Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजसेक्स रैकेट का भंडाफोड़: मोहम्मद उमर और मोहम्मद अजीम गिरफ्तार, अफगानिस्तान से है कनेक्शन

सेक्स रैकेट का भंडाफोड़: मोहम्मद उमर और मोहम्मद अजीम गिरफ्तार, अफगानिस्तान से है कनेक्शन

अफगानिस्तान के इन दो अधिकारियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 370 (वेश्यवृत्ति), 370(3) और अनैतिक यातायात रोकथाम अधिनियम की धारा 4, 5, 7 के तहत गिरफ्तारी की गई है।

गोवा के तटीय गाँव कैलंगुट में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। मामले में जाँच के बाद दो अफगान अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया है।

सोमवार (अप्रैल 29, 2019) को एक अधिकारी की सूचना पर की गई छापेमारी के बाद अफगानिस्तान सरकार के संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में निदेशक समेत दो अफगान अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान के संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में बतौर आंतरिक लेखा निदेशक काम करने वाले आरोपी मोहम्मद उमर एरियन और अफगानिस्तान में वकील मोहम्मद अजीम होदमन को कैलंगुट पुलिस स्टेशन के अधिकारियों द्वारा की गई छापेमारी में गिरफ्तार किया गया। इस छापेमारी के दौरान उज्बेकिस्तान की दो युवतियों को छुड़ाया भी गया।

बता दें कि पुलिस ने आईपीसी की अलग-अलग धाराओं के तहत इस केस को दर्ज किया है। इंस्पेक्टर रोपोसो ने जानकारी देते हुए बताया है कि अफगानिस्तान के इन दो अधिकारियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 370 (वेश्यवृत्ति), 370(3) और अनैतिक यातायात रोकथाम अधिनियम की धारा 4, 5 और 7 के तहत गिरफ्तारी की गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe