Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाजउदयपुर: मछली पकड़ने के विवाद में दलित युवक की चाकू मारकर हत्या, जफर, सईद...

उदयपुर: मछली पकड़ने के विवाद में दलित युवक की चाकू मारकर हत्या, जफर, सईद समेत 6 गिरफ्तार

मुकेश की हत्या की सूचना मिलने के बाद उसके घरवालों के समर्थन में अगली सुबह 700 से 1000 दलित लोग एकत्रित हुए। शव का दाह संस्कार करने से इनकार कर दिया। बाद में प्रशासन की ओर से आश्वासन मिलने पर उन्होंने मुकेश के शव का अंतिम संस्कार किया।

उदयपुर जिले के सराड़ा थाना क्षेत्र में 1 जून को केजड़ तालाब पर मछली पकड़ने के विवाद में एक हिंदू दलित युवक मुकेश मीणा की देर रात चाकू मारकर हत्या कर दी गई। इस घटना में मुकेश का दोस्त राजू मीणा भी बुरी तरह घायल हो गया। उसका इलाज स्थानीय अस्पातल में चल रहा है।

इस मामले के संबंध में पुलिस ने 6 युवकों को गिरफ्तार किया है। इनका पहचान जफर, सईद, मक्का, अहमदनूर, अकील, फिरोज के रूप में हुई है। इनके ख़िलाफ़ पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास और SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मुकेश की हत्या की सूचना मिलने के बाद उसके घरवालों के समर्थन में अगली सुबह 700 से 1000 दलित लोग एकत्रित हुए। शव का दाह संस्कार करने से इनकार कर दिया। बाद में प्रशासन की ओर से आश्वासन मिलने पर उन्होंने मुकेश के शव का अंतिम संस्कार किया।

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण और इलाके में इकट्ठा भीड़ को देखते हुए पुलिस ने इलाके को हाई अलर्ट पर रखा। मामले को संवेदनशील देखते हुए पुलिस ने आसपास के 12 थानों से अतिरिक्त पुलिस बल बुलवाया। इसके साथ ही इंटरनेट सेवा भी सराड़ा में और उसके आसपास के इलाकों में 24 घंटे के लिए बाधित की गई।

पूरा मामला

1 जून को रात 9:30 बजे मुकेश और घायल राजू अपने दोस्तों के साथ केजड़ तालाब में मछली पकड़ने के लिए गए। मगर, वहाँ उन्होंने देखा कि तालाब के पास तीन अन्य युवक पहले से बैठे हुए थे। जिन्होंने बाद में मछली पकड़ने के विवाद पर अपने तीन अन्य साथियों को तालाब के पास बुलाया लिया। वे सभी वहाँ हथियार लेकर आए।

इसके बाद युवकों ने मुकेश और राजू पर वार किया। मुकेश की मौके पर मौत हो गई। वहीं राजू को एमबी हॉस्पिटल रेफर किया। इसके बाद परिजनों को सूचना दी गई। रातभर में सूचना आसपास के गाँव में फैल गई।

समुदाय की माँग

यहाँ बता दें कि इस घटना के तूल पकड़ने के बाद समुदाय के बुजुर्गों ने प्रशासन को पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंने 14 बिंदु के साथ कुछ अनुरोध किए। इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं-

  • आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए
  • मामले में अच्छे से फॉरेंसिक जाँच हो
  • आरोपितों के ख़िलाफ़ सर्च वारंट जारी हो
  • म़तक के परिवार को 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए
  • पीड़ित परिवार को सरकारी नौकरी मिले
  • मुस्लिम समुदाय के लोगों को चावंड, महुवाड़ा और सारदा से हटाकर किसी अन्य स्थान पर स्थानांतरित किया जाए।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार शाम तक पुलिस इस मामले में ग्रामीणों को शांत कराने में असफल थी। मगर, बाद में एसएसपी बिश्नोई और जिलाधिकारी आनंदी ने मामले में संज्ञान लिया, जिसके बाद उन्होंने समुदाय के लोगों को उनकी माँग को लेकर आश्वस्त किया और मुकेश का दाह संस्कार संपन्न हो पाया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

BJP की तीसरी बार ‘पूर्ण बहुमत की सरकार’: ‘राम मंदिर और मोदी की गारंटी’ सबसे बड़ा फैक्टर, पीएम का आभामंडल बरकार, सर्वे में कहीं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी तीसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाती दिख रही है। नए सर्वे में भी कुछ ऐसे ही आँकड़े निकलकर सामने आए हैं।

‘राष्ट्रपति आदिवासी हैं, इसलिए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में नहीं बुलाया’: लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी ने फिर किया झूठा दावा

राष्ट्रपति मुर्मू को राम मंदिर ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले एक प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe