Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजयूपी में 32000 जगहों पर नमाज, लेकिन इस बार सड़क नहीं हुए ब्लॉक: ईद...

यूपी में 32000 जगहों पर नमाज, लेकिन इस बार सड़क नहीं हुए ब्लॉक: ईद पर CM योगी के निर्देशों का दिखा असर

पुलिस के अनुसार उत्तर प्रदेश में करीब 32000 जगहों पर ईद की नमाज पढ़ी गई। लेकिन इस बार नमाज के लिए सड़कों को ब्लॉक करने की घटना सामने नहीं आई है। जहाँ पर जगह कम पड़ी वहाँ शिफ्टों में नमाज पढ़ी गई।

देश भर में मंगलवार (3 मई 2022) को अक्षय तृतीया, परशुराम जयंती और ईद एक साथ मनाई गई। इस दौरान उत्तर प्रदेश ने एक मिसाल कायम किया। इस बार ईद की नमाज के लिए सड़कों को ब्लॉक करने की घटना सामने नहीं आई है। जहाँ पर जगह कम पड़ी वहाँ शिफ्टों में नमाज पढ़ी गई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए प्रदेश वासियों का अभिनंदन किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “आज उत्तर प्रदेश में अनेक धार्मिक आयोजन सकुशल संपन्न हुए हैं। इन्हें सड़कों पर न आयोजित कर प्रदेश वासियों ने एक अच्छी पहल की है। स्वस्थ व समरस समाज हेतु आस्था का सम्मान एवं कानून का शासन साथ-साथ होना आवश्यक है। यही प्रदेश के विकास व नागरिकों के स्वावलंबन का आधार बनेगा। सभी का अभिनंदन!”

वहीं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने भी धार्मिक नेताओं को त्योहारों को शांतिपूर्ण तरीके से मनाने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि सभी ने ‘पारंपरिक गंगा-जमुनी तहज़ीब’ के बीच त्योहारों को मनाया।

उन्होंने बताया कि ईद-उल-फितर के मौके पर करीब 32,000 जगहों पर शांतिपूर्वक नमाज अदा की गई। राज्य में कहीं भी किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और लोगों ने पारंपरिक उत्साह और उल्लास के साथ ईद मनाई। इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

बताया जा रहा है कि यूपी में इस बार पहली बार ऐसा हुआ है जब ईद की नमाज़ सड़कों पर नहीं पढ़ी गई। लोनी और हापुड़ जैसे क्षेत्रों में जहाँ जगह कम रही वहाँ अलग-अलग शिफ्टों में नमाज अदा की गई। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही मुस्लिम धर्मगुरुओं से अपील की गई थी कि नमाज सड़क पर ना पढ़ी जाए। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आह्वान पर इस बार पूरे प्रदेश में कहीं भी यातायात बाधित कर सड़कों पर ईद की नमाज़ नहीं अदा की गई। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी सीएम के अपील का समर्थन किया था। नतीजतन, ईद की नमाज़ ईदगाह अथवा अन्य तयशुदा पारंपरिक स्थान पर ही हुई। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिम धर्म गुरुओं का भी आभार व्यक्त किया है। 

लखनऊ में ईद की नमाज के कार्यक्रम में यूपी के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, पूर्व सीएम अखिलेश यादव, पूर्व डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, राज्य के मंत्री दानिश आजाद अंसारी ने शिरकत की। ईद-उल-फितर के मौके पर लखनऊ के ईदगाह मैदान में पाँच लाख से ज्यादा लोगों ने नमाज अदा की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -