Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजआज़म खान के मीडिया सलाहकार फसाहत को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार: चोरी की...

आज़म खान के मीडिया सलाहकार फसाहत को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार: चोरी की दो भैंस के साथ सोना-चाँदी, रुपए बरामद

रामपुर पुलिस ने बताया कि फसाहत की निशानदेही पर लूट और चोरी किए गए कुल 27 हजार रुपए, 2 जोड़ी चाँदी की पायल, 3 सोने के कान के झुमके, सोने के 2 गले के हार, सोने की 1 अँगूठी और 2 भैंसें मिलीं हैं।

उत्तर प्रदेश के रामपुर से समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान के करीबी सहयोगी और मीडिया सलाहकार फसाहत अली खान उर्फ ​​शानू को पुलिस ने गुरुवार (25 जून, 2020) को गिरफ्तार कर लिया। रामपुर पुलिस ने फसाहत के फार्महाउस से चोरी की गई दो भैंस और सोने, चाँदी आदि के कीमती सामान बरामद किए हैं।

रामपुर पुलिस के मुताबिक थाना कोतवाली और थाना गंज से वांछित अभियुक्त फसाहत अली को तोपखाना गेट के पास से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस रिकॉर्ड में आजम खान के मीडिया प्रभारी पर यतीमखाना प्रकरण सहित कुल 24 मुकदमे दर्ज हैं।

रामपुर के एसपी शगुन गौतम ने कहा, “फसाहत खान ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया था कि उसने आजम खान के निर्देश पर यतीम खाना निवासियों के घरों के अंदर से भैंस और अन्य सामान चोरी किया था। अपराध में शामिल अधिकांश अन्य आरोपित पहले से ही जमानत पर हैं, जबकि कुछ अन्य से पूछताछ की जरूरत है।”

फसाहत को बुधवार की देर शाम अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत के सामने पेश किया गया और जेल भेज दिया गया।

रामपुर पुलिस ने बताया कि फसाहत की निशानदेही पर लूट और चोरी किए गए कुल 27 हजार रुपए, 2 जोड़ी चाँदी की पायल, 3 सोने के कान के झुमके, सोने के 2 गले के हार, सोने की 1 अँगूठी और 2 भैंसें मिलीं हैं।

आपकों बता दें कि सितंबर 2019 में यतीमखाना बस्ती में कई मकान तोड़े गए थे, लेकिन पीड़ित उस समय अपनी आवाज नहीं उठा पाए थे, लेकिन सत्ता बदलने के बाद पीड़ितों ने आजम खान सहित कई लोगों पर लूटपाट और भैंस चोरी जैसे मुकदमे दर्ज कराए थे।

इसी में आजम खान के मीडिया प्रभारी फसाहत अली शानू के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया था। इतना ही नहीं एक एफआईआर में एक शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि चोर उसकी चार बकरियाँ, तीन भैंस, एक गाय और एक बछड़ा भी ले गए थे।

गौरतलब है कि इसी साल फरवरी में धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद आज़म खान, उनकी पत्नी और सपा विधायक तनज़ेन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आज़म पहले से ही सीतापुर जेल में बंद हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe