Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजयूपी पुलिस ने जब्त की मुख़्तार अंसारी के करीबी हाजी की इमारत, ₹13 करोड़...

यूपी पुलिस ने जब्त की मुख़्तार अंसारी के करीबी हाजी की इमारत, ₹13 करोड़ का है ‘फातिमा कॉम्प्लेक्स’: ढोल बजा कर हुई कार्रवाई

प्रवर्तन निदेशालय (ED) गैंगस्टर मुख्तार अंसारी और उसके करीबी सहयोगियों से जुड़े परिसरों पर शिकंजा कसने के लिए छापेमारी कर रहा है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने मंगलवार (23 अगस्त 2022) को माफिया मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के करीबी हाजी मुख्तार का करोड़ों का कॉम्प्लेक्स कुर्क किया। ‘गैंगस्टर एक्ट’ के तहत यह कार्रवाई की गई। जहाँगीराबाद स्थित दो मंजिला फातिमा कॉम्प्लेक्स की कीमत करीब 12 करोड़ 96 लाख रुपए बताई जा रही है। एएसपी त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी की अगुवाई में पहुँची पुलिस और प्रशासन की टीम ने ढोल बजवाकर इसकी सूचना दी। उसके बाद कुर्की की कार्रवाई की गई।

एएसपी त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने बताया कि हाजी मुख्तार पर गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 ए के तहत संपत्ति कुर्क की कार्रवाई की गई है। हाजी मुख्तार ने यह संपत्ति अवैध रूप से अर्जित की थी। दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय (ED) गैंगस्टर मुख्तार अंसारी और उसके करीबी सहयोगियों से जुड़े परिसरों पर शिकंजा कसने के लिए छापेमारी कर रहा है। इसके तहत दिल्ली और उत्तर प्रदेश के लखनऊ, गाजीपुर और मऊ जिलों में छापेमारी की जा रही है।

बता दें कि 22 अगस्त को यूपी पुलिस ने मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ( Abbas Ansari) के लखनऊ स्थित घर पर छापेमारी की थी। लखनऊ पुलिस ने अब्बास अंसारी की गिरफ्तारी के लिए 8 टीमें बनाई हैं, जो देश भर में कई लोकेशन पर रेड मार रही हैं। 12 अक्टूबर 2019 को लखनऊ के महानगर थाने में अब्बास अंसारी के खिलाफ पुलिस की तरफ से एफआईआर दर्ज की गई थी। इसमें आरोप लगाया गया था कि मेट्रो सिटी निवासी अब्बास अंसारी ने 2012 में डीबीडीएल गन का लाइसेंस लिया था। मुख्तार अंसारी के बेटे पर आरोप है कि उसने शूटिंग के बहाने नियम के खिलाफ कई असलहे और कारतूस खरीदे थे।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि आरोपित ने लखनऊ पुलिस को बिना जानकारी दिए और अनुमति लिए धोखाधड़ी कर लाइसेंस को दिल्ली स्थानांतरित करवाया और उस पर कई हथियार लिए। जाँच-पड़ताल के दौरान लखनऊ पुलिस ने अब्बास अंसारी के आवास से 6 असलहे और अलग-अलग बोर के 4431 कारतूस बरामद किए थे। इसके बाद महानगर पुलिस ने थाने में आईपीसी की धारा 467, 468, 471, 420 और आर्म्स एक्ट की धारा 30 के तहत आरोप पत्र दाखिल किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

पूरी हुई 832 साल की प्रतीक्षा, राष्ट्र को PM मोदी ने समर्पित की नालंदा की विरासत: कहा- आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्धघाटन किया। नया परिसर नालंदा विश्वविद्यालय के प्राचीन खंडहरों के पास है

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -