Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजशादी समारोह, मस्जिद, अस्पताल... पूरा मेरठ घूम गया महाराष्ट्र का कोरोना + शख्स, बीवी-साले...

शादी समारोह, मस्जिद, अस्पताल… पूरा मेरठ घूम गया महाराष्ट्र का कोरोना + शख्स, बीवी-साले भी संक्रमित

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना मरीज मेरठ में एक शादी में आया था। 19 से 26 मार्च के बीच उसने यहाँ के दो मस्जिदों में नमाज अदा की थी। 27 मार्च को उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन जारी है। बावजूद इसके संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में पहुँचा एक शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। हाल ही में महाराष्ट्र के अमरावती से मेरठ पहुँचे शख्स में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। साथ ही परिवार के 4 अन्य लोगों में भी कोरोना वायरस का संक्रमण मिला है। इस तरह मेरठ में संक्रमण के 5 नए मामले एक ही परिवार में सामने आए हैं।

मेरठ में एक ही परिवार से कोरोना वायरस के 5 मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है। मरीजों की संख्‍या सामने आने के बाद स्वास्थ्य महकमे ने 38 लोग की पहचान की है। बताया जा रहा है कि इन 38 मरीजों में किसी को भी कोरोना हो सकता है। कोरोना का यह संक्रमित मरीज महाराष्ट्र के अमरावती से 19 मार्च को मेरठ पहुँचा था। 

जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति का मेरठ में ससुराल है। वह अपनी पत्नी के साथ महाराष्ट्र से मेरठ आया था। शुक्रवार को मेरठ मेडिकल अस्पताल में उसके कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई थी। इसके बाद संपर्क में रह रही पत्नी और 3 सालों को भी शुक्रवार को भर्ती कराया गया। अब उसकी पत्नी और तीन सालों को भी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इस तरह मेरठ में अभी तक 2 दिन में 5 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

दैनिक जागरण के मेरठ संस्करण में प्रकाशित खबर

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना मरीज मेरठ में एक शादी में आया था। उन्होंने बताया कि मरीज में संक्रमण की पुष्टि की रिपोर्ट महाराष्ट्र सरकार और अमरावती प्रशासन को भी भेज दी गई है। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने यह भी बताया कि 19 से 26 मार्च के बीच मरीज ने दो मस्जिदों में नमाज अदा की थी। 27 मार्च को उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। इससे पहले उसने दो दिनों तक निजी अस्पताल में इलाज भी करवाया था। इसके बाद विभाग को आशंका है कि दर्जनों अन्य भी कोरोना संक्रमित पाए जा सकते हैं। मरीज ने जिस अस्पताल में इलाज करवाया था, अब उसके डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की भी जाँच की जाएगी। मरीज कहाँ-कहाँ गया, इसकी पड़ताल करने के लिए 110 टीमों का गठन किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘धर्मांतरण कोई समस्या नहीं, अपने घर में सम्मान न मिले तो दूसरे के घर जाएँगे ही’: मिशनरी साजिश पर बिहार के पूर्व CM

गया में पिछले कई वर्षों से सिलसिलेवार तरीके से ईसाई धर्मांतरण की साजिश का खुलासा हुआ है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम माँझी ने इन घटनाओं का समर्थन किया।

‘हमने मोदी को जिताया की रट लगाते हो, खुद 2 बार लड़े तो क्यों नहीं जीत गए?’ महिला पत्रकार ने उतार दी राकेश टिकैत...

'इंडिया 1 न्यूज़' की गरिमा सिंह ने राकेश टिकैत के इस बयान को लेकर भी सवाल पूछा जिसमें वो बार-बार कहते हैं कि इस सरकार को 'हमने जिताया'।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,931FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe