Friday, July 23, 2021
Homeदेश-समाजएनकाउंटर के डर से विकास दुबे का साथी गले में तख्ती लटकाकर UP पुलिस...

एनकाउंटर के डर से विकास दुबे का साथी गले में तख्ती लटकाकर UP पुलिस के सामने हुआ दंडवत, कहा- मुझ पर रहम करो

उमाकांत उन 21 वांछित अपराधियों में शुमार था, जिनकी यूपी पुलिस बिकरू हत्याकांड के बाद से तलाश कर रही थी। महीने भर से ज्यादा की फरारी काटने के बाद उमाकांत ने आखिरकार सरेंडर कर दिया। उसे एनकाउंटर का खौफ इस कदर था कि वह अपने परिवार के साथ थाने पहुँचा और दंडवत लेट गया।

कानपुर में दबिश देने गए पुलिसकर्मियों की निर्मम हत्या करने वाले खूँखार अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उसके साथी उमाकांत को भी पुलिस की कार्रवाई का डर सता रहा था। जिस वजह से आज (8 अगस्त, 2020) उसने खुद सरेंडर कर दिया। उमाकांत के सर पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था। नाटकीय अंदाज में हुए इस सरेंडर में उमाकांत के साथ उसके बच्चे और पत्नी भी थी।

फोटो साभार: अमर उजाला

उमाकांत उन 21 वांछित अपराधियों में शुमार था, जिनकी यूपी पुलिस बिकरू हत्याकांड के बाद से तलाश कर रही थी। महीने भर से ज्यादा की फरारी काटने के बाद उमाकांत ने आखिरकार सरेंडर कर दिया। उसे एनकाउंटर का खौफ इस कदर था कि वह अपने परिवार के साथ थाने पहुँचा और दंडवत लेट गया।

इस दौरान उमाकांत शुक्ला ने गले में तख्ती लटकाई थी। जिसमें खुद के विकास दुबे का साथी होने और कानपुर कांड के बाद आत्मग्लानि की बात कही गई थी। तख्ती लटकाएँ हुए उमाकांत शुक्ला ने पुलिस से रहम की भीख माँगते हुए कहा कि मैं सरेंडर करने आया हूँ।

उमाकांत शुक्ला ने पुलिस से कहा मेरा नाम उमाकांत शुक्ला उर्फ गुड्डन है। कानपुर कांड में मैं विकास दुबे के साथ शामिल था। मुझे पकड़ने के लिए रोज पुलिस छापेमारी कर रही है, जिससे मैं बहुत डरा हुआ हूँ। हम लोगों द्वारा जो घटना की गई थी, उसकी हमें बहुत आत्मग्लानि है। मैं खुद पुलिस के सामने हाजिर हो रहा हूँ। मेरी जान की रक्षा की जाए, मुझ पर रहम किया जाए।

बता दें उमाकांत भी 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोप में नामजद किया गया था। आत्मसमर्पण के दौरान उमाकांत शुक्ला की बेटी ने पुलिस से हाथ जोड़कर गुजारिश की कि उसके पापा सरेंडर करने आए हैं, पुलिस उस पर रहम करे।

फोटो साभार: अमर उजाला

विकास दुबे के गाँव बिकरू में 2-3 जुलाई की दरम्यानी रात को 8 पुलिसकर्मियों की नृशंस हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में विकास दुबे समेत उसके कई साथी शामिल थे। पुलिस ने हत्याकांड के बाद 21 वांछितों के पोस्टर जारी किए थे। उनमें से उमाकांत भी एक था। हत्याकांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे समेत 6 लोगों को पुलिस एनकाउंटर के दौरान मौत के घाट उतार चुकी है।

गौरतलब है कि विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उससे संबंधित कई वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। गैंगस्टर विकास दुबे के राइट हैंड कहे जाने वाले अमर दुबे की 29 जून को हुई शादी का एक वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में चौकी इंचार्ज केके शर्मा भी दिखाई दिए थे। यह केके शर्मा वहीं दारोगा थे जिसे विकास दुबे के लिए मुखबिरी के शक मे निलंबित कर दिया गया है।

वीडियो में दरोगा वर वधू को आशीर्वाद देते हुए नजर आए थे। उसी दौरान विकास दुबे दरोगा केके शर्मा से कह रहा था कि डरो नहीं पास आओ। वहीं विकास दुबे एक नवविवाहिता के साथ फोटो खिंचवाता दिख रहा है, जिसमें नवविवाहिता उसे मामा कहते हुए संबोधित करती है। और कहती है कि उसके साथ एक फोटो खिंचवा लो। जिस पर विकास दुबे जवाब देता है कि, वो बैठकर नहीं, खड़े होकर ही फोटो खिंचवाता है। यह वीडियो विकास के गुर्गे अमर दुबे और खुशी की शादी का है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

जिस भास्कर में स्टाफ मर्जी से ‘सूसू-पॉटी’ नहीं कर सकते, वहाँ ‘पाठकों की मर्जी’ कॉर्पोरेट शब्दों की चाशनी है बस

"भास्कर में चलेगी पाठकों की मर्जी" - इस वाक्य में ईमानदारी नहीं है। पाठक निरीह है, शब्दों का अफीम देकर उसे मानसिक तौर पर निर्जीव मत बनाइए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,862FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe