Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाज124 जर्जर मंदिरों का गौरव वापस लाने में जुटीं BJP की मेयर प्रमिला पांडे,...

124 जर्जर मंदिरों का गौरव वापस लाने में जुटीं BJP की मेयर प्रमिला पांडे, सैकड़ों साल पुराने मंदिर में खंडित कर दी गई थीं प्रतिमाएँ

कानपुर के नगर निगम की ओर से शहर में 124 ऐसे मंदिरों को चिह्नित किया गया है जिनकी हालत जर्जर है या फिर उन्हें कूड़ा घर में तब्दील कर दिया गया।

देश के अलग-अलग राज्यों में इन दिनों हिंदू मंदिरों का मुद्दा गर्माया हुआ है। ऐसे में उत्तरप्रदेश के कानपुर की मेयर व भारतीय जनता पार्टी की महिला नेता प्रमिला पांडे ने अपने क्षेत्र में जर्जर अवस्था में पड़े मंदिरों की हालात सुधारने का जिम्मा लिया है। इसी क्रम में सोमवार को वह बाबूपुरवा के गेट नंबर 6 के पास प्राचीन शिव मंदिर का निरीक्षण करने पहुँची और पाया कि वहाँ मूर्तियों को खंडित किया गया था।

स्थानीय लोगों ने शिकायत की कि मंदिरों से मूर्तियों को हटाया जा रहा है और पूरे मंदिर परिसर में कब्जे की कोशिश हो रही है। स्थानीयों के मुताबिक इस काम को भूमाफियों के जरिए अंजाम दिया जा रहा है। मंदिर सैंकड़ों साल पुराना है जिसमें माँ पार्वती, हनुमान जी की मूर्तियाँ रखी हुई थीं। लोगों की शिकायतें सुनने के बाद मेयर प्रमिला पांडे ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि जब तक जगह का सत्यापन न हो तब तक वहाँ किसी निर्माण की इजाजत न दी जाए।

मंदिरों को पुननिर्माण के लिए आगे आई भाजपा नेता

बता दें कि इससे पहले कानपुर नगर निगम की ओर से शहर में 124 मंदिरों को चिह्निंत करने का कार्य किया गया था। ये सारे मंदिर वही थे जिनकी हालत जर्जर थी या फिर इन्हें कूड़ा घरों में तब्दील कर दिया गया था। मेयर प्रमिला पांडे इन मंदिरों को दोबारा से पुनर्जीवित करने की कोशिशों में जुटी हैं। 28 मई को प्रकाशित रिपोर्टों के अनुसार उन्होंने बीते शनिवार को 8 मंदिरों का दौरा किया था। मंदिरों की हालत ऐसी थी कि किसी की आँखोों में आँसू आ जाए।

उन्होंने बेकनगंज इलाके में निरीक्षण के दौरान कृष्ण मंदिर से सटकर एक बिरयानी बेचने वाले को फटकार लगाई थी। उन्होंने पूछा था कि अगर कोई मस्जिद तोड़कर मंदिर बनाता तो तुम्हें कैसे लगता। इसके अलावा उन्होंने हिंदू मंदिरों की हालत सुधरवाने के लिए पुलिस कमिश्नर से भी बात की थी और कहा था कि पुलिस प्रशासन को 124 मंदिरों की लिस्ट सौंपी जाएगी। पुलिस ने भी उन्हें भरोसा दिया था कि वे सभी मंदिरों को मुक्त करवाकर नगर निगम को सौंपेंगे और फिर दीवार बनवाकर गेट लगवाया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि मीडिया से बातचीत में कानपुर मेयर ने मंदिर मस्जिद विवाद पर अपनी बात रखते हुए बताया था कि कैसे मुगल आक्रांताओं द्वारा मंदिरों को तोड़ डालने का काम हुआ। लेकिन कभी किसी ने मस्जिदों को नहीं छुआ। आज मंदिरों का सर्वे हो रहा है तो हर पुरानी मस्जिद में से मंदिर आ रहे हैं। उन्होंने हिंदू मंदिरों के लिए चलाई जा रही अपनी मुहीन को लेकर कहा कि वो किसी पक्ष से कोई चीज नहीं माँग रहीं लेकिन अपने मंदिरों के लिए कार्य कर रही हैं। अगर इससे किसी को कोई नाराजगी है तो होती रहे।

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे में शिवलिंग पर चली ड्रिल

याद दिला दें कि पिछले दिनों ज्ञानवापी में सर्वे के दौरान शिवलिंग मिलने के दावा किया गया था। साथ ही विवादित ढाँचे के परिसर में तमाम हिंदू प्रतीक भी पाए गए थे। इसके बाद कोर्ट ने शिवलिंग की सुरक्षा के आदेश दिए। हालाँकि बाद में पता चला कि उस शिवलिंग पर ड्रिल चलाकर छेद करके उसे खंडित करने की कोशिशें हुईं।

कानपुर के बिल्हौर में मिली थी खंडित मूर्तियाँ

इसके अलावा इससे पहले कानपुर के बिल्हौर में ही मूर्ति खंडित करने का मामला उजागर हुआ था। घटना अरौल रेलवे स्टेशन के पास गूजेपुर रोड पर बने दुर्गा मंदिर की थी। वहाँ चूँकी ताला नहीं पड़ता था तो लोगों ने एक सुबह देखा कि बजरंगबली की मूर्ति का दाहिना हाथ तोड़ दिया गया। वहीं दुर्गा माँ की मूर्ति भी खंडित कर दी गई। इस घटना के बाद इलाके में तमाव फैल गया था और दोबारा मूर्ति स्थापना का आश्वासन देकर स्थिति संभाली गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माली और नाई के बेटे जीत रहे पदक, दिहाड़ी मजदूर की बेटी कर रही ओलम्पिक की तैयारी: गोल्ड मेडल जीतने वाले UP के बच्चों...

10 साल से छोटी एक गोल्ड-मेडलिस्ट बच्ची के पिता परचून की दुकान चलाते हैं। वहीं एक अन्य जिम्नास्ट बच्ची के पिता प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं।

कॉन्ग्रेसी दानिश अली ने बुलाए AAP , सपा, कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता… सबकी आपसे में हो गई फैटम-फैट: लोग बोले- ये चलाएँगे सरकार!

इंडी गठबंधन द्वारा उतारे गए प्रत्याशी दानिश अली की जनसभा में कॉन्ग्रेस और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe