अनुज से शादी के लिए शबाना बनी सरिता: लड़की के घर वालों ने दोनों की जिन्दा जलाने की दी धमकी

शाहपुर जदीद निवासी एक मुस्लिम महिला शबाना (बदला हुआ नाम) ने आर्य समाज मंदिर में अपना धर्म परिवर्तन करके अनुजपाल नामक हिंदू लड़के से शादी की थी। लेकिन हिंदू लड़के से विवाह, सरिता के घरवालों को गवारा न था। इसलिए वह नव-विवाहित दंपत्ति को जिंदा जलाने की धमकी देते थे।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में धर्मपरिवर्तन कर हिंदू लड़के से शादी करने पर एक मुस्लिम महिला पर और उसके पति पर हमला किया गया। जानकारी के मुताबिक महिला के परिजनों ने रविवार (दिसंबर 15,2019) की सुबह ससुराल पहुँचकर उन दोनों से मारपीट की और काफी तोड़फोड़ भी मचाई। इसके बाद पुलिस के पहुँचने से पहले वे फरार हो गए। इस मामले के संबंध में महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने 20 नामजद लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया। सरिता और अनुज के अनुसार रविवार की सुबह वे दवाई लेने के लिए घर से निकलने वाले थे। तभी सरिता के मायके पक्ष से 20 लोगों ने उनपर हमला बोला और लाठी-डंडो से उनसे मारपीट की गई। साथ ही उनपर पत्थर बरसाए गए।

गौरतलब है कि कुछ समय पहले 14 अप्रैल को शाहपुर जदीद निवासी एक मुस्लिम महिला शबाना (बदला हुआ नाम) ने आर्य समाज मंदिर में अपना धर्म परिवर्तन करके अनुजपाल नामक हिंदू लड़के से शादी की थी। लेकिन हिंदू लड़के से विवाह, सरिता के घरवालों को गवारा न था। इसलिए वह नव-विवाहित दंपत्ति को जिंदा जलाने की धमकी देते थे। घरवालों की धमकियों से तंग आकर सरिता ने 7 दिसंबर को एसएसपी दफ्तर पहुँचकर सुरक्षा के लिए की गुहार लगाई थी। जिसपर सुनवाई करते हुए उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने के लिए दौराला इंस्पेक्टर को निर्देश दिए गए थे। लेकिन उस समय सुरक्षा के नाम पर पुलिस उन्हें केवल ससुराल छोड़ आई। नतीजतन 9 दिन बाद ही उसपर हमले की खबर आ गई।

हिंदुस्तान में प्रकाशित खबर

जानकारी के मुताबिक, दौराला क्षेत्र के शाहपुर जदीद गाँव में रहने वाले आबिद अली की बेटी 14 अप्रैल को घर छोड़कर चली गई थी। इसके बाद परिजनों ने थाना दौराला में युवती की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। उधर, युवती का कहना था कि उसने 22 अप्रैल को गाँव के अनुजपाल से आर्य समाज मंदिर देवबंद में धर्म परिवर्तन कर शादी कर ली थी। इसके बाद युवती ने कोर्ट में पेश होकर अपने बयान भी दर्ज करा दिए थे। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने युवती को उसके पति के साथ भेज दिया, उसके बाद से ही दोनों एक किराए के मकान में रहने लगे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मामला तब पुलिस की चौखट पर पहुँचा जब युवती के परिजनों उन्हें मारने की धमकी देने लगे। युवती ने पुलिस को बताया कि वो बालिग है और अपने पति के साथ उसके गाँव में ही रहना चाहती है, लेकिन गाँव में घुसने पर उनकी जान को ख़तरा है। इस बात का भी पता चला है कि एक सप्ताह पहले युवती के परिजनों ने दोनों का अपहरण करने की भी कोशिश की थी। युवती ने एसपी क्राइम को अपनी शिक़ायत में बताया कि उनके अब्बू ने गाँव में अन्य लोगों के साथ मिलकर पंचायत की, जिसमें यह तय किया है कि अगर उन्होंने (दंपति) गाँव में पैर रखा तो उनकी हत्या कर दी जाएगी।

मुस्लिम महिला ने धर्म परिवर्तन कर मंदिर में की शादी, परिजन दे रहे हैं दम्पति को ज़िंदा जलाने की धमकी
शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शाहीन बाग़, शरजील इमाम
वे जितने ज्यादा जोर से 'इंकलाब ज़िंदाबाद' बोलेंगे, वामपंथी मीडिया उतना ही ज्यादा द्रवित होगा। कोई रवीश कुमार टीवी स्टूडियो में बैठ कर कहेगा- "क्या तिरंगा हाथ में लेकर राष्ट्रगान गाने वाले और संविधान का पाठ करने वाले देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य हो सकते हैं? नहीं न।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,546फैंसलाइक करें
36,423फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: