Thursday, June 30, 2022
Homeदेश-समाजरुबीना का अनोखा निकाह... बुलडोजर पर पहुँचा दूल्हा, लगाए गए 'बुलडोजर बाबा की जय'...

रुबीना का अनोखा निकाह… बुलडोजर पर पहुँचा दूल्हा, लगाए गए ‘बुलडोजर बाबा की जय’ के नारे: बहराइच की घटना

निकाह के लिए शनिवार (18 जून, 2022) को निकाह के लिए बारात निकली तो आधा दर्जन बुलडोजर बारात में ले जाए गए। वहाँ पहुँचने के बाद बुलडोजर पर सवार दूल्हे को चारों तरफ घुमाया गया, जिसे देखने के लिए लोगों का तांता लग गया।

विवाह या निकाह जैसे किसी भी समारोह में अक्सर बारात को आपने घोड़ा, हाथी या फिर कार से देखा होगा। लेकिन उत्तर प्रदेश के बहराइच में ऐसा निकाह हुआ, जहाँ अपने में शख्स बुलडोजर लेकर पहुँच गया। बुलडोजर पर आई इस बारात के हर तरफ चर्चे हो रहे हैं। इस मौके पर बुलडोजर बाबा (सीएम योगी को बुलडोजर बाबा कहा जाता है) के नाम के जयकारे भी लगाए गए।

दरअसल, उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपराधियों पर बुलजोर कार्रवाई के कारण बुलडोजर काफी मशहूर हो गया है। इसकी चर्चाएँ काफी अधिक होती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, अनोखे निकाह की ये घटना बहराइच जिले की है। जिले के रिसिया ब्लॉक के रहने वाले सलीम की बेटी रूबीना का निकाह श्रावस्ती जिले के जमुनहा ब्लॉक के आला गाँव के मोहन के बेटे बादशाह के साथ तय हुई थी।

निकाह के लिए शनिवार (18 जून, 2022) को निकाह के लिए बारात निकली तो आधा दर्जन बुलडोजर बारात में ले जाए गए। वहाँ पहुँचने के बाद बुलडोजर पर सवार दूल्हे को चारों तरफ घुमाया गया, जिसे देखने के लिए लोगों का तांता लग गया। इस मौके पर जहूर खाँ, छोट्टन, रमजान, शंकरपुर समेत कई लोग बुलडोजर पर सवार दिखे। इन लोगों ने ‘बुलडोजर बाबा की जय’ के नारे भी लगाए। बारातियों का कहना था कि कार तो सभी की शादियों में होती हैं। इस कारण से हमने सोचा कुछ नया करते हैं। बारातियों के मुताबिक, उन्होने इस नए प्रयोग को किया और ये काफी पसंद भी किया जा रहा है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार अपराधियों, माफियाओं और दंगाइयों के खिलाफ लगातार बुलडोजर कार्रवाई कर रही है। ऐसे में बुलडोजर काफी हिट हो गया है। हाल ही में जुमे की नमाज के बाद दंगा करने वालों के अवैध ठिकानों पर सरकार ने बुलडोजर चलाया था। मीडिया और सोशल मीडिया हर जगह उत्तर प्रदेश सरकार के बुलडोजर की चर्चाएँ हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe