Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजसिकंदर ने भाई अंसार और साले सोहिल के साथ मिलकर भाभी के साथ किया...

सिकंदर ने भाई अंसार और साले सोहिल के साथ मिलकर भाभी के साथ किया गैंगरेप

पीड़िता राजस्थान के धौलपुर की रहने वाली है। वह अपने मायके आगरा आई हुई थी। उसे अगवा कर आरोपी पास के बिशनगिरी गाँव ले गए, जहाँ उसके साथ रेप किया गया।

उत्तर प्रदेश के आगरा में 25 वर्षीय एक महिला के साथ गैंगरेप की खबर सामने आई है। बाइक पर सवार 3 लोगों ने मिलकर पहले महिला को अगवा किया फिर उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। घटना शुक्रवार (सितंबर 13, 2019) की है। महिला शौच से वापस घर आ रही थी जब बाइक सवार तीन लोगों ने उसे अगवा कर लिया और फिर सुनसान जगह पर ले जाकर रेप किया।

बता दें कि, रेप करने वाले 3 आरोपितों में से दो महिला के सगे देवर हैं। जानकारी के मुताबिक, महिला राजस्थान के धौलपुर की रहने वाली है। वह अपने मायके आगरा आई हुई थी। 13 सितंबर को महिला के दोनों सगे देवर अंसार और सिकंदर अपनी भाभी के घर के पास पहुँच गए। फिर सिकंदर ने साले सोहिल के साथ मिलकर शौच से वापस आ रही भाभी को जबरदस्ती बाइक पर बैठा लिया। तीनों ने कपड़े से उसका मुँह बाँध दिया और फिर उसे पास के बिशनगिरी गाँव ले गए। जहाँ उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया।

जब कुछ लोगों ने महिला की चिल्लाती हुई आवाज सुनी तो वे घटनास्थल पर पहुँचे। गाँव के लोगों ने दो संदिग्धों को पकड़ लिया, जबकि तीसरा आरोपित भाग निकलने में कामयाब हो गया। धौलपुर की स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) महेंद्र शर्मा ने कहा कि महिला ने शिकायत दर्ज कराई है। मामले की जाँच की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe