Wednesday, December 8, 2021
Homeदेश-समाज'पत्रकार' आतंकी कर सकता है CM योगी पर हमला: खुफिया विभाग की रिपोर्ट, UP...

‘पत्रकार’ आतंकी कर सकता है CM योगी पर हमला: खुफिया विभाग की रिपोर्ट, UP पुलिस ने जारी किया अलर्ट

गोरखपुर में पत्रकारों का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुँचना बहुत आसान रहता है, क्योंकि सीएम योगी मंदिर में क्षेत्रीय पत्रकारों के साथ सहजता से मिलते हैं। इसीलिए आतंकी इसी का फायदा उठा सकते हैं।

खुफिया विभाग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आतंकी हमले की आशंका जताई है। साथ ही बताया गया है कि इस हमले को किसी भी वीवीआईपी कार्यक्रम में पत्रकार के द्वारा (या पत्रकार के छद्म रूप में) भी अंजाम दिया जा सकता है। इसे लेकर यूपी पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया है। साथ ही गोरखपुर पुलिस ने निर्णय लिया है कि जिले के पत्रकारों के लिए आई कार्ड जारी किए जाएँगे।

खुफिया विभाग ने पुलिस को जानकारी दी है कि सीएम योगी आदित्यनाथ पर गोरखपुर में या गोरखनाथ मंदिर में आतंकी हमला कर सकते हैं। यह आतंकी पत्रकार के वेष में भी हो सकते हैं। इसके बाद यूपी पुलिस गोरखपुर जिले में अलर्ट जारी कर दिया है। साथ ही मामले को गंभीरता से लेते हुए गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा बड़ा दी गई है। उधर गोरखपुर पुलिस ने निर्णय लिया है कि जिले में पत्रकारों के लिए आईकार्ड जारी किए जाएँगे। वहीं पुलिस ने साफ किया है कि किसी भी मीडिया से जुड़े पत्रकार की पहले जाँच के बाद ही आईकार्ड जारी की जाएगी। साथ ही यह आईकार्ड सीएम की कवरेज के लिए मान्य होंगे।

दरअसल माना जा रहा है कि गोरखपुर में पत्रकारों का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुँचना बहुत आसान रहता है, क्योंकि सीएम योगी मंदिर में क्षेत्रीय पत्रकारों के साथ सहजता से मिलते हैं। इसीलिए आतंकी इसी का फायदा उठा सकते हैं। वहीं सीएम योगी गोरखपुर में रहने के दौरान गोरखनाथ मंदिर परिसर में जनता दरबार लगाते हैं। इस दौरान भी योगी आदित्यनाथ स्थानीय लोगों से आसानी से मुलाकात करते हैं। एडीजी जोन दावा शेरप्पा ने बताया कि पत्रकारों को असुविधा न हो और उनकी पहचान भी हो सके, इसके लिए पहचान पत्र बनवाए जा रहे हैं। जल्द ही अधिकृत पत्रकारों को फोटोयुक्त पहचान पत्र मुहैया कराए जाएँगे।

आपको बता दें कि पिछले काफी समय से हिंदूवादी संगठन और हिंदू नेता आतंकियों के निशाने पर हैं। लखनऊ में पहले हुई कमलेश तिवारी की हत्या और फिर हत्या रंजीत बच्चन की हत्या इस बात का सटीक उदाहरण है। वहीं पिछले दिनों आई खबर के मुताबिक संघ प्रमुख मोहन भागवत पर आतंकी हमले की आशंका को लेकर संघ के प्रमुख केन्दों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना काल में ₹42 लाख का क्रिकेट मैच… खिलाड़ी झारखंड के ‘माननीय’ MLA लोग, मैन ऑफ द मैच खुद CM सोरेन

कोरोना महामारी के दौरान 42 लाख रुपए का क्रिकेट मैच खेल लिया झारखंड के विधायकों ने। मैन ऑफ द मैच खुद बने मुख्यमंत्री सोरेन।

‘वसीम रिजवी का सिर कलम करने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम’: कॉन्ग्रेस नेता ने खुलेआम किया दोबारा ऐलान

कॉन्ग्रेस विधायक राशिद खान ने मंगलवार को कहा कि वह शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी का सिर काटने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम देने की बात पर अभी भी कायम हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,284FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe