Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना को लेकर युवक ने फैलाई फर्जी खबर, मामला तूल पकड़ने के बाद ...

कोरोना को लेकर युवक ने फैलाई फर्जी खबर, मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

नितिश की आईडी से आपत्तिजनक ट्वीट करने का मामला प्रकाश में आया है। उसने ट्वीट किया था कोरोना के कारण एक धार्मिक स्थल सील कर दिया गया है। इसके अलावा कई आपत्तिजनक बातें लिखी थी। भड़काऊ टिप्पणी से माहौल खराब होने का डर बन गया।

कोरोना वायरस इस समय बेहद संवेदनशील मामला है। इसपर इस समय खुद सतर्क रहने के साथ-साथ आस-पास के लोगों में जागरुकता फैलाते रहने की जरूरत है। लेकिन कुछ असामाजिक तत्व ऐसे हैं जो इतने गंभीर विषय पर फर्जी की खबरें फैलाकर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। मगर, ऐसे लोगों के प्रति अब प्रशासन सख्त हो गया है। यूपी के कर्नलगंज में पुलिस ने ऐसे ही युवक के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया है। युवक पर आरोप है कि उसने कोरोना के खतरे को लेकर आपत्तिजनक ट्वीट किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, युवक की हरकत का मालूम पड़ते ही पुलिस एक्शन में आई और उसके ख़िलाफ एफआईआर दर्ज की गई। युवक की पहचान नितीश साहू के रूप में हुई। पुलिस का कहना है कि आरोपित की तलाश कर उसपर कार्रवाई की जाएगी।

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक, नितिश की आईडी से आपत्तिजनक ट्वीट करने का मामला प्रकाश में आया है। उसने ट्वीट किया था कोरोना के कारण एक धार्मिक स्थल सील कर दिया गया है। इसके अलावा कई आपत्तिजनक बातें लिखी थी। भड़काऊ टिप्पणी से माहौल खराब होने का डर बन गया। सोशल साइट्स पर एक दूसरे के खिलाफ लोगों ने टिप्पणी शुरू कर दी।

मामला संज्ञान में आने के बाद कर्नलगंज पुलिस ने नितीश साहू के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। अब साइबर सेल की मदद से पता लगाया जा रहा है कि नीतिश साहू कौन है।

हालाँकि, अभी तक यह मालूम नहीं चल पाया है कि नितीश के नाम पर असली आईडी से मैसेज किया गया है या फिर फेक आईडी से। लेकिन फिर भी पुलिस की जाँच इस मामले पर जारी है। पुलिस का कहना है कि व्यक्ति की खोज करके उसपर कार्रवाई होगी।

गौरतलब है कि अभी दो दिन पहले सिविल लाइंस पुलिस ने नेशनल पापुलेशन रजिस्ट्रर माँगने की फर्जी अफवाह फैलाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की थी। इससे पूर्व भी भड़काऊ भाषण पर कर्नलगंज, सिविल लाइंस, धूमनगंज, करेली, फूलपुर और मुट्ठीगंज पुलिस एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई कर चुकी है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दामाद के परिवार का दिवालिया कॉलेज खरीदेगी भूपेश बघेल सरकार: ₹125 करोड़ का कर्ज, मान्यता भी नहीं

छत्तीसगढ़ की कॉन्ग्रेस सरकार ने एक ऐसे मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण की तैयारी शुरू की, जो सीएम भूपेश बघेल की बेटी दिव्या के ससुराल वालों का है।

5 या अधिक हुए बच्चे तो हर महीने पैसा, शिक्षा-इलाज फ्री: जनसंख्या बढ़ाने के लिए केरल के चर्च का फैसला

केरल के चर्च के फैसले के अनुसार, 2000 के बाद शादी करने वाले जिन भी जोड़ों के 5 या उससे अधिक बच्चे हैं, उन्हें प्रत्येक माह 1500 रुपए की मदद दी जाएगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,580FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe