Monday, May 16, 2022
Homeदेश-समाजआंध्र प्रदेश के राम मंदिर में ईसाई प्रार्थना, BJP नेताओं ने शेयर किया वायरल...

आंध्र प्रदेश के राम मंदिर में ईसाई प्रार्थना, BJP नेताओं ने शेयर किया वायरल वीडियो… पुलिस ने दी जानकारी, ‘अवैध कब्जा’ से इनकार

बीजेपी के आंध्र प्रदेश प्रभारी सुनील देवधर ने वीडियो शेयर कर लिखा: "यह बर्दाश्त नहीं। गंगावरम स्थित राम मंदिर को गैर-कानूनी ढंग से एक पादरी ने कब्जा लिया और अंदर ईसाई प्रार्थना कर रहे। सभी अपराधी तुरंत गिरफ्तार किए जाएँ।"

आंध्र प्रदेश में ईसाई मिशनरियों ने एक हिंदू मंदिर पर कब्जा कर लिया है – एक वीडियो शेयर करके यह आरोप भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने लगाया। ये घटना राज्य के गंगावरम स्थित राम मंदिर की बताई जा रही है। भाजपा नेताओं के आरोप के अनुसार एक पादरी ने मंदिर के अंदर ईसाई प्रार्थना सभा आयोजित की। शुक्रवार (31 मार्च 2022) को इससे संबंधित वीडियो वायरल हुआ।

बीजेपी के आंध्र प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर ने भी यह वीडियो शेयर किया है। ट्वीट में वीडियो को लेकर उन्होंने लिखा: “यह बर्दाश्त नहीं। मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के धर्मांतरण एजेंडा को चर्च आगे बढ़ा रहा है। गंगावरम स्थित राम मंदिर को गैर-कानूनी ढंग से एक पादरी ने कब्जा लिया और अंदर ईसाई प्रार्थना कर रहे। सभी अपराधी तुरंत गिरफ्तार किए जाएँ।”

सुनील देवधर द्वारा शेयर किए गए वीडियो में आप देख सकते हैं कि जहाँ प्रार्थना चल रही है, उसके पीछे एक मंदिर है। मंदिर के गेट पर ताला लगा हुआ है।

आंध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी पर बीजेपी नेता ने धर्मान्तरण के एजेंडे को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। उन्होंने चर्च पर अपनी सीमा रेखा को क्रॉस कर अवैध तरीके से राम मंदिर पर कब्जा करने और हिंदू मंदिर के अंदर ईसाई रीति-रिवाजों का पालन करने का आरोप भी लगाया। बीजेपी नेता ने मंदिर के अंदर घुसने वाले सभी दोषियों के खिलाफ तत्काल गिरफ्तारी की माँग की है।

इसी घटना के वीडियो को शेयर करते हुए भाजपा के सीनियर लीडर विष्णु वर्धन रेड्डी ने तंज कसा और कहा कि आंध्र प्रदेश में हिंदुओं के लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने दावा किया कि एक ईसाई पादरी ने गंगावरम में राम मंदिर पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया और मंदिर के अंदर ईसाई प्रार्थना की।

इसके लिए दोषी सभी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग करते हुए उन्होंने कहा कि वाईएसआर-कॉन्ग्रेस सरकार की तुष्टीकरण की राजनीति के कारण ऐसा हो रहा है।

आंध्र प्रदेश पुलिस ने दी सही जानकारी

आंध्र प्रदेश की पूर्वी गोदावरी पुलिस ने भाजपा नेताओं के द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो को लेकर सही जानकारी दी है। पुलिस ने बताया कि पादरी ने राम मंदिर पर “अवैध रूप से कब्जा” नहीं किया है।

पूर्वी गोदावरी के पुलिस अधीक्षक एम रवींद्रनाथ बाबू ने कहा कि प्रार्थना सभा आयोजित करने वाली महिला और उसके बेटे के बीच पारिवारिक विवाद है। इसे ही सांप्रदायिक रंग दे दिया गया। पुलिस के अनुसार कड़ा मंगयम्मा नाम की महिला ने अपने घर के सामने सड़क पर ईसाई प्रार्थना सभा आयोजित की। उसके घर और सड़क से सटे ही राम मंदिर है, जिसे वायरल वीडियो में देखा जा सकता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe