Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजड्रग्स मामले में दीपेश गिरफ्तार, NCB कर रही 'बड़ी मछली' की तलाश: मौत से...

ड्रग्स मामले में दीपेश गिरफ्तार, NCB कर रही ‘बड़ी मछली’ की तलाश: मौत से पहले अपने पैसों को लेकर चिंतित थे सुशांत

"कस्टडी में लेने का मुख्य मकसद उनके रोल के बारे में जानना है। हमें मीडिया से काफी सबूत मिले हैं। एनसीबी कंप्लेंट केस दर्ज करती है पुलिस की तरह FIR नहीं होती है। कंप्लेंट केस में हमारे पास 60 दिन का समय होता है लेकिन बड़े केस में हमें 6 महीने मिलते हैं। पूछताछ के लिए जो लोग रिलेवेंट हैं हम उसे बुलाएँगे। जिसमें रिया भी शामिल है। हमें बड़ी मछली की तलाश है।"

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सामने आए ड्रग कनेक्‍शन के बाद नारकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) को अब ‘एक बड़ी मछली’ की तलाश है। NCB ने अब सुशांत के घर के हेल्पर दीपेश सावंत को भी गिरफ्तार कर लिया है। वहीं एक चैट के जरिए इस बात का खुलासा हुआ है कि मौत से पहले सुशांत अपने पैसों को लेकर काफी चिंतित थे।

एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा ने कहा, “एनसीबी ने सुशांत सिंह मौत केस को लेकर उनके हाउस हेल्पर दीपेश सावंत को गिरफ्तार किया है। मल्होत्रा ने कहा, “ड्रग्स की खरीद और उसके रख-रखाव में सावंत के खिलाफ डिजिटल साक्ष्य और बयानों के आधार पर यह गिरफ्तारी हुई है। उसे रविवार की सुबह 11 बजे कोर्ट में पेश किया जाएगा। गिरफ्तार किए गए लोगों की आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की जा रही है।”

बता दें ड्रग्स मामले में एनसीबी ने अबतक 4 लोगों को हिरासत में लिया है। जिनमें शोविक चक्रवर्ती, सैमुअल मिरांडा, जैद विलात्रा (21) और आब्देल बासित परिहार (23) शामिल है। रिया का भाई शोविक और सुशांत के हाउस मैनेजर रहे सैमुअल 9 सितंबर तक एनसीबी की रिमांड पर रहेंगे। ड्रग्स की खरीदारी की बात कबूलने पर एनसीबी उनके खिलाफ IPC सेक्शन 20 (B) के तहत केस दर्ज किया है।

NCB के अधिकारी ने कहा, “कस्टडी में लेने का मुख्य मकसद उनके रोल के बारे में जानना है। हमें मीडिया से काफी सबूत मिले हैं। एनसीबी कंप्लेंट केस दर्ज करती है पुलिस की तरह FIR नहीं होती है। कंप्लेंट केस में हमारे पास 60 दिन का समय होता है लेकिन बड़े केस में हमें 6 महीने मिलते हैं। पूछताछ के लिए जो लोग रिलेवेंट हैं हम उसे बुलाएँगे। जिसमें रिया भी शामिल है। हमें बड़ी मछली की तलाश है।”

अधिकारी ने कहा, ‘हम इस जाँच को रेशनल रिजल्ट तक ले जाएँगे। अगर इस मामले में कंगना रनौत कुछ शेयर करेंगी तो उसकी भी तहकीकात की जाएगी। साथ ही ड्रग्स केस में कोई इंटरनेशनल और इंटरस्टेट कड़ी होने की स्थिति में उसकी भी जाँच की जाएगी।

चैट से हुआ खुलासा, पैसों को लेकर चिंतित थे सुशांत

एबीपी की एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार, सुशांत सिंह राजपूत और महिंद्रा बैंक के रिलेशनशिप मैनेजर हरीश के बीच हुए व्हाट्सएप चैट के जरिए यह बात सामने आई है कि सुशांत अपनी मेहनत की कमाई के पैसों को लेकर काफी टेंशन में थे। वो किसी से अपने पैसों को बचाना चाहते थे। एक तरफ जहाँ सुशांत अपने फिज़ूल खर्चे को रोकना चाहते थे वहीं वे बैंक अकाउंट का ऐक्सेस भी अपने कंट्रोल में करना चाहते थे।

वहीं सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ ने भी जाँच एजेंसी को दिए अपने बयान में कहा था, “सुशांत ने मुझे बताया कि उनकी हालात फ़िलहाल ठीक नहीं उन्हें मेरे साथ की जरुरत है। मैं फ़ौरन अहमदाबाद से मुंबई सुशांत के घर पहुँचा जब मैं सुशांत के बेडरूम में पहुँचा तो सुशांत मुझ से गले लगकर रोने लगा। रोते रोते उसने मुझे बताया कि वो एक्टिंग छोड़कर घर का सब कुछ बेचकर पावना के फार्म पर रहने जाने वाले है। साथ सुशांत ने बताया कि अब महिने के घर का खर्च का बजट केवल 30000 में पूरा करना है। सुशांत ने आगे कहा कि वो पावना के फार्म हाउस में खेती करने वाले है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

सूरत में मंदिरों-घर की छत पर लाउडस्पीकर, सुबह-शाम हनुमान चालीसा; शनिवार को सत्संग भी: धर्म के लिए हिंदू हुए लामबंद

सूरत में आठ महीने पहले लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा की हुई शुरुआत ने कैसे हिंदुओं को जोड़ा, इसका संदेश कितना गहरा हुआ, पढ़िए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe