Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजउत्तराखंड पुलिस से जुड़ा ‘महिला कमांडो’ दस्ता, CM रावत ने कहा- बेटियों को आत्मरक्षा...

उत्तराखंड पुलिस से जुड़ा ‘महिला कमांडो’ दस्ता, CM रावत ने कहा- बेटियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण देने के लिए चलाएँगे कार्यक्रम

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड महिला कमांडो दस्ता तैयार करने वाला देश का चौथा राज्य है। प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं और युवतियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

उत्तराखंड देश का चौथा ऐसा राज्य बन गया है जिसने पुलिस विभाग में महिला कमांडो को शामिल किया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार (24 फरवरी 2021) को महिला कमांडो फ़ोर्स (women commando force) और स्मार्ट चीता फ़ोर्स (smart cheetah) को लॉन्च किया। बुधवार को कठिन प्रशिक्षण के बाद कुल 22 महिला कमांडो राज्य के आतंकवादी रोधी दस्ते (एटीएस) गुलदार में शामिल हो गईं।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कमांडो प्रशिक्षक शिफू शौर्य भारद्वाज, सेना अधिकारी रुबीना कोर्की, पीटीसी नरेन्द्र नागर, प्रशिक्षक हितेश कुमार, कमांडो इन्स्पेक्टर नीरज कुमार और प्रशिक्षित महिला पुलिस कमांडो को सम्मानित भी किया। 

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा, “आज महिला कमांडो को प्रदेश पुलिस का हिस्सा बनाया गया है। उत्तराखंड देश का चौथा ऐसा राज्य होगा जहाँ पुलिस विभाग में महिला कमांडो शामिल की जा रही हैं। इसके पहले उनका प्रशिक्षण भी किया गया है।”

गौरतलब है कि उत्तराखंड से पहले नागालैंड, केरल और पश्चिम बंगाल में महिला कमांडो दस्ते पुलिस में शामिल किए जा चुके हैं। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि महिला पुलिस कमांडो दस्ते तथा चीता पुलिस दल के गठन से राज्य की महिलाओं में पुलिस के प्रति विश्वास एवं मनोबल बढ़ेगा। उन्होंने कहा, “वह अपनी परेशानियों को महिला पुलिस से साझा कर सकेंगी जिससे महिला अपराधों को नियंत्रित किया जा सकेगा।”

मुख्यमंत्री के मुताबिक़, “स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं आत्मरक्षा की तकनीक सिखाना बहुत ज़रूरी है। बेटियों को प्रेरणा देना ज़रूरी है, यह समाज की ज़रूरत है। उन्हें आत्मरक्षा की मूलभूत जानकारी होनी चाहिए। हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में बेटियों को आत्मरक्षा के लिहाज़ से प्रशिक्षित करना चाहिए।” देहरादून पुलिस लाइन की 22 महिला कमांडो को प्रशिक्षण दिया गया और उन्होंने कार्यक्रम के दौरान इसका प्रदर्शन भी किया।  

इसके बाद मुख्यमंत्री ने चमोली जिले में आई आपदा के दौरान शहीद हुए दो पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की। इस मौके पर विधायक विनोद चमोली, महिला आयोग (women commission) की मुखिया विजया बर्थलवाल, मुख्यमंत्री के सेवानिवृत्त सेना सुरक्षा सलाहकार जेएस नेगी, गृह सचिव नितेश झा, डीजीपी अशोक कुमार समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।   

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के जलसे में भारत के वामपंथियों की ता थैया, पीछे-पीछे कॉन्ग्रेसी भी कह सकते हैं- हम भी आ गए भैया!

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के साथ समझौता करने वाली कॉन्ग्रेस, वामपंथियों की कला सीख चीनी दूतावास के समारोहों में खुलेआम दिखाई दे तो चौंकिएगा मत।

जान बचानी है तो TMC ज्वाइन करो: जिस रितु से हुआ गैंगरेप उसे धमकी, ऑपइंडिया से कहा- हिंदू होना, BJP को वोट देना गुनाह

रितु ने हमें बताया कि उसे धमकी भरे फोन भी आए हैं कि अगर उसने पुलिस के पास जाने की कोशिश की तो पुलिस भी उसके साथ बलात्कार करेगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,836FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe