Monday, April 22, 2024
Homeदेश-समाजभ्रष्टाचार में साथ न देने पर नगर पंचायत अध्यक्ष रहमत जहाँ के शौहर शफी...

भ्रष्टाचार में साथ न देने पर नगर पंचायत अध्यक्ष रहमत जहाँ के शौहर शफी अहमद ने पीटा, दिया तीन तलाक

रहमत के मुताबिक उनके पति ने उनसे तीसरी शादी की थी। इससे पहले वो अपनी 2 बीवियों को छोड़ चुका है। पंचायत अध्यक्ष का आरोप है कि शफी अहमद उनके हस्ताक्षर से कुछ गलत आवंटन करने लगा, जिसका उन्होंने विरोध किया था। इस पर शफी ने उनके साथ मारपीट की है।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में नगर पंचायत अध्यक्ष रहमत जहाँ ने अपने पति पर तीन तलाक देने का आरोप लगाया है। रहमत जहाँ का यह भी आरोप है कि उनके पति ने उनकी पिटाई भी की है। मारपीट में जख्मी रहमत जहाँ को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाने की नौबत भी आ गई। रहमत को उनके पति शफी अहमद ने सिर्फ इसलिए तीन तलाक दे दिया क्योंकि वो अपने पति के कहने पर भ्रष्टाचार के काम नहीं कर रही थीं।

इस मामले पर मुरादाबाद (ग्रामीण) के SP ने बताया, “आरोप है कि तीन तलाक दिया गया है और बदसलूकी का प्रयास किया गया है। FIR दर्ज़ कर ली गई है और आगे की कार्रवाई की जाएगी।” शफी अहमद पहले खुद भी पंचायत का चेयरमैन था। जिला अस्पताल में इलाज करा रहीं रहमत जहाँ का कहना है कि उनके पति के भाई, बहनोई और कुछ अन्य रिश्तेदारों ने भी उनके साथ बदसलूकी की है। 

रहमत के मुताबिक उनके पति ने उनसे तीसरी शादी की थी। इससे पहले वो अपनी 2 बीवियों को छोड़ चुका है। उनका कहना है कि मारपीट की वजह से उनके पैर और कमर में गंभीर चोट लगी है। रहमत ने बताया कि वह पिछले 9 महीने से अपने पति से अलग रह रही हैं। रविवार (जनवरी 10, 2021) देर रात पति शफी अपने अन्य परिजनों के साथ उनके घर आया और उन्हें एक साथ तीन तलाक दे दिया।

रहमत का यह कहना है कि भोजपुर नगर पंचायत की सीट महिला के लिए आरक्षित होने की वजह से शफी अहमद ने चुनाव मैदान में उन्हें उतारा था। वह चुनाव जीत भी गईं। पंचायत अध्यक्ष का आरोप है कि शफी अहमद उनके हस्ताक्षर से कुछ गलत आवंटन करने लगा, जिसका उन्होंने विरोध किया था। इस पर शफी ने उनके साथ मारपीट की है।

वहीं इस मामले पर एसपी देहात विद्या सागर मिश्र ने बताया, “इस संबंध में उनके द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना भोजपुर पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। मामले में निष्पक्ष रूप से विवेचनात्मक कार्रवाई की जाएगी। हमारे पास आई तहरीर में कोई पार्टी नहीं लिखा हुआ है। हमारे पास उन्होंने पीड़िता के रूप में एप्लीकेशन दिया है, जिसके आधार पर हमने एफआईआर दर्ज कर ली है। आगे हम विधिक कार्रवाई करेंगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe