Monday, June 17, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकUAE ने 4 महीने के लिए सस्पेंड किया भारत से गेहूँ निर्यात: NDTV की...

UAE ने 4 महीने के लिए सस्पेंड किया भारत से गेहूँ निर्यात: NDTV की खबर पर लिबरल गिरोह की उछल-कूद, यहाँ जानिए असली माजरा

लिबरल एक्ट्रेस रिचा चड्ढा ने भी न्यूज को समझे बिना ही झूठ फैलाने में लग गई। एक्ट्रेस ने लिखा, "नफरत के अंतरराष्ट्रीय आर्थिक प्रभावों का स्वागत है।"

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने बड़ा कदम उठाते हुए भारत से आयात किए गए गेहूँ और गेहूँ के आटे को दूसरे देशों को निर्यात करने से मना कर दिया है। वहाँ के अर्थव्यवस्था मंत्रालय ने गेंहूँ के वैश्विक व्यापार प्रवाह का हवाला देते हुए अगले 4 महीने के लिए इस निर्यात पर बैन लगा दिया है।

उल्लेखनीय है कि भारत दुनिया का चौथा सबसे बड़ा गेंहूँ उत्पादक देश है। दुबई के कदम को लेकर रॉयटर्स ने एक न्यूज पब्लिश की, जिसे वामपंथी एजेंडा चलाने वाले चैनल NDTV ने ट्वीट किया। फिर क्या था न्यूज को जाने बिना ही कथित लिबरल्स, वामपंथी और इस्लामवादी मोदी सरकार को कोसने में लग गए। किसी ने भी ये आयात और निर्यात में अंतर समझने की कोशिश नहीं की। एनडीटीवी ने ट्वीट किया, “ब्रेकिंग: यूएई भारतीय गेहूँ के निर्यात को चार महीने के लिए बंद करेगा।”

इसके बाद शुरू होती है लिबरल वामपंथियों की अंधी दौड़। इसी क्रम में मिस्टर खान ना में ट्विटर यूजर ने श्रीलंका संकट की ओर इशारा करते हुए कहा कि अगले कुछ दिनों में भारत की हालत श्रीलंका के जैसी होने वाली है।

इस पर पलटवार करते हुए सीमा गुप्ता नाम की यूजर ने कमेंट किया कि बेवकूफ धर्म को निर्यात और आयात के बीच अंतर नहीं समझ आता।

इसी रेस में शामिल होते हुए जसप्रीत सिंह नाम के एक अन्य यूजर ने ट्वीट को समझे बिना कहा, “लगता है कि हमारे विदेशी संबंधों का सत्यानाश करके मानेंगे।”

@AffuRida नाम की एक यूजर ने भी इसी अंधी दौड़ में शामिल होते हुए कहा कि जिस दिन अरब भारत को तेल और गैस की आपूर्ति करना बंद कर देगा तो पूरा देश एक महीने के लिए रुक जाएगा।

फोटो साभार: मद्रासी का ट्विटर अकाउंट

यहीं नहीं, कथित लिबरल एक्ट्रेस रिचा चड्ढा ने भी न्यूज को समझे बिना ही झूठ फैलाने में लग गई। एक्ट्रेस ने लिखा, “नफरत के अंतरराष्ट्रीय आर्थिक प्रभावों का स्वागत है।”

फोटो साभार: ऋचा चड्डा का ट्विटर अकाउंट

ऋचा चड्ढा के आईक्यू पर सवाल उठाते हुए फर्रागो अब्दुल्ला ने कहा कि आईक्यू के इस स्तर पर तो एक्ट्रेस राहुल गाँधी की प्रतियोगी बन सकती हैं।

एनडीटीवी के ट्वीट को समझे बिना हरनीत सिंह नाम की यूजर ने सरकार पर तंज कसने की कोशिश करते हुए कहा कि हम वहाँ बुलडोजर कब भेज रहे हैं।

फोटो साभार: हरनीत सिंह का ट्विटर अकाउंट

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच पूरी दुनिया में गेंहू की माँग में बढ़ोतरी हुई है। इसी क्रम में भारत ने 14 मई को गेहूँ के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालाँकि, पहले से जारी साख पत्र (एलसी) द्वारा समर्थित और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने की माँग करने वाले देशों को इससे छूट दी गई है। यूएई सरकार के आदेश के मुताबिक, 13 मई से पहले यूएई में लाए गए भारतीय गेहूँ का निर्यात या पुन: निर्यात करने की इच्छा रखने वाली कंपनियों को पहले अर्थव्यवस्था मंत्रालय को आवेदन करना होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -