Thursday, January 27, 2022
Homeदेश-समाजहिंदू लड़की के साथ Live-In रिलेशन में रहा अजमल, धोखा दे निकाह किसी और...

हिंदू लड़की के साथ Live-In रिलेशन में रहा अजमल, धोखा दे निकाह किसी और से फिक्स… हंगामे के बाद ऐसे धराया

बिजनौर का मोहम्मद अजमल दिल्ली में एक सैलून में काम करता है। एक हिंदू लड़की से दोस्ती करता है। दोनों 'लिव इन रिलेशनशिप' में रहने लगते हैं - एक साल तक। अचानक वो बिजनौर जाता है, बिना बताए किसी और लड़की से निकाह करने लगता है।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले का रहने वाला मोहम्मद अजमल नाम का युवक दिल्ली में एक हिंदू लड़की के साथ ‘लिव इन रिलेशनशिप‘ में रह रहा था। कुछ दिन पहले वह गर्लफ्रेंड से बिजनौर जाने का बोलकर आया और दूसरी लड़की के साथ निकाह करने लगा। इसका पता लगते ही लड़की दिल्ली से सीधे बिजनौर के मंडावर पहुँची और पुलिस स्टेशन में शिकायत की। काफी हंगामे के बाद वह लड़के अजमल को लेकर दिल्ली वापस लौट गई।

मामले की शुरुआत राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से होती है। अजमल नाम का शख्स यहाँ एक सैलून में नाई का काम करता है। इसी दौरान उसकी मुलाकात एक हिंदू लड़की से होती है। दोनों में घनिष्ठता इतनी अधिक हो जाती है कि दोनों ‘लिव इन रिलेशनशिप’ में रहने लगते हैं। एक साल तक दोनों लिव इन में रहते हैं। इसी दौरान एक दिन अजमल ने लड़की से कहा कि वो बिजनौर अपने घर जा रहा है। हालाँकि, उसने उसे धोखा दिया और वहाँ जाने का कारण नहीं बताया। गौरतलब है कि अजमल बिजनौर के मंडावर कस्बे के मंगल बाजार का रहने वाला है।

घर आने के बाद पड़ोस की रहने वाली एक लड़की के साथ उसने अपना निकाह तय कर लिया। 27 जुलाई 2021 को उसका निकाह होने वाला था कि युवती दिल्ली के सराय काले खाँ से बिजनौर के मंडावर पहुँच गई। मंडावर थाने के एसएचओ मनोज कुमार के मुताबिक, युवती ने अजमल का निकाह रुकवाने की मदद माँगी। इसके बाद उसके निकाह को रोककर उसे थाने बुलाया गया। वहाँ पहुँचते ही लड़की ने हंगामा शुरु कर दिया।

उसने कहा कि उसे केवल यही लड़का चाहिए, एक साल तक उसे पत्नी के रूप में साथ रखा था। मामला बढ़ता देख पुलिस वालों ने लड़के को लड़की को सौंप दिया और वो उसे अपने साथ दिल्ली ले गई। उसने कहा कि दिल्ली में ही वह उसके साथ शादी करेगी। हालाँकि, हिंदू लड़की का मामला समझकर वीएचपी के लोगों ने भी उसे काफी समझाया, लेकिन लड़की ने किसी की नहीं सुनी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe