Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजरात 3 बजे रिया को घर छोड़ने गए थे सुशांत, सुबह फँदे से लटके...

रात 3 बजे रिया को घर छोड़ने गए थे सुशांत, सुबह फँदे से लटके मिले: डेथ मिस्ट्री में एक और चौंकाने वाला दावा

"मैंने हर चीज के बारे में ट्वीट किया है और सभी ट्वीट में सीबीआई को टैग किया है। अगर वो मुझसे संपर्क करते है तो मैं चश्मदीद की पहचान और सभी जानकारी सीबीआई को दे दूँगा। लेकिन इस मामले में मैं मुंबई पुलिस को कोई जानकारी साझा नहीं करूँगा।"

8 जून 2020: रिया चकवर्ती का दावा रहा है कि इसी तारीख को वे सुशांत सिंह राजपूत का फ्लैट छोड़कर चली गईं थी। इसके बाद से दोनों का संपर्क नहीं था।

14 जून 2020: सुशांत अपने घर में फँदे से लटके मिले थे।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत शुरुआत में आत्महत्या लग रही थी। लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया मौत को लेकर रहस्य गहराता गया। उनकी गर्लफ्रेंड रहीं रिया चकवर्ती जो इस समय ड्रग्स मामले में जेल में बंद हैं, पर कई सवाल उठे। अब बीजेपी नेता के एक दावे से रिया की भूमिका और संदिग्ध हो गई है। इसके मुताबिक 13 जून को सुशांत और रिया की मुलाकात हुई थी। सुशांत उन्हें घर छोड़ने भी गए थे।

मुंबई बीजेपी के महासचिव विवेकानंद गुप्ता ने रिपब्लिक टीवी को दिए एक इंटरव्यू में दावा किया, “13 जून की देर रात को एक पार्टी के बाद सुशांत रिया को छोड़ने उनके अपार्टमेंट में आए थे। इसकी जानकारी उन्हें एक चश्मदीद ने दी है।” उन्होंने चश्मदीद की बातों का जिक्र करते हुए बताया 13 और 14 की दरम्यानी रात की यह घटना है। सुशांत सिंह राजपूत रात के 2 या 3 बजे के आसपास रिया को छोड़ने उसके फ्लैट तक गए थे। फिर 14 की सुबह वे मृत मिले। इसलिए यह कहना कि 8 जून को छोड़ दिया था, यह गुमराह करने की बात है क्योंकि चश्मदीद ने उन्हें साथ में देखा है।”

उन्होंने कहा, “मैंने हर चीज के बारे में ट्वीट किया है और सभी ट्वीट में सीबीआई को टैग किया है। अगर वो मुझसे संपर्क करते है तो मैं चश्मदीद की पहचान और सभी जानकारी सीबीआई को दे दूँगा। लेकिन इस मामले में मैं मुंबई पुलिस को कोई जानकारी साझा नहीं करूँगा।”

इसके अलावा उन्होंने कूपर अस्पताल द्वारा किए गए पोस्टमार्टम पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने कहा, “मुंबई पुलिस दवाब में काम कर रही थी, जिसके कारण दो-तीन दिन की जाँच को 55 दिन खींच दिया गया। ये हत्या का मामला है जिसे बिना जाँच के ही पुलिस ने आत्महत्या करार दिया था।” बता दें बीजेपी नेता का यह बयान सुशांत के मर्डर केस को एक अलग दिशा दे सकता है।

सुशांत की बॉडी नीचे उतारने वाले पिठानी बन सकते हैं सरकारी गवाह

सुशांत मामले में चल रही जाँच में सिद्धार्थ पिठानी सरकारी गवाह बन सकते हैं। रिपब्लिक टीवी के अनुसार, वह धारा 164 के तहत केंद्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) को अपना बयान दर्ज करा सकते हैं।

बता दें पिठानी ने CBI को दिए अपने बयान में दावा किया था कि “सुशांत अपनी मैनेजर दिशा सालियान की मौत की खबर सुनकर बेहोश हो गए थे। होश में आने के बाद, उन्होंने कहा कि ‘मुझे मार दिया जाएगा’ और इसके एक हफ्ते बाद ही उनकी मौत हो गई।” रिपब्लिक टीवी के सूत्रों के मुताबिक, पिठानी ने अपने बयान में ये भी बताया कि ‘दिशा की मौत के बाद सुशांत की लिव-इन-गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती उनका लैपटॉप और अन्य उपकरणों के साथ घर छोड़कर चली गई थी।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe