Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजघर में घुस नाबालिग रेप पीड़िता पर फेंका तेजाब, केस वापस लेने का दबाव...

घर में घुस नाबालिग रेप पीड़िता पर फेंका तेजाब, केस वापस लेने का दबाव डाले रहे थे दिलशाद के परिजन

मारपीट में दुष्कर्म पीड़िता की माँ, भाई और पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। आरोपितों ने दुष्कर्म पीड़िता के ऊपर तेजाब फेंक दिया। तेजाब पीड़िता के पैरों पर गिरा, जिससे उसका एक पैर बुरी तरह से झुलस गया।

उत्तरप्रदेश के हापुड़ के बाबूगढ़ थाना क्षेत्र के एक गाँव में सामूहिक दुष्कर्म की नाबालिग पीड़िता पर रविवार को एसिड अटैक हुआ। हमले का आरोप रेप आरोपितों में से एक के परिजनों पर है। बताया जा रहा है आरोपित पक्ष की ओर से बहुत दिन से पीड़िता के घरवालों पर समझौते का दबाव बनाया जा रहा था। मगर, जब वे नहीं माने, तो उन लोगों ने घर में घुसकर लड़की पर तेजाब से हमला कर दिया। हमले का विरोध करने पर पीड़िता के माता-पिता व भाई से भी इस दौरान मारपीट हुई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने पीड़िता और उसके घायल परिजनों को अस्पताल में भर्ती करवाया, जहाँ अब उनका इलाज जारी है।

जानकारी के अनुसार, दुष्कर्म मामले में 7 फरवरी को न्यायालय में पीड़िता का बयान दर्ज होना है। इसके कारण रेप आरोपितों में से एक के घरवाले समझौता चाहते थे। मगर, जब लड़की के घरवाले नहीं राजी हुए, तब उन्होंने ये कदम उठाया।

दैनिक जागरण के मेरठ संस्करण में प्रकाशित संबंधित खबर

पीड़िता के पिता के मुताबिक  16 जुलाई, 2019 को उनकी नाबालिग बेटी के साथ गाँव के 2 युवकों ने घर में घुसकर दुष्कर्म किया था। दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था, लेकिन जेल सिर्फ़ एक ही गया। जेल जाने वाले आरोपित का नाम दिलशाद है। इस मामले में उस समय पुलिस दूसरे आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर पाई थी। जिसके कारण दूसरे आरोपित के घरवाले लगातार पीड़ित पक्ष पर फैसले का दबाव बना रहे थे। कुछ मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि दिलशाद के परिजन पर भी केस वापस लेने के लिए पीड़ित परिवार पर दबाव डाल रहे थे।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार की सुबह आरोपित पक्ष के 8-10 लोग अवैध हथियार लेकर पीड़ित पक्ष के घर में घुस आए और हमला बोल दिया। मारपीट में दुष्कर्म पीड़िता की माँ, भाई और पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद आरोपितों ने दुष्कर्म पीड़िता के ऊपर तेजाब फेंक दिया। तेजाब पीड़िता के पैरों पर गिरा, जिससे उसका एक पैर बुरी तरह से झुलस गया। इसी बीच शोर की आवाज सुनकर वहाँ लोग इकट्ठा होने लगे, जिन्हें देखकर सभी आरोपित फरार हो गए।

बाद में पुलिस को इस मामले मे सूचित किया गया। एएसपी सर्वेश कुमार मिश्रा व सीओ सिटी राजेश कुमार भी मौके पर पहुँचे। फॉरेंसिक टीम ने भी घटनास्थल से सभी साक्ष्य जुटाए। अधिकारियों ने अस्पताल पहुँचकर पीड़िता से बातचीत कर उसका हाल जाना और घटना से संबंधित उनका बयान लिया।

पुलिस के अनुसार, घटना से जुड़े सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जाँच की जा रही है। जाँच में दोषी मिलने पर आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से पीड़िता के घर पर पुलिस को तैनात किया गया है। किसी भी हाल में पीड़िता व उसके स्वजन की सुरक्षा को लेकर लापरवाही नहीं बरती जाएगी।

शौहर नूरजादे ने दिया तीन तलाक: देवर फैसल ने एसिड दिखा कर दी धमकी, कहा- बना दूँगा ‘छपाक-2’

आरिफ, शाहनवाज, शरीफ, आबिद ने एसिड से जलाया… क्योंकि पीड़िता ने रेप केस वापस लेने से किया इनकार

गैर-मुस्लिम मर्द के साथ प्रेम: इरफ़ान और रिज़वान ने बहन पर फेंका एसिड, अम्मी भी अस्पताल से भाग गई

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe