद मंदिर पर पथराव किया गया और वहाँ लगे भगवा ध्वज को तोड़कर नाले में फेंक दिया गया। साथ ही शिवलिंग को भी तोड़ने की कोशिश की गई लेकिन जाल होने के कारण बड़े पत्थर नहीं जा सके। वीडियो में गर्भगृह में छोटे-छोटे पत्थर भी नजर आ रहे हैं। वहीं मंदिर के बाहर स्थापित नंदी की मूर्ति को भी नुकसान पहुँचाने की कोशिश की गई लेकिन पत्थर की मूर्ति आसानी से नहीं टूटी। 

स्थानीय हिंदुओं ने वहाँ के मुस्लिम युवकों पर आरोप लगाया है और कहा है कि इसमें चार युवक शामिल थे। हालाँकि, उनकी पहचान नहीं हो सकी। 

तीन-चार दिन पहले लगाया था भगवा झंडा, 200 मीटर दूर है दरगाह

ऑपइंडिया ने मंदिर के पुजारी से भी संपर्क किया। उन्होंने कहा कि रात में मंदिर पर पथराव किया गया। वहाँ से 200 मीटर की दूरी पर जोरावर बावा की दरगाह है। तीन-चार दिन पहले ही मंदिर में भगवा झंडे लगाए गए थे। बीती रात मंदिर में पथराव किया गया। मंदिर के शिखर पर ईंटें भी फेंकी गईं। पिछले गेट पर भगवा झंडा लगा था, उसे भी फाड़कर नाले में फेंक दिया गया।

उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है और पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है। पुजारी ने कहा कि इस तरह की घटना तब हुई है जब नवरात्र नजदीक है, ऐसे में मामले की सख्ती से जाँच  जरूरी है। 

पुलिस ने कहा- शिकायत मिली है, अभी जाँच चल रही है

घटना को लेकर पुलिस का कहना है कि इस मामले में अभी जाँच जारी है। ऑपइंडिया द्वारा संपर्क किए जाने पर उमरेठ पुलिस स्टेशन के पीएसआई घनश्यामसिंह पावरा ने कहा, “मंदिर के बाहर ईंट के टुकड़े पड़े हुए पाए गए।”

उन्होंने कहा, “हमें यह भी लगता है कि यह शराबी तत्वों का काम है क्योंकि गर्भगृह में कोई पथराव नहीं हुआ है या मंदिर को नुकसान पहुँचाने का कोई प्रयास नहीं हुआ है,अभी तक किसी की पहचान नहीं हो पाई है। और मामले में जाँच चल रही है।”

हालाँकि, वायरल वीडियो में मंदिर के गर्भगृह में पत्थर के छोटे-छोटे टुकड़े भी नजर आ रहे हैं, जो संभवत: जाली के कारण बाहर फँसे पत्थर के टुकड़े हो सकते हैं। हालाँकि, जाँच के बाद ही सही तथ्य सामने आ सकेंगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -