Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाज'बच्चों को आगे कर पुलिस पर बरसाए पत्थर': प्रयागराज के दंगाई जावेद पंप को...

‘बच्चों को आगे कर पुलिस पर बरसाए पत्थर’: प्रयागराज के दंगाई जावेद पंप को कोर्ट ने 2 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा, कहा – थर्ड डिग्री न दें

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि पुलिस ने जो आवेदन दिया है वो स्वीकार करने योग्य है। दंगे के मुख्य आरोपित जावेद पंप को इस शर्त के साथ दो दिन की पुलिस कस्टडी दी जा रही है कि इस दौरान पुलिस कोई कठोर कदम नहीं उठाएगी।

नूपुर शर्मा के पैगंबर मुहम्मद को लेकर कथित बयान के विरोध में प्रयागराज में दंगा (Prayagraj Riots) फैलाने के मुख्य आरोपित जावेद अहमद उर्फ ​​जावेद पंप (Javed Ahmed Pump) को कोर्ट ने दो दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। पुलिस की माँग पर सुनवाई करते हुए अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अमित कुमार ने अभियोजन अधिकारी किसलय पांडेय, अविनाश सिंह की दलीलें के आधार पर पुलिस को ये आदेश दिया। हालाँकि, इस दौरान दंगाई जावंद पंप पर एक रहम दिखाते हुए कोर्ट ने पुलिस को किसी भी तरह की थर्ड डिग्री टॉर्चर नहीं करने को कहा है।

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि पुलिस ने जो आवेदन दिया है वो स्वीकार करने योग्य है। दंगे के मुख्य आरोपित जावेद पंप को इस शर्त के साथ दो दिन की पुलिस कस्टडी दी जा रही है कि इस दौरान पुलिस कोई कठोर कदम नहीं उठाएगी। मामले की सुनवाई के दौरान पुलिस ने अपनी अपील में कहा कि अभी भी मामले की जाँच की जा रही है और सबूतों का पता लगाने के लिए जावेद को हिरासत में लिया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि पैगंबर मुहम्मद के कथित अपमान के विरोध में 10 को जुमे के बाद प्रयागराज में इस्लामिक कट्टरपंथियों ने बड़े पैमाने पर हिंसा की थी। इसके बाद इसके मुख्य साजिशकर्ता जावेद को गिरफ्तार कर लिया गया था। ऐसी खबरें सामने आई थीं कि जावेद ने ही मुस्लिमों को उकसाया और उनके साथ मिलकर पुलिस और अधिकारियों पर पथराव करने के लिए बच्चों को आगे कर दिया। SSP प्रयागराज के अनुसार, जावेद अहमद की बेटी आफरीन फातिमा, जो कि जेएनयू की पूर्व स्टूडेंट है, वो भी इसमें शामिल है।

ये हिंसा प्रयागराज के करेली थाने के अटाला क्षेत्र में हुई थी। जहाँ जुमे की नमाज के बाद नूपुर शर्मा विरोध में निकाली गई रैली हिंसक हो गई, प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाने के बाद सुरक्षा बलों पर पथराव किया। विरोध प्रदर्शन के हिंसक होने के बाद रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) और प्रान्तीय सशस्त्र कॉन्स्टेबल (PAC) ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। सुरक्षाकर्मियों की लाख कोशिशों के बावजूद लगातार पथराव होता रहा। पथराव में भी प्रयागराज एडीजी की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई है।

जावेद का अवैध घर तोड़ा

12 जून, 2022 को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हिंसा के मामले के मुख्य साजिशकर्ता जावेद अहमद के अवैध घर को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया था। तोड़फोड़ के दौरान पुलिस ने जावेद के घर से अवैध असलहे भी बरामद हुए थे। उसके घर से पुलिस ने दो पिस्टल बरामद की थी। इसमें दो हथियार 12 बोर की पिस्टल और 315 बोर की पिस्टल हैं। इसके अलावा आरोपी ने अन्य कारतूस अपने घर में छिपा कर रखे थे। परिसर से हथियारों और बारूद के अलावा, विभिन्न आपत्तिजनक दस्तावेज और पोस्टर पाए गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -