Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजनगर निगम का टैक्स इंस्पेक्टर फरहान अहमद, शादी का झाँसा दे किया रेप; फिर...

नगर निगम का टैक्स इंस्पेक्टर फरहान अहमद, शादी का झाँसा दे किया रेप; फिर धर्म परिवर्तन का डालने लगा दबाव

पिछले दिनों गोरखपुर के चिलुआताल थाना क्षेत्र में एक युवक ने मजहब छिपाकर हिंदू लड़की को प्रेम जाल में फँसाया था। बात जब शादी की आई तो अपनी असली पहचान के साथ सामने आया और निकाह का दबाव बनाने लगा।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले से शादी का झाँसा दे एक युवती से संबंध बनाने और फिर उस पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालने का मामला सामने आया है। आरोपित नगर निगम का टैक्स फरहान अहमद है। युवती की शिकायत पर रामगढ़ताल पुलिस ने रेप और धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने का केस दर्ज किया है।

युवती का आरोप है कि टैक्स इंस्पेक्टर उस पर धर्म बदलने का दबाव बना रहा था। ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी भी दे रहा था। मामले को गंभीरता से लेते हुए केस दर्ज कर पुलिस छानबीन कर रही है।

रामगढ़ताल इलाके की रहने वाली युवती ने पुलिस को दी शिकायत में लिखा है कि जनवरी 2021 में फेसबुक पर उसकी दोस्ती नगर निगम के टैक्स इंस्पेक्टर फरहान अहमद से हुई थी। जान-पहचान बढ़ने पर उससे मुलाकात होने लगी। फरहान के दोस्त शुभम गुप्ता का तारामंडल के वसुंधरा में फ्लैट है। घुमाने के बहाने फरहान उसे कई बार वहाँ ले गया।

युवती का आरोप है कि शादी करने का झाँसा देकर उसके साथ रेप किया गया। जब उसने फरहान से शादी के लिए कहा तो वह धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने लगा। इनकार करने पर जान से मारने की धमकी देने लगा। तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर रामगढ़ताल पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है। एसपी सिटी सोनम कुमार ने बताया कि मामले की पड़ताल की जा रही है। तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज किया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले दिनों गोरखपुर के चिलुआताल थाना क्षेत्र में एक युवक ने मजहब छिपाकर हिंदू लड़की को प्रेम जाल में फँसाया था। बात जब शादी की आई तो अपनी असली पहचान के साथ सामने आया और निकाह का दबाव बनाने लगा। धोखे का एहसास होने पर युवती ने युवक के खिलाफ दुष्कर्म और धर्म परिवर्तन से संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज कराया। जिसके बाद आरोपित हसन रजा को गिरफ्तार कर लिया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -