Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजजिनके पूर्वज हिंदू उनकी घर वापसी के लिए VHP ने अभियान का किया ऐलान,...

जिनके पूर्वज हिंदू उनकी घर वापसी के लिए VHP ने अभियान का किया ऐलान, लव जिहाद-धर्मांतरण के खिलाफ लड़ाई में 5 लाख लोग जोड़े जाएँगे

विश्व हिंदू परिषद ने धर्मांतरण को रोकने के लिए संगठन के कार्य घर-घर तक पहुँचाने का भी निर्णय लिया। उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि हिंदू आस्था पर कुठाराघात की घटनाएँ लगातार बढ़ रही हैं।

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने ऐसे लोगों की घर वापसी के लिए अभियान चलाने का ऐलान किया है, जिनके पूर्वज हिंदू था। संगमनगरी प्रयागराज में पिछले दिनों हुए दो दिवसीय बैठक में इसका फैसला किया गया। बैठक में तय हुआ ऐसे लोग जो हिंदू धर्म छोड़कर गए हैं, उनसे संपर्क कर मूल धर्म के प्रति उनकी आस्था जागृत की जाएगी। उनकी घर वापसी के लिए अभियान चलाया जाएगा।

बैठक में विश्व हिंदू परिषद ने धर्मांतरण को रोकने के लिए संगठन के कार्य घर-घर तक पहुँचाने का भी निर्णय लिया। विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि हिंदू आस्था पर कुठाराघात की घटनाएँ लगातार बढ़ रही हैं। इस वजह से अब काशी प्रांत के सभी 19 जिलों में हित चिंतक अभियान चलाकर पाँच लाख लोगों को संगठन से जोड़ा जाएगा। संगठन का यह अभियान 6 नवंबर से 20 नवंबर तक चलेगा।

बैठक में धर्मांतरण के साथ ही लव जिहाद पर भी चर्चा हुई। इस दौरान चंपत राय ने कहा कि विहिप हिंदुओं को जोड़ने का लगातार प्रयास कर रहा है। हिंदुओं पर लगातार हमले हो रहे हैं। लव जिहाद की घटनाएँ बढ़ी हैं और धर्मांतरण के लिए लगातार प्रलोभन दिया जा रहा है। चंपत राय ने कहा कि इसे रोकने के लिए हमें आगे आना होगा।

गौरतलब है कि विश्व हिंदू परिषद की ये दो दिवसीय बैठक प्रयागराज के सहसों के आरडी कॉलेज में 23 और 24 जुलाई को आयोजित की गई थी। इस बैठक में चंपत राय ने संगठन के अन्य कार्यक्रमों के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि संगठन के 60 वर्ष पूर्ण होने वाले हैं। इस उपलक्ष्य में विहिप की ओर से कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे।

उन्होंने बताया कि राष्ट्र को अखंड बनाने के लिए 12 से 16 अगस्त तक संगठन की स्थापना दिवस के कार्यक्रम होंगे। 17 से 24 अगस्त तक काशी प्रांत की प्रत्येक बस्ती खंड में तमाम होंगे। इसके अलावा दुर्गा अष्टमी, गीता जयंती आदि कार्यक्रम भी संगठन की ओर से आयोजित किए जाएँगे। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -