Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाज'हम श्रीराम के वंशज': अमित शाह की रैली में मुस्लिम युवक ने लगाए 'जय...

‘हम श्रीराम के वंशज’: अमित शाह की रैली में मुस्लिम युवक ने लगाए ‘जय श्रीराम’ के नारे, उलेमा ने दी इस्लाम से ख़ारिज करने की धमकी

देवबंद के उलेमा मुफ़्ती असद कासमी का कहना है कि इस्लाम के अंदर इस तरह के नारे लगाने की कोई गुंजाइश नहीं है। इस शख्स को मौलानाओं से मिलकर रुजू करना चाहिए और अल्लाह से तौबा करना चाहिए, क्योंकि इस तरह के नारे लगाने से इस्लाम से जाया हो जाता है।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आयोजित भाजपा की रैली में एक मुस्लिम युवक के ‘जय श्रीराम’ व ‘भारत माता की जय’ कहने पर देवबंद के उलेमा नाराज हो गए हैं। देवबंद के उलेमा मुफ़्ती असद कासमी का कहना है कि इस शख्स को मौलानाओं से मिलकर रुजू और अल्लाह से तौबा करना चाहिए। इस कट्टरपंथी सलाह से बेफिक्र युवक अहसान राव ने कहा कि श्रीराम उनके पूर्वज हैं और उन्हें ‘जय श्रीराम’ और ‘भारत माता की जय’ बोलने से कोई गुरेज नहीं है।

दरअसल, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शनिवार (4 दिसंबर) को सहारनपुर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान एक मुस्लिम युवक जय श्रीराम और भारत माता की जय के नारे लगाने लगा। उसका यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

इस वीडियो के सामने आने के बाद अहसान राव की खूब वाह-वाही हो रही है। दूसरी तरफ, देवबंद के उलेमा मुफ़्ती असद कासमी का कहना है कि इस्लाम के अंदर इस तरह के नारे लगाने की कोई गुंजाइश नहीं है। इस शख्स को मौलानाओं से मिलकर रुजू करना चाहिए और अल्लाह से तौबा करना चाहिए, क्योंकि इस तरह के नारे लगाने से इस्लाम से जाया हो जाता है। साथ ही उन्होंने कहा कि अपने दुनियावी आकाओं को खुश करने के लिए इस तरह के नारे नहीं लगाने चाहिए। उन्होंने अहसान को इस्लाम से खारिज करने की भी धमकी दी।

इस प्रतिक्रिया देते हुए राव का कहना है, “हम राम के वंशज हैं। राम हमारे पूर्वज हैं। जय श्रीराम बोलने में या भारत माता की जय बोलने में मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं है। जिस मुल्क में हम रह रहे हैं, उसकी जय-जयकार करनी चाहिए।”

वहीं, उलेमा द्वारा इस्लाम से खारिज किए जाने की बात पर उन्होंने कहा, “उनका अपना काम है, लेकिन मैं अपने काम को अंजाम दे रहा हूँ। मेरे अल्लाह भी जानते हैं और कौन क्या बोल रहा है। मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मेरी जानकारी के अनुसार अभी तक दारुल से इस तरह की बात सामने नहीं आई है। जब कोई आएगी, मैं बात करूँगा।”

सहारनपुर में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उन्होंने स्टेट यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया था और जनसभा को संबोधित करते हुए योगी सरकार की तारीफ की थी। गौरतलब है कि अगले कुछ महीनों में ही उत्तर प्रदेश में विधनसभा के चुनाव होने हैं। भाजपा सत्ता में दोबारा लौटने के लिए ताबड़तोड़ रैलियाँ कर रही है। वहीं, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी भी जनता के बीच पहुँच रहे हैं और जनता को लुभाने की हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -