Monday, April 15, 2024
Homeदेश-समाजमहंत यति नरसिंहानंद का दावा उनकी हत्या के लिए आए 3 मुस्लिमों सहित 4...

महंत यति नरसिंहानंद का दावा उनकी हत्या के लिए आए 3 मुस्लिमों सहित 4 विदेशी गिरफ्तार, यूपी पुलिस ने नकारा

मंगलवार को महंत यति नरसिंहानंद एक ट्वीट में दावा किया कि बुलंदशहर पुलिस की सतर्कता के कारण, विदेशी राष्ट्रीयता के साथ एक व्यक्ति और 3 मुस्लिम पुरुषों को गिरफ्तार किया गया है। ये उनकी हत्या करने के लिए आए थे।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद की हत्या की कोशिश की गई है। उन्होंने मंगलवार (13 जुलाई 2021) को ट्विटर पर दावा किया कि उनकी हत्या करने के लिए 4 विदेशी आए थे, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसमें से 3 मुस्लिम भी शामिल थे।

मंगलवार (13 जुलाई 2021) को स्वामी यति नरसिंहानंद एक ट्वीट में दावा किया कि बुलंदशहर पुलिस की सतर्कता के कारण, विदेशी राष्ट्रीयता के साथ एक व्यक्ति और 3 मुस्लिम पुरुषों को गिरफ्तार किया गया है। ये उनकी हत्या करने के लिए आए थे। हालाँकि, इस मामले में बुलंदशहर पुलिस का कहना है कि जिन लोगों को हिरासत में लिया गया था उनका महंत यति से कोई संबंध नहीं था।

मामले में बुलंदशहर पुलिस ने स्पष्ट किया है कि तीन लोगों को हिरासत में लिया था। नियमित तौर पर इस केस की जाँच की गई है, लेकिन पूछताछ में यति नरसिंहानंद के समारोह से कोई संबंध स्थापित नहीं किया जा सका। पुलिस ने बताया है कि तीनों युवक कर्नाटक के बेंगलुरु के रहने वाले हैं और मुरादाबाद में इस्तेमाल हो चुकी कारों और यूपीएस बैटरी का काम करते हैं। तीनों युवक मुरादाबाद से अलीगढ़-आगरा होते हुए बेंगलुरु जा रहे थे। हालाँकि, रास्ता भटककर तीनों बुलंदशहर के रास्ते उस जगह पहुँच गए, जहाँ पर डासना देवी महंत यति नरसिंहानंद का कार्यक्रम चल रहा था।

अभी तक तो पुलिस को युवकों के पास से किसी भी तरीके की संदिग्ध सामग्री नहीं मिली है, लेकिन पुलिस इसकी आगे की जाँच कर रही है।

हालाँकि, इससे पहले कई बार स्वामी यति नरसिंहानंद की हत्य़ा की कोशिश की गई थी। 17 मई 2021 को दिल्ली पुलिस ने पहाड़गंज के एक होटल से जान मोहम्मद डार नाम के आतंकी को गिरफ्तार किया था। उसके पास से भगवा कपड़ा बरामद किया गया था। कश्मीर के रहने वाले डार को यति नरसिंहानंद की हत्या की सुपारी मिली थी। उसे हथियार चलाने की ट्रेनिंग भी दी गई थी। उसे आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के एक सरगना ने भेजा था।

इसी प्रकार बुधवार (जून 2, 2021) को दो संदिग्ध युवक डासना देवी मंदिर परिसर में घुसे थे। सेवादारों को जब शक हुआ तो उन्होंने इन दोनों की तलाशी ली। इनके पास से तीन सर्जिकल ब्लेड व कुछ आपत्तिजनक दवाएँ बरामद की गई। महंत के अनुयायियों के मुताबिक वह ‘सायनाइड’ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पत्रकार ने कन्हैया कुमार से पूछा सवाल, समर्थक ने PM मोदी की माँ को दी गाली… कॉन्ग्रेस नेता ने हँसते हुए कहा- अभिधा और...

कॉन्ग्रेस प्रत्याशी कन्हैया कुमार की चुनाव प्रचार की रैली में उनके समर्थकों ने समर्थक पीएम मोदी को गाली माँ की गाली दी है।

EVM का सोर्स कोड सार्वजनिक करने को लेकर प्रलाप कर रहे प्रशांत भूषण, सुप्रीम कोर्ट पहले ही ठुकरा चुका है माँग, कहा था- इससे...

प्रशांत भूषण ने यह झूठ भी बोला कि चुनाव आयोग EVM-VVPAT पर्चियों की गिनती करने को तैयार नहीं है। इसको लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe