Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजकोरोना को लेकर युवक ने फैलाई फर्जी खबर, मामला तूल पकड़ने के बाद ...

कोरोना को लेकर युवक ने फैलाई फर्जी खबर, मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

नितिश की आईडी से आपत्तिजनक ट्वीट करने का मामला प्रकाश में आया है। उसने ट्वीट किया था कोरोना के कारण एक धार्मिक स्थल सील कर दिया गया है। इसके अलावा कई आपत्तिजनक बातें लिखी थी। भड़काऊ टिप्पणी से माहौल खराब होने का डर बन गया।

कोरोना वायरस इस समय बेहद संवेदनशील मामला है। इसपर इस समय खुद सतर्क रहने के साथ-साथ आस-पास के लोगों में जागरुकता फैलाते रहने की जरूरत है। लेकिन कुछ असामाजिक तत्व ऐसे हैं जो इतने गंभीर विषय पर फर्जी की खबरें फैलाकर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। मगर, ऐसे लोगों के प्रति अब प्रशासन सख्त हो गया है। यूपी के कर्नलगंज में पुलिस ने ऐसे ही युवक के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया है। युवक पर आरोप है कि उसने कोरोना के खतरे को लेकर आपत्तिजनक ट्वीट किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, युवक की हरकत का मालूम पड़ते ही पुलिस एक्शन में आई और उसके ख़िलाफ एफआईआर दर्ज की गई। युवक की पहचान नितीश साहू के रूप में हुई। पुलिस का कहना है कि आरोपित की तलाश कर उसपर कार्रवाई की जाएगी।

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक, नितिश की आईडी से आपत्तिजनक ट्वीट करने का मामला प्रकाश में आया है। उसने ट्वीट किया था कोरोना के कारण एक धार्मिक स्थल सील कर दिया गया है। इसके अलावा कई आपत्तिजनक बातें लिखी थी। भड़काऊ टिप्पणी से माहौल खराब होने का डर बन गया। सोशल साइट्स पर एक दूसरे के खिलाफ लोगों ने टिप्पणी शुरू कर दी।

मामला संज्ञान में आने के बाद कर्नलगंज पुलिस ने नितीश साहू के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। अब साइबर सेल की मदद से पता लगाया जा रहा है कि नीतिश साहू कौन है।

हालाँकि, अभी तक यह मालूम नहीं चल पाया है कि नितीश के नाम पर असली आईडी से मैसेज किया गया है या फिर फेक आईडी से। लेकिन फिर भी पुलिस की जाँच इस मामले पर जारी है। पुलिस का कहना है कि व्यक्ति की खोज करके उसपर कार्रवाई होगी।

गौरतलब है कि अभी दो दिन पहले सिविल लाइंस पुलिस ने नेशनल पापुलेशन रजिस्ट्रर माँगने की फर्जी अफवाह फैलाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की थी। इससे पूर्व भी भड़काऊ भाषण पर कर्नलगंज, सिविल लाइंस, धूमनगंज, करेली, फूलपुर और मुट्ठीगंज पुलिस एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई कर चुकी है। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -